top menutop menutop menu

जम्मू-कश्मीर में पर्यटन के विकास पर खर्च होंगे 2,000 करोड़ रुपये

राज्य ब्यूरो, कोलकाता : जम्मू और कश्मीर सरकार केंद्र के साथ समन्वय में केंद्रशासित प्रदेश में पर्यटकों के लिए बुनियादी ढाचे के उन्नयन के लिए 2,000 करोड़ रुपये खर्च करेगी। पिछले साल लगभग एक करोड़ लोगों ने यहां यात्रा की थी। कोलकाता में सोमवार को निवेश आमंत्रित करने के लिए आयोजित रोड शो के दौरान पर्यटन सचिव जुबैर अहमद ने कहा कि सरकार पर भी जम्मू और कश्मीर में निवेश से संबंधित कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार मुख्य रूप से सुरक्षा पहलुओं पर ध्यान केंद्रित कर रही है। जम्मू-कश्मीर को शीर्ष पर्यटन स्थलों के रूप में देखना चाहती है। वर्ष 2020 में पर्यटकों का आकड़ा निश्चित रूप से एक करोड़ के पार होगा। इस मौके पर आयुक्त सचिव, स्कूल शिक्षा, हिरदेश कुमार ने कहा कि जम्मू-कश्मीर ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट का आयोजन किया जाएगा। शिखर सम्मेलन मई में आयोजित किया जाएगा। सरकार को पहले ही 20,000 करोड़ रुपये के निवेश के प्रस्ताव मिले हैं। जम्मू और कश्मीर में वातावरण सुरक्षित है और केवल एक चीज की जरूरत है कि इस संदेश को पूरे देश में फैलाया जाए। हम निवेशकों और पर्यटकों के मन में किसी भी तरह के संदेह को दूर करने की कोशिश कर रहे हैं। हालाकि अतीत में कुछ गड़बड़ी हुई हो लेकिन अब किसी भी व्यापारी या उद्योगपति को परेशान करने की एक भी घटना नहीं घटी है। पहले लोग जाने से हिचकिचाते थे। लेकिन अब परिदृश्य बदल गया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.