छोटाटिंगलिंग में संक्रमितों को प्रदान की गई विभिन्न सामग्री

-कोरोना से सुरक्षा को मास्क सैनिटाइजर पीपीई किटऑक्सीमीटर हाइपोक्लोराइट ग्लब्सऔषधि दी गई

JagranSun, 13 Jun 2021 08:52 PM (IST)
छोटाटिंगलिंग में संक्रमितों को प्रदान की गई विभिन्न सामग्री

-कोरोना से सुरक्षा को मास्क, सैनिटाइजर , पीपीई किट,ऑक्सीमीटर, हाइपोक्लोराइट, ग्लब्स,औषधि दी गई

----------

संसू.मिरिक : वी सेल ओवर कम संगठन ने मिरिक महकमा के छोटाटिंगलिंग गांव के ग्रामीणों को विभिन्न सामग्री रविवार को प्रदान की गई। यह सामग्री प्रगतिशील नागरिक मंच के माध्यम से संक्रमितों को प्रदान की गई। मंच के महासचिव मनोहर शर्मा और उपाध्यक्ष प्रणय घलेने कल संगठन की ओर से प्रदान की गई मास्क, सैनिटाइजर , पीपीई किट,ऑक्सीमीटर, हाइपोक्लोराइट, ग्लब्स,औषधि आदि को रविवार को गांव के संक्रमितों को प्रदान की गई।

मंच के सक्रिय युवाओं ने गांव में सैनिटाइज भी किया। मंच के महासचिव मनोहर शर्मा ने प्रकाश डालते हुए छोटाटिंगलिंग जैसे दुर्गम गांव में अभी तक ना तो कोई राजनीतिक दल ना ही कोई भी गैर राजनैतिक संस्था की ओर से राहत उुपलब्ध कराई गई। वी स्याल ओवर कम द्वारा विविध सामग्री प्रदान करके छोटाटिंगलिंगवासियों ने संगठन के महासचिव मनोहर शर्मा के प्रति आभार व्यक्त किया। आज सम्पूर्ण गांव में सैनिटाइज करते हुए कोविड पॉजिटिव को उक्त सामग्री प्रदान की गई। कोविड पॉजिटिव के पक्ष में मंच के कोषाध्यक्ष कैलाश खवास ने ओवरकम के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि , ऐसी स्थिति में अगर कोई किसी की खबर लेता है तो वह बहुत बड़ी बात है। (फोटो :छोटाटिंगलिंग के ग्रामीणों सामग्री बांटते प्रगतिशील नागरिक मंच के पदाधिकारी )

-----------------

नयी बस्ती के जरूरतमंदों को बांटी खाद्य सामग्री

इंडियन रेडक्रास सोसाइटी मिरिक महकमा समिति की ओर से निर्धनों को दी गई राहत

संसू. मिरिक: इंडियन रेडक्रास सोसाइटी मिरिक महकमा समिति ने रविवार को नक्सलबारी अन्तर्गत नयी बस्ती के जरुरतमंदों को खाद्य सामग्री प्रदान की गई। यह जानकारी सोसाइटी के सचिव बिमल लेप्चा ने देते हुए बताया कि , महामारी के समय में ग्रामीण क्षेत्र के विपन्न लोगों को खाद्यान्न का अभाव न हो इसके मद्देनजर ही रविवार को सोसाइटी की ओर से जरूरतमंदों को राहत स्वरूप खाद्य सामग्री वितरित की गई। उन्होने आगामी दोनो मे अन्य स्थानो मे भि आवश्यकता अनुसार खाद्यान्न सहयोग स्वरूप पहुंचाने की जानकारी दी। खाद्यान्न वितरण कार्यक्रम में सचिव बिमल लेप्चा समेत दीप्ती भण्डारी, कर्म शेर्पा व अन्य लोग मौजूद थे।

(फोटो: नक्सलबारी की नई बस्ती में खाद्य सामग्री के साथ रेडक्रास सोसाइटी मिरिक महकमा समितिके प्रतिनिधि )

