मोदी ने बिगाड़ा था मलय का चुनावी माहौल, बनाने आ गई अमीषा, रोड शो में कोरोना के बीच युवाओं की पूरी की ख्‍वाहिशें

शिल्पांचल में उन्होंने इतने काम किए हैं कि बताने जाय तो सारा दिन गुजर जाएगा। उन्हें चाहने वालों से यही अनुरोध करेंगी कि मलय घटक का साथ दीजिए। अमीषा से गीत गाया और लोगों से गाने का अनुरोध किया कहो ना प्यार है मलय जी से।

Vijay KumarTue, 20 Apr 2021 09:32 PM (IST)
टीचर ट्रेनिंग स्कूल में सीटें दोगुनी होगी। हर घर में बिजली-पानी पहुंचाया जाएगा। ग्रामीण इलाकों में नल से जलापूर्ति होगी।

 अश्विनी रघुवंशी, आसनसोल : यह बंगाल का चुनाव है साहब...यहां बहुत कुछ देखने को मिलेगा। दो दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मलय दा का चुनावी माहौल खराब किया था। अभिनेत्री अमीषा पटेल अब मलय दा के लिए कहो ना प्यार है, कहलवाने आ गई। पहले अमीषा को ही निहार लेने दीजिए। फिर और बातें होंगी। इसके बाद आसनसोल स्टेशन के सामने चाय की चुस्की लेते हुए चिलीडांगा के सौरभ टोप्पो अमीषा को एकटक देखने लग गए। 42 साल की अमीषा खुले वाहन पर सवार थी। आसनसोल उत्तर से तृणमूल के उम्मीदवार मलय घटक और कुछ सुरक्षा गार्ड उनके साथ थे। गुलाबी गाल तो पोशाक भी गुलाबी। हल्के बैगनी रंग का मास्क और हाथों पर काले रंग का दस्ताना। कुछ युवाओं ने मास्क उतारने के लिए जोर से अनुरोध किया तो अमीषा ने उन्हें निराश नहीं किया। हां, दिमाग में कोरोना से बचाव का ख्याल था। रह-रह कर सुरक्षा गार्ड से सैनिटाइजर लेती थी। सर से पांव तक खुद को सैनिटाइज कर लेती। अमीषा के लिए लोगों का आकर्षण देख बूढ़े हो चुके श्रम एवं कानून मंत्री मलय घटक की भी चुनावी उम्मीदें जवां हो गई। दावा किया, जरूर जीतेंगे।

खुद गीत गाया और लोगों से गाने का अनुरोध किया

कहो ना प्यार है, गदर एक प्रेम कथा, भूल भुलैया, हमराज जैसी मूवी के जरिए लोगों के दिलों में जगह बन चुकी अमीषा मंगलवार की शाम पौने पांच बजे रेल पार के धाधका में महंगू साव मोड़ पर आई। वहां तृणमूल कांग्रेस की चुनावी सभा थी। शायद ही लोग जानते होंगे कि अमीषा कांग्रेस के महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष रह चुके रजनी पटेल की पोती हैं। मनीषा को माइक थमा दिया गया। शुरुआती लड़खड़ाहट के बाद अमीषा बोली कि मलय घटक ने आसनसोल में सीबीआइ न्यायालय बनवा दिया। आसनसोल को जिला बनवाया। जिला अस्पताल को सुपर स्पेशलियटी अस्पताल की सारी सुविधाओं से युक्त किया। काजी नजरुल विश्वविद्यालय का निर्माण कराया। शिल्पांचल में उन्होंने इतने काम किए हैं कि बताने जाय तो सारा दिन गुजर जाएगा। उन्हें चाहने वालों से यही अनुरोध करेंगी कि मलय घटक का साथ दीजिए। अमीषा से गीत गाया और लोगों से गाने का अनुरोध किया, कहो ना प्यार है मलय जी से।

हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन कर रही थी अमीषा

चुनावी सभा खत्म हुई तो फिर शुरू हुआ अमीषा का रोड शो। सवा पांच बजे मलय घटक के साथ अमीषा खुले वाहन पर सवार हुई। शफी मोड़ होते हुए कारवां आसनसोल स्टेशन की तरफ मुड़ गया। सड़क के दोनों तरफ कोई मोबाइल से अमीषा की तस्वीर ले रहा था कोई वीडियो बनाने में व्यस्त। अमीषा हाथ हिला-हिला कर लोगों का अभिवादन कर रही थी। उनके वाहन के आगे ढोल-नगाड़े बज रहे थे। खेला होबे का चुनावी गीत भी कुछ जगहों पर बजाया गया जिस पर युवाओं की टोली थिरकी भी। आसनसोल बाजार पार करने के बाद जीटी रोड के सामने रोड शो खत्म हुआ। जीटी रोड के सामने सरकारी शिक्षक ने उन्हें प्रमाण किया। बोले कि अमीषा का अर्थ है, सुंदर, शुद्ध, सच्चा एवं निष्कपट। जैसा नाम, आप बिल्कुल वैसी हो। अमीषा मुस्कुरा दी, हाथ जोड़े और दुपट्टा संभालते हुए होटल हिंदुस्तान के लिए निकल गई।

अमीषा की मौजूदगी में लगा दी चुनावी वायदों की झड़ी

अमीषा पटेल की जुबान से गीत सुनने के बाद मलय घटक बेहद उत्साहित दिखे। उन्होंने चुनावी वायदे की झड़ी लगा दी। बोले कि भाजपा ने जो बोलती है, वो कभी नहीं करती है। ममता दीदी जो आज तक जो बोली है, वो की है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में ममता दीदी ने सबको राशन दिया। मुफ्त में कोरोना का इलाज कराया। उस वक्त आसनसोल के सांसद कहीं नहीं दिखे। संकट की घड़ी में दीदी के साथ टीएमसी के लोग साथ थे। मोदी जी कभी घंटा बजवाते रहे, कभी दीया जलवाते रहे। उन्हें जवाब देना चाहिए कि ऐसा क्यों कराया था। आम लोगों को सिर्फ भ्रमित किया गया था। उन्होंने कहा कि 2014 और 2019 में आसनसोल के साथ देश भर में भाजपा की जीत हुई। आसनसोल में क्या हुआ। बताइए। 

टीचर ट्रेनिंग स्कूल में सीटों की संख्या दोगुनी होगी

उन्होंने कहा कि तीसरी बार दीदी सीएम बनेंगी। हर साल पांच लाख लोगों को रोजगार दिया जाएगा। 1.60 करोड़ परिवार को हरेक माह 500 रुपये दिए जाएंगे। अनसूचित जाति एवं जनजाति के परिवारों को एक हजार रुपये मिलेंगे। योग्य विद्यार्थियों को सिर्फ 4 प्रतिशत के ब्याज पर स्टूडेंट्स क्रेडिट कार्ड दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि बंगाल के डेढ़ करोड़ परिवारों को अब राशन लेने के लिए दुकानों पर नहीं जाना होगा। घर पर ही राशन दिया जाएगा। डॉक्टर, पारा मेडिकल स्टाफ और नर्स की बहाली होगी। उनकी संख्या बढ़ेगी। सभी जिलों में सुपर स्पेशलियटी अस्पताल खुलेंगे। प्रत्येक प्रखंड में मॉडल आवासीय स्कूल बनेगा। टीचर ट्रेनिंग स्कूल में सीटों की संख्या दोगुनी होगी। हर घर में बिजली और पानी पहुंचाया जाएगा। ग्रामीण इलाकों में नल से जलापूर्ति होगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.