West Bengal: गो तस्करी मामले में सीबीआइ कोलकाता के व्यवसायी बिनय मिश्रा के खिलाफ दाखिल की चार्जशीट

गो तस्करी मामले में सीबीआइ कोलकाता के व्यवसायी बिनय मिश्रा के खिलाफ दाखिल की चार्जशीट। फाइल फोटो

West Bengal इससे पहले सीबीआइ की विशेष अदालत ने मवेशी तस्करी कांड में युवा तृणमूल के महासचिव बिनय मिश्रा को शुक्रवार को फरार घोषित कर दिया था। मिश्रा के कोलकाता के रासबिहारी इलाके में स्थित घर के सामने इस बाबत नोटिस लगा दिया गया है।

Sachin Kumar MishraWed, 24 Feb 2021 02:50 PM (IST)

कोलकाता, एएनआइ। सीबीआइ ने बुधवार को गो तस्करी मामले में कोलकाता के व्यवसायी बिनय मिश्रा के खिलाफ पूरक आरोप पत्र दायर किया है। इससे पहले सीबीआइ की विशेष अदालत ने मवेशी तस्करी कांड में युवा तृणमूल के महासचिव बिनय मिश्रा को शुक्रवार को 'फरार' घोषित कर दिया था। मिश्रा के कोलकाता के रासबिहारी इलाके में स्थित घर के सामने इस बाबत नोटिस लगा दिया गया है। मिश्रा को सीबीआइ की अदालत ने 22 मार्च तक उसके समक्ष हाजिर होने का निर्देश दिया है। सीबीआइ की टीम ने मिश्रा के घर की तलाशी के दौरान कई मोबाइल व लैपटाप बरामद किए हैं। उनकी जांच की जा रही है। सूत्रों से पता चला है कि मिश्रा के एक महीने के अंदर अदालत के समक्ष हाजिर नहीं होने पर उसकी संपत्ति जब्त कर ली जाएगी।

गौरतलब है कि मवेशी तस्करी कांड में तीन बार तलब किए जाने के बावजूद मिश्रा एक बार भी हाजिर नहीं हुए हैं। सीबीआइ उसके खिलाफ पहले ही लुकआउट नोटिस जारी कर चुकी है। दूसरी तरफ, कोयला तस्करी कांड में मुख्य आरोपित अनूप माजी उर्फ लाला की तलाश में भी सीबीआइ विभिन्न जगहों पर छापामारी कर रही है। लाला की तलाश में शुक्रवार को बांकुड़ा, पुरुलिया, आसनसोल समेत विभिन्न जगहों पर छापामारी की गई लेकिन वह हाथ नहीं लगा।

इधर, बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले गो तथा कोयला तस्करी मामले में सीबीआइ (केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो) लगातार अपना शिकंजा कसती जा रही है। अब सीबीआइ की जांच की आंच सूबे की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के स्वजन तक पहुंच गई है। मंगलवार को सीबीआइ ने कोयला तस्करी मामले में उनके भतीजे व सांसद अभिषेक बनर्जी की पत्नी रुजिरा बनर्जी से करीब सवा घंटे तक पूछताछ की। सीबीआइ के सूत्रों के मुताबिक, रुजिरा ज्यादातर सवालों का जवाब नहीं दे पाईं। सीबीआइ की टीम के पहुंचने से पहले राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अपने भतीजे के घर पहुंचीं। वह वहां करीब दस मिनट तक रुकीं। उनके जाने के कुछ मिनट बाद सीबीआइ की टीम करीब साढ़े ग्यारह बजे पहुंची। सीबीआइ की आठ सदस्यीय टीम का नेतृत्व जांच अधिकारी उमेश कुमार कर रहे थे। सवा घंटे की पूछताछ के बाद टीम रुजिरा के आवास से चली गई। इस टीम में दो महिला अधिकारी भी शामिल थीं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.