Auto News : बंगाल में लोकल ट्रेन सेवा शुरू करने पर राज्य सरकार व रेलवे राजी, 5 को मीटिंग में होगा अंतिम फैसला

अब 5 नवंबर को एक बार फिर दोनों पक्ष बैठक करेंगे जिसमें आगे का फैसला लिया जाएगा।

Auto News अहम बैठक-राज्य सरकार और रेलवे अधिकारियों के बीच हुई महत्वपूर्ण बैठक। शुरुआत में 10 फीसद ट्रेनें ही चलेंगी। राज्य सरकार ने रेलवे को दिए कई प्रस्ताव। सिर्फ सीटों पर बैठकर ही यात्रा की होगी अनुमति।

Vijay KumarMon, 02 Nov 2020 08:37 PM (IST)

राज्य ब्यूरो, कोलकाता : बंगाल में उपनगरीय लोकल ट्रेन सेवा फिर से शुरू करने पर विचार- विमर्श के लिए सोमवार को राज्य सरकार व पूर्व रेलवे के अधिकारियों के बीच महत्वपूर्ण बैठक हुई। बैठक में हालांकि लोकल ट्रेन सेवा कब से शुरू होगी इस बारे में तो अंतिम फैसला नहीं हुआ, लेकिन दोनों पक्षों ने जल्द इसे शुरू किए जाने पर सहमति व्यक्त की। अब 5 नवंबर को एक बार फिर दोनों पक्ष बैठक करेंगे जिसमें आगे का फैसला लिया जाएगा।

सीमित संख्या में लोकल ट्रेनों का परिचालन जल्द शुरू हो

राज्य सचिवालय नवान्न में बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में राज्य के मुख्य सचिव अलापन बंदोपाध्याय ने कहा, 'लोगों की असुविधाओं को देखते हुए राज्य सरकार चाहती है कि सभी सुरक्षा प्रोटोकॉल को मानकर सीमित संख्या में लोकल ट्रेनों का परिचालन जल्द शुरू हो। रेलवे अधिकारियों के साथ बैठक में इस बारे में विस्तार से चर्चा हुई। 

ट्रेन सेवा शुरू करने से पहले विस्तार प्लानिंग की जरूरत 

मौजूदा परिस्थिति को देखते कुछ ऐसे बिंदु हैं जिस पर ट्रेन सेवा शुरू किए जाने से पहले विस्तार से प्लानिंग की जरूरत है। जैसे भीड़ को नियंत्रित करना, शारीरिक दूरी का पालन आदि। राज्य सरकार ने इन सभी के बारे में विस्तार से प्लानिंग करने के लिए रेलवे को प्रस्ताव दिया है। अगले दो-तीन दिन में प्लानिंग के बाद 5 नवंबर को शाम 4:30 बजे से रेलवे अधिकारियों के साथ फिर से बैठक होगी जिसमें आगे का फैसला लिया जाएगा।' 

10- 15 फीसद ट्रेनों को गैलोपिंग रूप में चलाने पर चर्चा

मुख्य सचिव ने कहा कि शुरुआत में सिर्फ 10- 15 फीसद लोकल ट्रेनों को गैलोपिंग के रूप में चलाने पर चर्चा हुई। काली पूजा के बाद इसे बढ़ाकर 25 फीसद किया जाएगा। वहीं 1200 यात्रियों की क्षमता वाली प्रत्येक लोकल में फिलहाल 600 यात्री ही चढ़ सकेंगे। ट्रेन में सिर्फ सीटों पर बैठकर ही यात्रा की इजाजत होगी, खड़े रहकर यात्रा की फिलहाल इजाजत नहीं होगी। 

लोकल ट्रेन सेवा दोबारा शुरू किया जाना चुनौतीपूर्ण कार्य

उन्होंने कहा कि लोकल ट्रेन सेवा दोबारा शुरू किया जाना एक चुनौतीपूर्ण कार्य है, लेकिन रेलवे व राज्य सरकार मिलकर इसका सामना करेगी। साथ ही उन्होंने कहा कि सुरक्षा के पालन में आरपीएफ के अलावा राज्य पुलिस पूरी मदद करेगी। उल्लेखनीय है कि कोरोना के चलते पिछले 7 महीने से लोकल ट्रेन सेवा पूरी तरह से बंद है। 

राज्यभर के विभिन्न स्टेशनों पर लगातार विरोध प्रदर्शन

ट्रेन सेवा दोबारा शुरू किए जाने की मांग पर राज्यभर के विभिन्न स्टेशनों पर लगातार विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। इसको देखते हुए राज्य सरकार ने शनिवार को पूर्व रेलवे के महाप्रबंधक को पत्र लिखकर कोविड-19 नियामकों को ध्यान में रखते हुए कुछ उपनगरीय ट्रेन प्रतिदिन चलाने की मांग पर चर्चा के लिए बैठक का अनुरोध किया था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.