Bengal Chunav: भाजपा उपाध्यक्ष भारती घोष ने कहा- तृणमूल सरकार ने केवल बंगाल की जनता का शोषण किया

पश्चिम मेदिनीपुर जिले में सभा को संबोधित करतीं प्रदेश भाजपा की उपाध्यक्ष भारती घोष।

Bengal Chunav 2021 भारती घोष ने तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एवं उनके सांसद भतीजे अभिषेक बनर्जी पर शनिवार को करारा हमला बोला। घोष ने कहा कि तृणमूल सरकार ने केवल बंगाल की जनता का शोषण किया।

Publish Date:Sun, 17 Jan 2021 08:56 AM (IST) Author: PRITI JHA

कोलकाता, राज्य ब्यूरो। प्रदेश भाजपा की उपाध्यक्ष व पूर्व आइपीएस अधिकारी भारती घोष ने तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एवं उनके सांसद भतीजे अभिषेक बनर्जी पर शनिवार को करारा हमला बोला। घोष ने कहा कि तृणमूल सरकार ने केवल बंगाल की जनता का शोषण किया। ममता व अभिषेक का नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि पीसी व भाइपो ने मिल कर बंगाल में कटमनी और सिंडिकेट राज को बढ़ावा दिया। पुलिस को दलाली के लिए मैदान में उतार दिया है।

घोष पश्चिम मेदिनीपुर जिले के चंद्रकोना थाना अंतर्गत खेजुरडांगा इलाके में भाजपा की जनसभा को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं। घोष ने तृणमूल पर निशाना साधते हुए कहा कि चंद्रकोना में तीन लाख लोग निवास करते हैं, लेकिन इलाके में केवल एक ही अस्पताल है, जिसकी स्थिति ठीक नहीं है। स्थानीय लोगों के बच्चों की शिक्षा के लिए एक ही कॉलेज है। चंद्रकोना मंदिरों के शहर के नाम से विख्यात है, लेकिन न तो तृणमूल कांग्रेस ने मंदिरों की मरम्मत कराई और न ही शिक्षा के लिए कॉलेज का निर्माण करवाया। अस्पताल में स्वास्थ्य परिसेवा को भी दुरुस्त नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि 10 वर्षों के शासन में ममता बनर्जी ने सिर्फ लोगों को बेवकूफ बनाया है।

प्रशासनिक सभा करके तृणमूल कांग्रेस अपना खजाना भर रही : सुवेंदु

वहीं, इस सभा में भाजपा नेता सुवेंदु अधिकारी ने भी निशाना साधते हुए कहा कि तृणमूल कांग्रेस और पार्टी सुप्रीमो सबसे ज्यादा सुविधावादी हैं। पहले बंगाल में अस्तित्व के लिए जूझने के दौरान भाजपा से हाथ मिलाया। रेल मंत्री और कोयला मंत्री बनीं। जैसे ही तृणमूल प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में तब्दील हो गई, भाजपा पर निशान साध रही हैं। कृषकों का शोषण कर रही हैं। किसान सम्मान निधि योजना से बंगाल के लाखों गरीब किसानों को वंचित रखा गया है। आयुष्मान भारत योजना से भी लाखों लोगों को वंचित रखा गया है। केवल प्रशासनिक सभा करके तृणमूल कांग्रेस अपना खजाना भर रही है।

उन्होंने कहा कि मैंने तृणमूल कांग्रेस को इसलिए छोड़ दिया कि तृणमूल अब राजनीतिक पार्टी नहीं, बल्कि कंपनी में तब्दील हो गई है और मैं एक कार्यकर्ता हूं, किसी का कर्मचारी बन कर नहीं रह सकता। उन्होंने यह भी आरोप लगाया केंद्र सरकार की योजनाओं का राज्य सरकार नाम बदल रही है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.