पूसी रेल क्षेत्र में लगेंगे छह ऑक्सीजन प्लांट

-एनजेपी रेलवे अस्पताल का सूची में नहीं है नाम -उत्तर बंगाल में एक मात्र नाम अलीपुरद्वार का 1.इ

JagranTue, 18 May 2021 10:15 PM (IST)
पूसी रेल क्षेत्र में लगेंगे छह ऑक्सीजन प्लांट

-एनजेपी रेलवे अस्पताल का सूची में नहीं है नाम

-उत्तर बंगाल में एक मात्र नाम अलीपुरद्वार का

1.इस समय पूरे देश में 4 ऑक्सीजन संयंत्र कार्य कर रहे हैं, 52 को मंजूरी दी जा चुकी है और 30 प्रसंस्करण के विभिन्न चरणों में हैं 2.पूर्वोत्तर सीमा रेल ने अपने अस्पतालों में 6 ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित करने की योजना बनाई है,हांलाकि इसमें एनजेपी रेलवे अस्पताल शामिल नहीं है 3. इन्वेसिव वेंटिलेटर जोड़े गए हैं और उनकी संख्या 62 से बढ़ाकर 296 कर दी गयी है 4. महाप्रबंधकों को और अधिकार दिए गए हैं, वे हर मामले में दो करोड़ रुपए तक की लागत के साथ ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्रों को मंजूरी दे सकते हैं जागरण संवाददाता,सिलीगुड़ी:

भारतीय रेल कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में कोई कसर नहीं छोड़ रही है। वह एक तरफ ऑक्सीजन से लदी ऑक्सीजन एक्सप्रेस को तेजी से अलग-अलग हिस्सों में पहुंचा रही है, वहीं दूसरी ओर यात्री और माल ढुलाई की आवाजाही जारी है। भारतीय रेल ने अपनी आतरिक चिकित्सा सुविधाओं को भी चाक-चौबंद कर लिया है। पूरे भारत में 86 रेलवे अस्पतालों में व्यापक क्षमता वृद्धि की योजना है। 4 ऑक्सीजन संयंत्र काम कर रहे हैं, 52 को मंजूरी दे दी गयी है और 30 प्रसंस्करण के विभिन्न चरणों में हैं। सभी रेल कोविड अस्पतालों को ऑक्सीजन संयंत्रों से लैस किया जाएगा। पूर्वोत्तर सीमा रेल क्षेत्र के मालीगाव, कटिहार, न्यू बंगाईगांव, अलीपुरद्वार, लामडिंग तथा डिब्रुगढ़ स्थित रेलवे अस्पतालों में 6 ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित करने की योजना है। हांलाकि इसमें एनजेपी स्थिति रेलवे अस्पताल का नाम शामिल नहीं है। उत्तर बंगाल में एक मात्र अलीपुरद्वार को ही इस सूची में शामिल किया गया है। चार मई 2021 को जारी निर्देश के अंतर्गत महाप्रबंधकों को और अधिकार दिए गए हैं, वे हर मामले में दो करोड़ रुपए तक की लागत के साथ ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्रों को मंजूरी दे सकते हैं। बहुत सारे उपाय किए गए हैं। कोविड के इलाज के लिए बिस्तरों की संख्या 2539 से बढ़ाकर 6972 कर दी गयी है। कोविड अस्पतालों में आईसीयू बिस्तरों की संख्या 273 से बढ़ाकर 573 कर दी गयी है। पूर्वोत्तर सीमा रेल में, कोविड संक्रमित मरीजों के उपचार के लिए कोविड केयर अस्पतालों में 354 बिस्तरों की व्यवस्था की गई है। इन्वेसिव वेंटिलेटर जोड़े गए हैं और उनकी संख्या 62 से बढ़ाकर 296 कर दी गयी है। रेल अस्पतालों में महत्वपूर्ण चिकित्सा उपकरण जैसे बीआईपीएपी मशीन, ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर, ऑक्सीजन सिलेंडर आदि की सुविधा जोड़ने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। भारतीय रेल ने यह भी निर्देश जारी किया है कि कोविड प्रभावित कर्मचारियों को पैनल में शामिल अस्पतालों में जरूरत के अनुसार रेफरल आधार पर भर्ती किया जा सकता है। सीपीआरओ शुभानन चंदा ने बताया कि रेलवे अस्पतालों में इस विशाल क्षमता वृद्धि से चिकित्सा आपात स्थितियों से निपटने के लिए बेहतर बुनियादी ढाचे की शुरुआत करने में मदद मिलेगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.