----------------

आदिवासी विकास बोर्ड के चेयरमैन पद से बिरसा तिर्की को हटाया जाए

--

-वर्ष 2018 में मुख्यमंत्री द्वारा गठित बोर्ड का चेयरमैन बने बिरसा तिर्की कोलकाता में रह रहे

-आदिवासियों के विकास के लिए किसी युवा को चेयरमैन बनाया जाए

-----------

संसू. मिरिक: गोरखालैंड क्षेत्रीय प्रशासन क्षेत्र में रहने वाले आदिवासियों के पक्ष में आदिवासी महासंघ के सचिव एनेम भेंग्रा ने आदिवासी विकास बोर्ड के चेयरमैन बिरसा तिर्की को चेयरमैन पद से हटाने की मांग राज्य सरकार से किया है। रविवार को तराई के लोहागढ़ में आयोजित पत्रकार सम्मेलन में आदिवासी महासंघ के सचिव एनेम भेंग्रा ने कहा कि , आदिवासी विकास बोर्ड का गठन वर्ष 218 में मुख्यमंत्री किया था और बिरसा तिर्की को चेयरमैन बनाया लेकिन बोर्ड गठन के बाद से अब तक एक बार भी चेयरमैन बिरसा तिर्की ने ना तो जीटीए -तराई क्षेत्र नही डुवार्स क्षेत्र के आदिवासियों के हित में कोई कार्य किया। चेयरमैन होने के बाद से वह कोलकाता में ही रह रहे हैं। कोलकाता में रहने वाले चेयरमैन यहां के आदिवासियों के हित में क्या काम करेंगे। सचिव एनेम भेंग्रा ने कहा कि , हमे बिरसा तिर्की से किसी भी तरह की आदिवासियों के हित की उम्मीद भी नहीं है। आदिवासी विकास बोर्ड बनाने के लिए जीटीए और तराई क्षेत्रके आदिवासियों ने राज्य सरकार से कितनी मांग की इसकी जानकारी हम सबको है मगर बिरसा तिर्की इससे अनभिज्ञ हैं । महासंघ के सचिव एनेम भेंग्रा ने स्पष्ट लहज मे कहा कि अब समय आ गया है कि , आदिवासी विकास बोर्ड के चेयरमैन पद से बिरसा तिर्की को हटाकर जीटीए क्षेत्र हो या तराई डुवार्स क्षेत्र के शिक्षित आदिवासी युवाको चेयरमैन बनाना चाहिए । उन्होने कहा कि आदिवासी समुदाय के विकास के लिए गठित बोर्ड से अबतक अधिकांश आदिवासियों का विकास होना चाहिए पर ऐसा नहीं हो सका। जब कि मुख्यमंत्री द्वारा गठित अन्य विकास बोर्ड ने अपने समुदाय के हित में काफी कार्य किया है। परन्तु आदिवासी विकास बोर्ड अस्तित्व में आने पर भी विकास न होना व चेयरमैन का गायब रहना इससे बड़ी विडम्बना और क्या हो सकती है। भेंग्रा ने किसी भी सूरत में आदिवासी समुदाय के हित में काम न करने वाले बिरसा तिर्कीको चेयरमेन पद से हटाने की माग मुख्यमंत्री से करते हुए किसी नए को चेयरमेन बनाने की मांग की ताकि आदिवासियों का विकास तेजी से हो सके। उन्होने राज्य मे तीसरी बार मुख्यमंत्री बनने पर ममता बनर्जी को बधाई देते हुए तथा डुवार्स के माल महकमा से विधायक बने बुलुचिक बराईक को राज्य के जनजाति मंत्री बनाने पर आभार व्यक्त किया है । (फोटो:तराई के लोहागढ़ मे संवाददाताओं से वार्ता करते आदिवासी महासंघ के सचिव एनेम भेंग्रा व अन्य )

-------------

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.