Durga Pooja Bengal : हाईकोर्ट के आदेश को बंगाल प्रशासन लागू करेगा, इस पर संदेह: अधीर रंजन चौधरी

पूजा के दिनों में भीड़ को अनुमति दी जाती है तो वह इसमें वृद्धि को रोकने में सफल होगी।
Publish Date:Wed, 21 Oct 2020 06:01 PM (IST) Author: Vijay Kumar

राज्य ब्यूरो, कोलकाताः बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने बुधवार को संदेह जताया कि कलकत्ता हाई कोर्ट के आदेश को राज्य प्रशासन द्वारा अक्षरश: लागू किया जाएगा। अदालत ने आदेश में सभी सामुदायिक पूजा पंडालों में प्रवेश वर्जित करने के आदेश दिए थे।

‘ठोस रोडमैप देने में विफल’ रही थी राज्य सरकार

उन्होंने कहा कि हाई कोर्ट में सुनवाई के दौरान राज्य सरकार पूजा के दौरान सड़कों पर दर्शकों के उमड़ पड़ने की स्थिति में कोविड-19 के समूह संचरण को रोकने के तरीके पर ‘ठोस रोडमैप देने में विफल’ रही थी। लोकसभा में कांग्रेस के नेता चौधरी ने ममता सरकार को ‘अयोग्य, अक्षम शासन’ वाली करार दिया।

हाईकोर्ट को आश्वस्त करने में विफल रही सरकार

बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री ने खुद ही पुष्टि की है कि बंगाल में सामुदायिक संक्रमण शुरू हो चुका है और राज्य में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। स स्थिति को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार माननीय हाई कोर्ट को आश्वस्त करने में विफल रही है कि अगर पूजा के दिनों में भीड़ को अनुमति दी जाती है तो वह इसमें (मामलों में) वृद्धि को रोकने में सफल होगी।

सीएम के निर्णय से लोगों के दिमाग में केवल भ्रम

उन्होंने कहा कि मुझे संदेह है कि प्रशासन पूजा पंडालों में दर्शकों के प्रवेश को रोकने के उच्च न्यायालय के आदेश को लागू करने में सफल होगा। राज्य भर में छोटे-बड़े हजारों पूजा पंडाल हैं। चौधरी ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री ने जल्दबाजी में निर्णय किया है जिससे लोगों के दिमाग में केवल भ्रम फैला है।

वोट बैंक की राजनीति को ध्यान में रखकर निर्णय 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि हर पूजा समिति को 50 हजार रुपये देने का निर्णय वोट बैंक की राजनीति को ध्यान में रखकर किया गया है, जबकि उपयुक्त स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव में रोजाना हजारों लोग मर रहे हैं। 

प्रवेश निषिद्ध वाले क्षेत्रों में ड्रम बजाने की इजाजत 

वहीं, कलकत्ता उच्च न्यायालय ने बुधवार को सामुदायिक दुर्गा पूजा पर अपने आदेश में आंशिक संशोधन करते हुए प्रवेश निषिद्ध वाले क्षेत्रों में ड्रम बजाने वालों को इजाजत प्रदान की। साथ ही बड़े पूजा स्थलों पर लोगों की संख्या 25 से बढ़ाकर 60 करने की अनुमति दी।

आर्थिक विफलता, चीनी घुसपैठ और कोविड संकट पर प्रधानमंत्री चुप क्यों हैं : अधीर

कोलकाता : आर्थिक विफलता, राष्ट्रीय सुरक्षा और कोविड-19 महामारी के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर सवाल करते हुए  बंगाल कांग्रेस के प्रमुख अधीर रंजन चौधरी ने बुधवार को कहा कि इन तीन मोर्चे पर केंद्र सरकार विफल है।

संसद में चर्चा कराने के लिए पीएम सशंकित क्यों

लोकसभा में कांग्रेस के नेता चौधरी ने आरोप लगाए कि लद्दाख में चीनी घुसैपठ के दौरान केंद्र सो रहा था और जानना चाहा कि मामले पर संसद में चर्चा कराने के लिए वह सशंकित क्यों है।

बहरमपुर में संवाददाता सम्मेलन में सवाल उठाए

मुर्शिदाबाद जिले के बहरमपुर में एक संवाददाता सम्मेलन में चौधरी ने कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी अर्थव्यवस्था, राष्ट्रीय सुरक्षा और कोविड-19 महामारी से जुड़े मुद्दों पर चुप क्यों हैं? उन्हें बोलना चाहिए।

भ्रामक तथ्य और आंकड़े पेश कर छिपा रहा केंद्र 

मोर्चे पर केंद्र सरकार पूरी तरफ विफल रही है।’ चौधरी ने कहा, ‘केंद्र अपनी विफलताओं को स्वीकार करने के बजाए भ्रामक तथ्य और आंकड़े पेश कर उन्हें छिपा रहा है और ध्यान भटका रहा है।’ 

महामारी ने किया अर्थव्यवस्था पर करारा प्रहार 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष  ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि महामारी ने देश की अर्थव्यवस्था पर करारा प्रहार किया है और कहा कि क्या केंद्र सरकार इसके निष्कर्षों से इंकार कर सकती है।

चीन सेना घुसपैठ कर रही थी सरकार सो रही थी

कहा, ‘पिछले संसद सत्र के दौरान केंद्र सरकार लद्दाख और अर्थव्यवस्था पर चर्चा करने को लेकर सशंकित थी। छिपाने के लिए क्या है? जब चीन की सेना हमारे क्षेत्र में घुसपैठ कर रही थी तो सरकार सो रही थी।’

संकट से ठीक तरीके से नहीं निपटा जा सका है

चौधरी ने कहा, ‘‘हमारी सेना बहादुरी से लड़ी और हमें उस पर गर्व है। लेकिन हमारे राजनीतिक नेतृत्व की विफलता के कारण संकट से ठीक तरीके से नहीं निपटा जा सका।’

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.