कैलाश विजयवर्गीय बोले, राष्ट्र को विभाजित करती है ममता बनर्जी की राजनीति

कैलाश विजयवर्गीय बोले, राष्ट्र को विभाजित करती है ममता बनर्जी की राजनीति

Kailash Vijayvargiya. कैलाश विजयवर्गीय के मुताबिक जिस तरह से भाजपा कार्यकर्ताओं को प्रतिशोध के लिए मारा जा रहा है वह डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी की सोच के अनुरूप नहीं है।

Publish Date:Sun, 23 Jun 2019 01:07 PM (IST) Author: Sachin Mishra

कोलकाता, एएनआइ। भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने रविवार को कहा है कि डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि मनाना और उनकी सोच पर अमल दोनों अलग-अलग बातें हैं। ममता डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि मना रही हैं, मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं। लेकिन उन्हें उनके विचारों को भी अमल मेंं लाना चाहिए ताकि हिंसा, विशेष रूप से राजनीतिक हिंसा, पश्चिम बंगाल में समाप्त हो जाए।'

कैलाश विजयवर्गीय के मुताबिक, जिस तरह से भाजपा कार्यकर्ताओं को प्रतिशोध के लिए मारा जा रहा है, वह डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी की सोच के अनुरूप नहीं है। उनकी राजनीति राष्ट्र को एकजुट करती थी। ममता की राजनीति वह है, जो राष्ट्र को विभाजित करती है।

गौरतलब है कि बंगाल की ममता सरकार ने पिछले वर्ष की भांति इस बार भी भारतीय जनसंघ के संस्थापक और भाजपा के विचारक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की रविवार को पुण्यतिथि मनाने का फैसला किया है। बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के सूत्रों ने बताया कि राज्य के बिजली एवं गैर पारंपरिक ऊर्जा मंत्री शोभनदेव चट्टोपाध्याय दक्षिण कोलकाता के केवड़ातल्ला श्मशान घाट के निकट पार्क में लगी डॉ. मुखर्जी की आवक्ष प्रतिमा पर श्रद्धाजंलि अर्पित करेंगे।

पिछले साल तृणमूल सरकार ने डॉ. मुखर्जी की 65वीं पुण्यतिथि पर उन्हें याद किया था और महान दूरदर्शी तथा देशभक्त बताया था। पिछले साल वामो कट्टरपंथियों के एक समूह ने इस पार्क में लगी डॉ. मुखर्जी की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त कर दिया था। राज्य सरकार ने क्षतिग्रस्त प्रतिमा की जगह कांस्य की प्रतिमा स्थापित की थी। प्रतिमा तोड़ने के मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया था।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.