तृणमूल नेताओं को लगाए गए कोविड टीके स्वास्थ्य कर्मियों के लिए थे : दिलीप घोष

दिलीप घोष ने लगाया आरोप तृणमूल नेताओं को लगाए गए कोविड टीके स्वास्थ्य कर्मियों के लिए थे

Covid Vaccine प्रदेश भाजपा अध्यक्ष का दावा कोरोना योद्धाओं के लिए भेजे गए टीके तृणमूल नेताओं द्वारा लगवा लिए जाने से राज्य में टीके की खुराकें कम पड़ गईं।‌ राज्य में कई स्वास्थ्य कर्मियों ने आरोप लगाया है कि उन्हें टीका नहीं लग सका।

Publish Date:Mon, 18 Jan 2021 07:34 AM (IST) Author: Babita Kashyap

कोलकाता, राज्य ब्यूरो। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष व सांसद दिलीप घोष ने रविवार को आरोप लगाया कि बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के कई नेताओं को कोरोना वायरस का टीका लगाया गया है जो स्वास्थ्य कर्मियों और अग्रिम पंक्ति के कोरोना योद्धाओं के लिए था। इस वजह से राज्य में टीके की खुराकें कम पड़ गईं। पूर्व बर्द्धमान जिले में दो विधायकों समेत कई तृणमूल कांग्रेस नेताओं को शनिवार को टीका लगाया गया है। शनिवार को ही कोरोना वायरस के खिलाफ राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान शुरु किया गया है। राज्य में कई स्वास्थ्य कर्मियों ने आरोप लगाया है कि उन्हें टीका नहीं लग सका। हालांकि उन्हें टीका लगवाने के लिए बुलाया गया था। 

 घोष ने कहा कि केंद्र सरकार ने जो टीके भेजे थे, वे स्वास्थ्य कर्मियों, पुलिस कर्मियों और अग्रिम पंक्ति के अन्य कर्मियों के लिए थे जो महामारी में समाज की सेवा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने देशभर में करीब साढ़े तीन करोड़ वैक्सीन की डोज भेजी हैं। ये खुराकें राजनीतिक नेताओं के लिए नहीं थी। घोष ने पत्रकारों से कहा कि अगर टीका तृणमूल नेताओं को लगाया गया है तो (खुराकों की) कमी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि तृणमूल के कुछ नेताओं को अपनी जिंदगी का इतना डर है कि वे नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं।

  केंद्र सरकार का लक्ष्य पहले चरण में तीन करोड़ से ज्यादा स्वास्थ्य कर्मियों एवं अग्रिम मोर्चे पर डटे कर्मियों को मुफ्त टीका लगाने का है। उल्लेखनीय है कि बंगाल की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने राज्य में टीकाकरण अभियान शुरू करने के लिए कोविड-19 टीके की "अपर्याप्त आपूर्ति" करने पर शनिवार को नाखुशी जताई थी। राज्य सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि बंगाल को पहले चरण में टीके की 10 लाख से ज्यादा खुराकें मिलनी चाहिए थी, लेकिन अब तक 6.89 लाख खराकें ही मिली है। राज्य में टीकाकरण अभियान के पहले दिन शनिवार को 15,707 लोगों को टीका लगाया गया है।

 केंद्र सरकार बंगाल को कोविड टीके की पर्याप्त आपूर्ति नहीं कर रही : बंगाल के मंत्री

 इधर, तृणमूल कांग्रेस के महासचिव और राज्य के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने रविवार को कहा, " केंद्र सरकार बंगाल को कोविड टीके की पर्याप्त आपूर्ति नहीं कर रही है। वह आपूर्ति पर नियंत्रण रख रही है। अगर जरूरत पड़ी तो राज्य सरकार हर व्यक्ति को टीका लगाने का खर्च वहन करेगी।" उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा राज्य में कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में शामिल नहीं हुई और पार्टी का सिर्फ एक ही एजेंडा है कि आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर निजी हमले किए जाएं। बंगाल में इस साल अप्रैल- मई में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित है।

 तृणमूल नेता अर्नब राय अपने 200 समर्थकों के साथ भाजपा में शामिल

 इधर, दक्षिण 24 परगना जिले के कैनिंग पश्चिम में तृणमूल के उपाध्यक्ष रहे अर्नब राय अपने 200 समर्थकों के साथ रविवार को भाजपा में शामिल हो गए। कोलकाता के हेस्टिंग्स स्थित भाजपा के चुनाव कार्यालय में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष  की उपस्थिति में उन्होंने भाजपा का झंडा थामा। अर्नब राय तृणमूल से पहले कांग्रेस में थे। उन्होंने साल 2014 में जयनगर लोकसभा सीट से कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा चुनाव भी लड़ा था। 2016 में उन्होंने कैनिंग पश्चिम विधानसभा सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा था।इससे पहले उन्होंने साल 2011 में बासंती विधानसभा सीट से भी कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा था।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.