कई कॉलेजों में ऑनलाइन के लिए छात्र-छात्राओं के साथ ही फैकल्टी भी कर रहे हैं आवेदन

अग्रसेन कॉलेज लिलुआ में शुरुआत में जितने छात्र-छात्राएं आये अभी भी उतने ही आ रहे हैं। यहां के ट्रस्टी ने बताया कि कॉलेज में आने वाले छात्रों की संख्या 50% ही है। उम्मीद है कि आने वाले समय में छात्र छात्राओं की ऑफलाइन कक्षाओं में संख्या बढ़ेगी।

Priti JhaTue, 30 Nov 2021 11:22 AM (IST)
कई कॉलेजों में ऑनलाइन के लिए छात्र-छात्राओं के साथ ही फैकल्टी भी कर रहे हैं आवेदन

राज्य ब्यूरो, कोलकाता। करीब 20 महीने तक ऑनलाइन की पढ़ाई के बाद ऑफलाइन में आने का उत्साह शुरुआत में छात्र – छात्राओं में खूब दिखा। 16 नवंबर से शुरू हुई कक्षाओं की शुरुआत के 2 – 3 दिन अटेंडेंस भी अच्छे खासे रहे लेकिन गत कुछ दिनों से कई कॉलेजों में छात्रों की उपस्थिति कम हो गयी है। छात्र-छात्राओं के अलावा कई फैकल्टी भी ऑनलाइन के लिए आवेदन कर रहे हैं। अब चाहे कोरोना का भय हो या फिर वजह कुछ मगर ऑनलाइन की आदत से बाहर निकलने में शायद और समय लग सकता है। कई छात्र – छात्राएं ऐसे भी हैं जो ऑफलाइन क्लास को प्राथमिकता दे रहे हैं।

किस कॉलेज में कैसी हो रही है उपस्थिति

श्री अग्रसेन कॉलेज, लिलुआ में शुरुआत में जितने छात्र-छात्राएं आये अभी भी उतने ही आ रहे हैं। संख्या फिलहाल बढ़ी नहीं है। यहां के ट्रस्टी महावीर सराफ ने बताया कि कॉलेज में आने वाले छात्रों की संख्या 50% ही है। उम्मीद है कि आने वाले समय में छात्र छात्राओं की ऑफलाइन कक्षाओं में संख्या बढ़ेगी। उन्होंने यह भी बताया कि फर्स्ट ईयर की पढ़ाई गत साेमवार से ऑफलाइन शुरू हो गयी है। द भवानीपुर एडुकेशन सोसाइटी के डीन दिलीप शाह ने बताया कि करीब डेढ़ साल से छात्र छात्राओं ने ऑनलाइन पढ़ाई की और अभी भी जारी है। ऐसे में कोविड काल के दौरान ऑफलाइन में पढ़ाई में रुचि लाने में समय लग सकता है। कई बार तो फैकल्टी अभी भी ऑनलाइन पढ़ाई के लिए आवेदन करते हैं। छात्रों में शुरुआत में ऑफलाइन के लिए उत्साह भरपूर दिखा। हालांकि हाइब्रिड में हमारे कॉलेज में पढ़ाई जारी है।

वहीं 3 दिन सेंकड ईयर के छात्र छात्राएं तथा 3 दिन थर्ड ईयर के छात्र छात्राएं कॉलेज में आते हैं। फर्स्ट ईयर की ऑनलाइन पढ़ाई जारी है। ऑफलाइन के लिए वेट एंड वॉच की नीति अपना रहे हैं। दलालपुकुर स्थित इंजीनियरिंग इंस्टिट्यूट फॉर जूनियर एग्जिक्यूटिव में सोमवार से फर्स्ट ईयर की पढ़ाई शुरू होगी।

राज्य में 20 महीने बाद 16 नवंबर से स्कूलों में कक्षा आठवीं से बारहवीं तथा कॉलेज व विश्वविद्यालयों में पढ़ाई शुरू हुई है। कई कॉलेजों में अभी फर्स्ट ईयर की पढ़ाई शुरू नहीं हुई है। ऑनलाइन जारी है। पहले की तुलना में कई कॉलेजों में छात्र छात्राओं की उपस्थिति तुलनात्मक कम है। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.