दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

मुख्यमंत्री के संबोधन का एसकेएम ने किया स्वागत व समर्थन

मुख्यमंत्री के संबोधन का एसकेएम ने किया स्वागत व समर्थन

एसकेएम के प्रवक्ता द्वय बोले- -बिना व्यवस्था परिवर्तन विकास सम्भव नहीं -पूर्व सीएम अपने कार्यकाल में

JagranMon, 19 Apr 2021 09:18 PM (IST)

एसकेएम के प्रवक्ता द्वय बोले:-

-बिना व्यवस्था परिवर्तन विकास सम्भव नहीं

-पूर्व सीएम अपने कार्यकाल में क्या क्या कहते थे क्या उन्हें याद नहीं

-विभागीय प्रमुखों की लेटलतीफी पर सीएम की नाराजगी जायज

-राज्य प्रशासन में कार्य संस्कृति विकसित करने के लिए सरकार सख्त ही नहीं बल्कि गंभीर भी

-----------

संसू.गंगटोक : पिछले दिनों पूर्व मुख्यमंत्री पवन चामलिंग द्वारा लगाए आरोप के जवाब में राज्य में सत्तारूढ़ पार्टी एसकेएम ने सीएम पीएस तामांग के संबोधन का स्वागत व समर्थन किया है। इस संबंध में सोमवार को यहां एसकेएम मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन आयोजित किया गया। जहां एसकेएम के प्रवक्ता द्वय सीपी शर्मा व प्रवक्ता जैकब खालिंग ने मुख्यमंत्री के संबोधन का समर्थन व स्वागत किया। विदित हो कि डा. बीआर आंबेडकर जयंती पर मुख्यमंत्री पीएस गोले द्वारा दिए गए वक्तव्य की पूर्व सीएम व एसडीएफ सुप्रीमो पवन चामलिंग ने आतंककारी की संज्ञा दी थी। उल्लेखनीय है कि आंबेडकर जयंती पर सरकारी विभागीय प्रमुखों के कार्यालय में गैरहाजिरी को लेकर सीएम पीएस गोले ने नाराजगी जताते हुए समयनिष्ठ होने को कहा था तथा ऐसा न करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की चेतावनी दी थी।

प्रवक्ता सीपी शर्मा ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री पवन चामलिंग को सरकार पर आरोप लगाने से पहले अपने कार्यकाल को भी देखना चाहिए। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री चामलिंग जब सत्ता में थे उस समय वह क्या क्या कहते थे क्या उन्हें याद नहीं है।

एसकेएम प्रवक्ता द्धय ने कहा कि वर्तमान सरकार सामाजिक परिवर्तन, आíथक परिवर्तन के साथ साथ अब प्रशासनिक व व्यवस्था परिवर्तन की दिशा में काम कररही है। उन्होंने कहा बिना व्यवस्था परिवर्तन विकास सम्भव नहीं है।

प्रवक्ता जैकब खालिंग ने कहा कि मुख्यमंत्री गोले ने जो भी कुछ कहा वह निजी हित अथवा निजी लाभ के लिए नहीं बल्कि जनहित में उठाए गए सही कदम हैं। उन्होंने आगे कहा, राज्य की जनता सरकारी कार्यालयों की कार्यपद्धति से त्रस्त है। मुख्यमंत्री पुरानी पद्धति में बदलाव करते हुए पारदर्शी व्यवस्था लाने के प्रयासरत हैं। उन्होंने राज्य के सरकारी कर्मियों से आह्वान किया कि वह सीएम गोले द्वारा दिए गए निर्देशों को सकारात्मक रूप में सहजता से स्वीकार करें।

जैकब खालिंग ने कहा, कर्तव्यनिष्ठ कर्मियों को मुख्यमंत्री के आह्वान से प्रसन्नता हुई है। लेकिन कतिपय कुछ बढ़े ओहदे पर पदासीन अधिकारी परेशान हैं। जब कि ईमानदारी कर्मी खुश हैं कि उनके साथ इंसाफ हुआ है।

मुख्यमंत्री गोले के संबोधन को आतंककारी कहनेवाले पवन चामलिंग पर प्रवक्ता खालिंग ने कहा कि सत्ताच्युत होने के बाद फिर से सत्ता के लिए पूर्व सीएम इस तरह के आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा, एसकेएम अन्याय और अत्याचार से त्रस्त जनता के लिए देवदूत है, और जनता के पक्ष में शुरू हुआ अभियान रूकेगा नहीं। उन्होंने कहा कि हम केवल सरकार की कुर्सी प्रयोग करने नहीं बल्कि सिक्किम में जनहित में काम करने आए हैं। वर्तमान सरकार राज्य प्रशासन में कार्य संस्कृति का विकास करने के लिए और पहल करेगी। इसके लिए सरकार सख्त ही नहीं बल्कि गंभीर भी है। उन्होंने जनता के काम के लिए सिवाय और कुछ विकल्प नहीं है कहा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.