विश्वभारती के वीसी के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराने वाले प्रोफेसर को एक और कारण बताओ नोटिस

West Bengal News विवाद-मीडिया में बयान देने के मामले में पहले भी किया गया था शोकॉज। जवाब नहीं मिलने पर दूसरा नोटिस दिया गया है। प्रोफेसर पर ही लग रहे हैं वीसी से अभद्र व्यवहार करने के आऱोप!

Vijay KumarTue, 15 Jun 2021 05:26 PM (IST)
नोटिस में पूछा-कुलपति के खिलाफ चल रहे मामले के बारे में मीडिया में बयान कैसे दे सकते हैं।

 राज्य ब्यूरो, कोलकाताः विश्वभारती विश्वविद्यालय ने कुलपति (वीसी) के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराने वाले एक प्रोफेसर को एक और कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इससे पहले भी कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था जिसका जवाब नहीं मिलने पर दूसरा नोटिस दिया गया है। इस नोटिस में भी पूछा गया है कि वह कुलपति के खिलाफ चल रहे मामले के बारे में मीडिया में बयान कैसे दे सकते हैं।

12 जून को एक प्राथमिकी दर्ज कराई थी

भौतिकी विभाग के प्रोफेसर मानस माइती ने कुलपति बिद्युत चक्रवर्ती के खिलाफ शांतिनिकेतन पुलिस थाने में 12 जून को एक प्राथमिकी दर्ज कराई थी जिसके अनुसार कुलपति ने बैठक में माइती और कुछ अन्य संकाय सदस्यों के विरुद्ध अप्रिय शब्दों का प्रयोग करते हुए उन्हें कथित तौर पर अपमानित किया था।

टिप्पणी विश्वभारती की बदनामी करने वाली

इसके बाद विश्वविद्यालय ने 13 जून शोकॉज नोटिस जारी कर माइती से पूछा कि वह कुलपति के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराने के बारे में बयान कैसे दे सकते हैं। विश्वविद्यालय की ओर से कहा गया कि संबंधित व्यक्ति द्वारा की गई टिप्पणी विश्वभारती की बदनामी करने वाली है। विश्वविद्यालय के एक सूत्र ने बताया कि माइती ने जब जवाब नहीं दिया तो फिर उनको नोटिस जारी किया गया है।

ज्यादातर शिक्षक उनके आचरण से नाराज

सूत्र ने कहा कि एक वामपंथी संगठन से जुड़े कुछ लोग कुलपति की छवि खराब करने के लिए काम कर रहे हैं। वे विश्वभारती के हितों के विरुद्ध काम कर रहे हैं और मीडिया का सहारा लेकर केवल विवाद उत्पन्न करने में लगे हैं। ज्यादातर शिक्षक उनके आचरण से नाराज हैं और अकादमिक गतिविधियां जारी रखना चाहते हैं। लेकिन यह शिक्षक खुलकर नहीं बोल रहे हैं।

इसलिये माइती को कारण बताओ नोटिस

हम वाम संगठन के इस प्रयास को नाकाम कर देंगे। विश्वभारती विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने माइती को कारण बताओ नोटिस जारी कर कुलपति के प्रति अनुचित व्यवहार करने और डिजिटल माध्यम से आयोजित बैठक के दौरान उनके निर्देशों का पालन नहीं करने का आरोप लगाया था।

कुलपति के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई

विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने नोटिस में दावा किया था कि आठ जून को हुई बैठक के दौरान प्रोफेसर माइती से किसी विषय पर प्रश्न पूछे जाने पर उन्होंने कुलपति के लिए अभद्र शब्दों का प्रयोग किया। इस बीच जादवपुर विश्वविद्यालय शिक्षक संघ ने सोमवार को आरोप लगाया कि विश्वभारती विश्वविद्यालय के अधिकारी माइती के विरुद्ध प्रतिशोधात्म्क रवैया अपना रहे हैं क्योंकि उन्होंने कुलपति के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.