Bengal Assembly Election 2021: इलेक्शन एक्सप्रेस- आजीमगंज टू जंगीपुर रोड रेलवे स्टेशन, सियासी चर्चा में आसानी से कट रहा हर सफर

ट्रेन में सफर कर रहे यात्रियों का चुनावी मिजाज

West Bengal Assembly Election 2021 ट्रेन में सफर कर रहे यात्रियों का चुनावी मिजाज जानने के लिए हम भी साथ चल पड़ते हैं। अजीमगंज स्टेशन से ट्रेन खुलते ही बोगी में बैठे यात्री एक-दूसरे से बातचीत शुरू करते हैं। बातों-बातों में माहौल के अनुरूप चुनावी चर्चा शुरू हो जाती है।

Priti JhaThu, 08 Apr 2021 09:56 AM (IST)

मुर्शिदाबाद, रोहित कुमार।  स्थान-आजीमगंज रेलवे स्टेशन। दिन-बुधवार। सुबह के 8:40 बजे हैं। अजीमगंज-बरहड़वा पैसेंजर ट्रेन खुलनेवाली है। अधिकतर यात्री अपनी जगह पर बैठ चुके हैं। ध्वनि विस्तारक यंत्र से ट्रेन के खुलने की उद्घोषणा होती है। इसके साथ ही ट्रेन सीटी देती है और अपने गंतव्य की ओर चल पड़ती है। यह ट्रेन यहीं से खुलती है। इस कारण अभी यात्रियों की संख्या काफी कम है। ट्रेन में सफर कर रहे यात्रियों का चुनावी मिजाज जानने के लिए हम भी साथ चल पड़ते हैं। अजीमगंज स्टेशन से ट्रेन खुलते ही बोगी में बैठे यात्री एक-दूसरे से बातचीत शुरू करते हैं। बातों-बातों में माहौल के अनुरूप चुनावी चर्चा शुरू हो जाती है। 

इस ट्रेन से जंगीपुर रोड स्टेशन जा रहे यात्री बदरुद्दीन कहते हैं इस बार का चुनाव लंबा खिंच रहा है। काफी कुरेदने पर भी वे चुनाव में किसकी हवा चल रही है यह बताने को तैयार नहीं हैं। कहते हैं अपना एक वोट है, पसंद के उम्मीदवार को डाल देंगे। उनके बगल में बैठे कपड़ा व्यवसायी बहरामपुर निवासी सुमित विश्वास कहते हैं इस बार तो दीदी व दादा की लड़ाई में सारा मुद्दा ही गौण हो गया है। कोई भी नेता विकास की बात नहीं करता। गरीबी कैसे मिटेगी, लोगों को बेहतर सुविधा कैसे मिलेगी चुनाव में यह बात होनी चाहिए जो कहीं देखने को नहीं मिल रही। इसी डब्बे में बैठी गृहणी नंदिता ने पूछने पर कहा कि चुनाव में महिला सुरक्षा की बात होनी चाहिए। बंगाल में भी महिलाओं के खिलाफ काफी अपराध बढ़ा है जबकि यहां की मुख्यमंत्री खुद महिला हैं। कल ही चुनाव के दौरान टीवी चैनलों पर एक महिला प्रत्याशी को पीटते दिखाया गया जो बंगाल को शर्मसार करता है। 

करीब नौ बजे ट्रेन महिपाल स्टेशन पहुंचती है। यहां कुछ यात्री चढ़ते हैं तो कुछ उतरते भी हैं। इस वजह से चुनावी चर्चा कुछ देर के लिए थम जाती है। पुन: ट्रेन के रफ्तार पकडऩे पर चर्चा शुरू हो जाती है। इस ट्रेन से झारखंड के बरहड़वा जा रहे व्यवसायी संजय विश्वास ने कहा कि इस बार का बंगाल चुनाव पिछले सभी चुनावों से अलग है। इस चुनाव में पहली बार भाजपा ने दीदी के खिलाफ अपनी पूरी ताकत झोंकी है। अब देखना दिलचस्प होगा कि भाजपा यहां कितना बदलाव ला सकती है। इशारो में उन्होंने कहा कि मुर्शीदाबाद जिले में भाजपा को काफी मेहनत करनी होगी। बातों बातों में समय कैसे निकल गया पता ही नहीं चला। 9.48 बजे ट्रेन जंगीपुर रोड रेलवे स्टेशन पहुंचती है और हमारा चुनावी सफर यहीं समाप्त हो जाता है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.