top menutop menutop menu

Coronavirus: कोरोना के उपचार के लिए सभी जिलों में नोडल अस्पताल तैयार करेगी बंगाल सरकार: ममता

कोलकाता, राज्य ब्यूरो। Coronavirus: कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बड़ा फैसला लेते हुए सोमवार को राज्य के सभी 22 जिलों में कोरोना के उपचार के लिए 22 नोडल अस्पताल बनाने की घोषणा की। इनमें कई प्राइवेट अस्पताल भी होंगे जिन्हें राज्य सरकार टेकओवर करेगी। उसका मानव संसाधन से लेकर सभी प्रकार का खर्च व व्यवस्था राज्य सरकार ही करेगी। इसके अलावा ममता ने घोषणा की कि सभी 22 जिलों में 22 नोडल ऑफिसर भी नियुक्त किए जाएंगे जो कोरोना को लेकर सारा देखरेख व राज्य सरकार के साथ समन्वय आदि का काम देखेंगे। इस दिन राज्य सचिवालय नवान्न में कोरोना से निपटने की तैयारियों को लेकर ममता ने सभी जिला प्रशासन व जिलों के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओएच) के साथ समीक्षा बैठक की, जिसमें कई बड़े फैसले लिए गए।

ममता ने कहा कि आगामी दो सप्ताह बहुत ही कठिन (इमरजेंसी) का समय है। इस दौरान कोई भी हाथ पर हाथ धरकर बैठे यह नहीं चलेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना के उपचार के लिए सभी 22 जिलों में 22 नोडल अस्पताल तुरंत तैयार किया जाएगा। इसमें विभिन्न जिलों में कई प्राइवेट अस्पताल भी होंगे, जिसे राज्य सरकार टेकओवर करके कोरोना मरीजों के इलाज के अनुरूप पूरी व्यवस्था करेगी। इसमें बेड, चिकित्सा उपकरण, डॉक्टर और नर्स से लेकर सभी व्यवस्था राज्य सरकार करेगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि 22 जिले में 22 नोडल अधिकारी भी नियुक्त किए जाएंगे, जो पूरी व्यवस्था की देखरेख से लेकर सेंट्रलाइज्ड स्तर पर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य सचिव आदि के साथ समन्वय करेंगे।

बीमा कवर को पांच लाख से बढ़ाकर 10 लाख रुपये करने की घोषणा

इसके अलावा मुख्यमंत्री ने कोरोना से निपटने के काम में लगे डॉक्टरों, नर्सों, पैरामेडिकल स्टाफ, आशा कार्यकर्ताओं, पुलिसकर्मियों, स्वच्छता कर्मचारियों सहित इस काम में जुटे सरकारी व निजी सभी कर्मियों के लिए बीमा कवर को पांच लाख से बढ़ाकर 10 लाख रुपये करने की घोषणा की। 10 लाख से ज्यादा लोग इस बीमा के दायरे में होंगे। बैठक के दौरान चिकित्सा अधिकारियों व अन्य की ओर से कोरोना को लेकर दिए गए किसी भी प्रकार के सुझाव व मांग पर ममता ने तुरंत अमल में करने का निर्देश दिया।

कोई भी भूख से नहीं मरे, डीएम- एसपी को निर्देश

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोरोना को लेकर देशव्यापी लॉकडाउन को देखते हुए कोई भी व्यक्ति राज्य में भूख से नहीं मरे इसके लिए सभी डीएम व एसपी को विशेष निर्देश दिया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि लॉकडाउन के दौरान बाहर से कोई भी व्यक्ति बंगाल में प्रवेश नहीं करें। इसके लिए उन्होंने पुलिस- प्रशासन को विशेष नजर रखने का निर्देश दिया। समीक्षा बैठक के दौरान मुख्य सचिव राजीव सिन्हा, स्वास्थ्य सचिव विवेक कुमार, राज्य के डीजीपी वीरेंद्र, कोलकाता के पुलिस कमिश्नर अनुज शर्मा सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण मौजूद रहे।

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में रविवार देर रात एक और कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हो गई। इस प्रकार मृतकों की संख्या बढ़कर दो हो गई है। इससे पहले गत सोमवार को पहले कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हुई थी। वहीं दूसरी ओर, राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 22 हो गई है। हालांकि इनमें शुरुआती तीन मरीजों की हालत में सुधार है।

बंगाल की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.