कोलकाता में एक और फर्जी काल सेंटर का भंडाफोड़, दो सीपीयू, दो हार्ड ड्राइव और 9.91 लाख नकद समेत चार गिरफ्तार

कोलकाता पुलिस ने महानगर में एक और फर्जी काल सेंटर का भंडाफोड़ करते हुए चार लोगों को इसके कथित संचालन के सिलसिले में गिरफ्तार किया है। एक पुलिस अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी। आरोपितों के पास से नौ लाख रुपये की नकद राशि भी जब्त की गई है।

Vijay KumarWed, 08 Dec 2021 09:11 PM (IST)
महानगर के विभिन्न हिस्सों से चारों को किया गिरफ्तार

राज्य ब्यूरो, कोलकाता : कोलकाता पुलिस ने महानगर में एक और फर्जी काल सेंटर का भंडाफोड़ करते हुए चार लोगों को इसके कथित संचालन के सिलसिले में गिरफ्तार किया है। एक पुलिस अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी।उन्होंने बताया कि आरोपितों के पास से नौ लाख रुपये की नकद राशि भी जब्त की गई है। एक गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए कोलकाता पुलिस ने शहर के विभिन्न हिस्सों से चारों को गिरफ्तार किया और दो सीपीयू, दो हार्ड ड्राइव और कुल 9,91,000 रुपये की नकद राशि जब्त की।

अधिकारी ने बताया कि भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत सभी पर आपराधिक षडयंत्र और अन्य अपराधों के लिए मामला दर्ज किया गया। अधिकारी ने बताया कि आरोपितों से पूछताछ कर हम यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि इस गिरोह के तार कहां-कहां से जुड़े हैं। साथ ही यह भी पता करने की कोशिश कर रहे हैं कि अब तक कितने लोगों के साथ ठगी की गई है।

हाल में कई फर्जी काल सेंटरों का हो चुका है भंडाफोड़

बताते चलें कि हाल के दिनों में कोलकाता पुलिस ने महानगर में कई फर्जी काल सेंटरों का भंडाफोड़ किया है।इस सिलसिले में बड़ी संख्या में लोगों की गिरफ्तारियां भी हुई है।राज्य सीआइडी की टीम ने बीते 23 नवंबर को महानगर के विधाननगर इलाके में कथित तौर पर फर्जी काल सेंटर खोल कर कई लोगों से ठगी करने वाले गिरोह के 10 लोगों को गिरफ्तार किया था। एक खुफिया सूचना के आधार पर सीआइडी की साइबर क्राइम टीम ने मध्य रात्रि में टेक्नोसिटी थाना अंतर्गत एक्शन एरिया तीन में एक इमारत में छापा मारा था और फर्जी काल सेंटर का भंडाफोड़ किया था। छापेमारी के दौरान राउटर, कालिंग मशीन, कंप्यूटर, डाटा एकत्रित करने वाली डिवाइस आदि भी जब्त किया गया था। गिरफ्तार लोगों में पांच लड़कियां और पांच लड़के शामिल थे।

आरोप है कि यह गिरोह अमेरिका, ब्रिटेन, आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में लोगों को फोन कर उनका कंप्यूटर ठीक करने के बहाने हैक कर लेते थे और इसके बदले वहां के नागरिकों से भारी धनराशि लेते थे। इतना ही नहीं जब कस्टमर पेमेंट करने के लिए गेटवे पर फार्म भरता था तो उसके बैंक अकाउंट से सारा डिटेल भी चुरा लेते थे और समय-समय पर उसमें से पैसे उड़ाते रहते थे। इससे पहले 18 नवंबर को कोलकाता के इकबालपुर इलाके में भी पुलिस ने फर्जी काल सेंटर का भंडाफोड़ किया था। इस सिलसिले में 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया था।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.