Bengal Politics: ममता बनर्जी पहुंचीं दिल्ली, 2024 के लोकसभा चुनाव को लेकर विपक्षी पार्टियों को करेंगी एकजुट

मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) प्रमुख ममता बनर्जी 2024 के लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली भाजपा को केंद्र की सत्ता से उखाड़ फेंकने और विरोधी दलों को एकजुट करने की मंशा से सोमवार शाम को दिल्ली पहुंच गईं।

Vijay KumarMon, 26 Jul 2021 07:17 PM (IST)
चार दिवसीय दौरे में विपक्ष के कई प्रमुख नेताओं के साथ मुलाकात करेंगी दीदी

राज्य ब्यूरो, कोलकाता : हाल में संपन्न बंगाल विधानसभा चुनाव में प्रचंड जीत के बाद मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) प्रमुख ममता बनर्जी 2024 के लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली भाजपा को केंद्र की सत्ता से उखाड़ फेंकने और विरोधी दलों को एकजुट करने की मंशा से सोमवार शाम को दिल्ली पहुंच गईं। बंगाल फतह करने व पांच मई को लगातार तीसरी बार मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने के ममता का यह पहला दिल्ली दौरा है।

पांच दिवसीय इस दौरे के दौरान ममता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर प्रमुख विपक्षी नेताओं से मुलाकात करेंगी।तृणमूल की ओर से एक आधिकारिक बयान में बताया गया कि मुख्यमंत्री मंगलवार शाम चार बजे पीएम मोदी के साथ मुलाकात करेंगी। पीएम से मुलाकात के बाद ममता प्रेस कांफ्रेंस भी कर सकती हैं।

इससे पहले मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता आनंद शर्मा के साथ ममता की बैठक है। पीएम से मिलने के बाद उनकी शाम 6:30 बजे से कांग्रेस नेता व वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी के साथ भी बैठक है।ममता के दिल्ली दौरे पर सबकीं निगाहें टिकी हुई हैं। टीएमसी प्रमुख 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले राष्ट्रीय स्तर पर बड़ी भूमिका निभाने की तैयारी में हैं।

वरिष्ठ पत्रकार विनीत नारायण से मिलीं ममता

इधर, दिल्ली पहुंचते ही ममता की मुलाकातों का सिलसिला भी शुरू हो गया है। ममता ने यहां पहुंचते ही सबसे पहले जैन हवाला केस का खुलासा करने वाले वरिष्ठ पत्रकार विनीत नारायण से मुलाकात की। एक महीने पहले ही ममता ने बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ पर इस मामले में संलिप्तता का आरोप लगाया था।

सोनिया, पवार समेत विपक्ष के सभी प्रमुख नेताओं से मिलेंगी ममता

26 से 30 जुलाई तक दिल्ली दौरे के दौरान ममता के कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार समेत विपक्ष के सभी प्रमुख नेताओं से मुलाकात का कार्यक्रम है। ममता संसद भवन भी जाएंगी, जहां मानसून सत्र चल रहा है।जानकारी के मुताबिक 28 जुलाई को उनके संसद भवन जाने का कार्यक्रम है। यहां वह कई नेताओं से मुलाकात करेंगी। ममता 30 जुलाई को कोलकाता लौटेंगी।

28 को विपक्षी नेताओं के साथ है बैठक

तृणमूल सूत्रों के मुताबिक, ममता 28 जुलाई को दिल्ली स्थित बंग भवन में दोपहर तीन बजे से विरोधी दल के नेताओं के साथ बैठक भी करेंगी। इस बैठक में एनसीपी प्रमुख शरद पवार, कांग्रेस नेता पी चिदंबरम समेत टीआरएस, राजद, समाजवादी पार्टी, आम आदमी पार्टी, डीएमके और शिवसेना के नेताओं को भी आमंत्रित किया गया है। इसे नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार के खिलाफ राष्ट्रीय स्तर पर विपक्षी गठबंधन बनाने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है।इधर, दिल्ली रवाना होने से पहले ममता ने में कैबिनेट की विशेष बैठक भी की। इस बैठक में पेगासस मामले की जांच कराने के लिए जांच आयोग के गठन पर मुहर लगाई गई। कैबिनेट की बैठक के बाद ममता दोपहर में हवाई मार्ग से रवाना हो गईं और शाम लगभग छह बजे दिल्ली पहुंचीं।

भाजपा विरोधी शक्ति के रूप में उभरी हैं ममता बनर्जी : मुकुल

इधर, ममता के साथ दिल्ली पहुंचे वरिष्ठ नेता मुकुल राय ने कहा कि विधानसभा चुनाव में जिस तरह से भाजपा को उन्होंने पराजित किया है, उसके बाद उनपर लोगों की निगाहें टिकीं हुई हैं और वह भाजपा विरोधी शक्ति के रूप में उभरी हैं। राय ने कहा कि दिल्ली दौरे के दौरान ममता बनर्जी कई नेताओं के साथ मुलाकात करेंगी।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.