21 जुलाई से भी बड़ी सभा को तैयार ब्रिगेड परेड ग्राउंड

जागरण संवाददाता, कोलकाता : वर्ष 2011 में बंगाल की सत्ता संभालने के बाद तृणमूल कांग्रेस ने 2012 व 2014 में ब्रिगेड में सभा की थी। पार्टी हर साल 21 जुलाई को विराट शहीद सभा आयोजित करती है। सामने लोकसभा चुनाव है। मामला राष्ट्रीय परिदृश्य का है, लिहाजा 19 जनवरी को तृणमूल की ओर से आहूत विपक्ष की ब्रिगेड सभा के लिए 21 जुलाई से भी वृहद तैयारी है। महारैली में आगंतुकों की स्वागत के लिए ब्रिगेड मैदान लगभग सज-धजकर तैयार है। गुरुवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उनके सांसद भतीजे अभिषेक बनर्जी ने सभास्थल का मुआयना किया।

उल्लेखनीय है कि मंगलवार को ही मुख्यमंत्री व तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी ने दावा किया था कि ब्रिगेड मंच पर कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक के सभी भाजपा विरोधी दलों के नेता एक साथ नजर आएंगे। तैयारियां भी उसी अनुसार की गई हैं। पार्टी का दावा है कि ब्रिगेड सभा के लिए 23 जिलों से 25 लाख लोग शनिवार को महानगर पहुंचेंगे। वहीं, ब्रिगेड सभा के मद्देनजर सभास्थल से लेकर पूरे महानगर में मुख्यमंत्री व तृणमूल युवा काग्रेस अध्यक्ष व सासद अभिषेक बनर्जी के पोस्टर व कटआउट लग गए हैं।

............

पांच मंच के साथ एक विश्राम कक्ष

ब्रिगेड में सभा के लिए कुल पांच मंच जबकि एक विश्राम कक्ष बनाया गया है। एक मुख्य मंच है जबकि मुख्य मंच के दोनों ओर दो-दो मंच हैं। मुख्य मंच 100 फुट लंबा, 44 फुट चौड़ा जबकि 12 फुट ऊंचा है। मुख्य मंच पर 30 से अधिक कुर्सियों की व्यवस्था नहीं है जबकि सभी मंच को मिलाकर 400 कुर्सियां लगाई जाएंगी। इस मंच पर ममता के साथ विभिन्न राज्यों से आमंत्रित नेता बैठेंगे। मंच के बैकग्राउंड में भारत का मानचित्र होगा जिस पर अतुल्य भारत अंकित होगा और वहां किसी नेता की तस्वीर नहीं होगी। बाकी चार मंच की लंबाई 48 फुट, चौड़ाई करीब 28 फुट जबकि ऊंचाई 10 फुट रखी गई है। इसी के पीछे एक विश्राम कक्ष भी बनाया गया है।

.............

20 एलइडी, 200 साउंड सिस्टम

लोगों तक मंच की हर हलचल पहुंचे, इसके लिए ब्रिगेड मैदान में 20 बड़े एलइडी की व्यवस्था होगी। इसके साथ ही 200 साउंड सिस्टम लोगों तक हर दृश्य को पहुंचाएंगे। मंच के सामने कुछ विशिष्ट अतिथियों के बैठने की व्यवस्था के साथ बगल में प्रेस कार्नर बनाया गया है।

............

सुरक्षा रहेगी चाक चौबंद

ब्रिगेड सभा के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। सुरक्षा की त्रिस्तरीय व्यवस्था होगी। सुरक्षा की जिम्मेदारी कोलकाता पुलिस के साथ वोलेंटियरों के जिम्मे होगी। इसके अलावा आठ वाच टावर लगाए गए हैं। मैदान में हर गतिविधि पर ड्रोन की नजर रहेगी। शनिवार को महानगर के चुनिंदा मुख्य मार्गो पर ट्रैफिक रूट में परिवर्तन किया गया है। इसके साथ ही प्रात: 4 बजे से रात आठ बजे तक कुछ विशेष स्थानों पर पार्किंग पर पाबंदी है।

.............

सेंट्रल पार्क व उत्तीर्ण मंच कार्यकर्ताओं का अहम ठिकाना

राज्यभर से रिकार्ड भीड़ के मद्देनजर साल्टलेक के सेंट्रल पार्क, अलीपुर के उत्तीर्ण मंच के अलावा महानगर की विभिन्न जगहों पर धर्मशालाओं, स्टेडियम आदि में तृणमूल कार्यकर्ताओं के ठहरने की व्यवस्था की गई है। यहां उनके खाने-पीने से लेकर शौचागार व अन्य सुविधाएं भी हैं। गुरुवार को ही जिलों से कार्यकर्ता सियालदह व हावड़ा स्टेशन पहुंचने लगे। दोनों स्टेशनों पर पार्टी की ओर से कैंप लगाया गया है जहां से उन्हें यातायात के माध्यम से उचित स्थान पर पहुंचाया जा रहा है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.