West Bengal : बेहतर कार्य के लिए पूर्व रेलवे आरपीएफ के 15 कर्मचारियों को मिला डीजी प्रशस्ति पत्र

कोलकाता आरपीएफ के महानिदेशक अरुण कुमार आइपीएस
Publish Date:Tue, 22 Sep 2020 01:27 PM (IST) Author: Preeti jha

कोलकाता, राज्य ब्यूरो। रेलवे संपत्ति और यात्री सुरक्षा में बेहतर कार्य करने के लिए आरपीएफ के महानिदेशक अरुण कुमार (आइपीएस) ने पूर्व रेलवे के 15 आरपीएफ अधिकारियों और कर्मचारियों को सम्मानित किया है। डीजी द्वारा जारी प्रशस्ति पत्र और प्रतीक चिन्ह को पूर्व रेलवे आरपीएफ के आइजी ने उक्त कर्मचारियों को सौंपा।

प्रत्येक वर्ष भारतीय रेलवे के सभी जोनों और कारखानों में तैनात आरपीएफ के उन अधिकारियों और कर्मचारियों का डीजी प्रशस्ति पत्र के लिए चयन किया जाता है, जिन्होंने डयूटी के दौरान उत्कृष्ट कार्य किए हों। उन्हेंं आरपीएफ के महानिदेशक (डीजी) की ओर से सम्मानित किया जाता है।

इस वर्ष पूर्व रेलवे के कोलकाता स्थित मुख्यालय में तैनात 5 कर्मियों, हावडा डिवीजन में तैनात सब इंस्पेक्टर प्रशांत कुमार समेत 5 कर्मियों, आसनसोल डिवीजन के 3 और चित्तरंजन रेल कारखाना और मेट्रो रेलवे के एक- एक आरपीएफ अधिकारियों और कर्मचारियों का चयन किया गया। इनमें 2 एसआइ, 4 एएसआइ और 9 हैड कांस्टेबल शामिल हैं।

आरपीएफ के स्था्पना दिवस के अवसर पर सोमवार को लिलुआ वर्कशॉप में आयोजित कार्यक्रम में पूर्व रेलवे आरपीएफ के आइजी/प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त अंबिका नाथ मिश्रा ने उक्त कर्मचारियों को डीजी की तरफ से प्रतीक चिन्ह और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इससे पूर्व आइजी ने झंडारोहण के साथ परेड की सलामी ली।

इस अवसर पर रंगारंग कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया। खास बात यह रही की समारोह के दौरान कोविड-19 के लिए जारी गाइडलाइन का पालन किया गया। अधिकारियों से लेकर कर्मचारियों ने मास्क लगाने के साथ ही शारीरिक दूरी भी बनाई रखी। इस मौके पर डीआइजी आरपीएफ अजय सदानी, डिप्टीे सीएससी विनोद कुमार, सीनियर डीएससी (हावडा) रजनीश कुमार त्रिपाठी, सीनियर डीएससी (सियालदह) इब्राहिम शरीफ, डीएससी आलोक राज समेत अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.