चुनाव परिणाम बताएगा कितना मुस्लिम भाजपा के साथ

चुनाव परिणाम बताएगा कितना मुस्लिम भाजपा के साथ

-विधानसभा चुनाव में भाजपा ने उतारा है 11 मुस्लिम उम्मीदवार -छठे चरण के चुनाव को हिंसा म

JagranWed, 21 Apr 2021 05:22 PM (IST)

-विधानसभा चुनाव में भाजपा ने उतारा है 11 मुस्लिम उम्मीदवार

-छठे चरण के चुनाव को हिंसा मुक्त कराना प्रशासन के लिए चुनौती

-भाजपा के लिए अपनी साख बचाने की अग्निपरीक्षा

-लगी सभी सीमाओं पर बरती जा रही है चौकसी

जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी

सूबे में छठ चरण का चुनाव गुरुवार को होना है। इसके लिए उत्तर बंगाल के उत्तर दिनाजपुर के नौ विधानसभा सीटों पर चुनाव होगा। जहां प्रशासन को शांतिपूर्ण चुनाव कराने की चुनौती है वहीं भाजपा के लिए लोकसभा के परिणाम को दोहराने के लिए साख दांव पर लगी है।

तीन लोकसभा सीटों में नौ विधानसभा

चोपड़ा, इसलामपुर, ग्वालपोखर, चाकुलिया, करणदीघि, हेमताबाद, कालियागंज, राजगंज और इटाहार विधानसभा में वोटिंग होगी। यह तीन लोकसभा क्षेत्र में आते है।

2016 में यह था परिणाम

2016 में इन 9 विधानसभा सीटों पर टीएमसी और वामपंथी और काग्रेस में ही सीधा मुकाबला था। इस दौरान टीएमसी को सात सीटें मिली थी जबकि काग्रेस का तीन सीटों पर कब्जा था। वामपंथी पार्टियों माकपा और फारवार्ड ब्लॉक को एक- एक सीट मिली थी। भाजपा को इस दौरान एक भी सीट हासिल नहीं पायी थी। मगर, ठीक इसके विपरीत 2019 लोकसभा चुनाव में इन सीटों का समीकरण अलग था। तीनों ही लोकसभा सीटों पर भाजपा ने अपना कब्जा जमाया था। चोपड़ा विधानसभा जो दार्जिलिंग संसदीय क्षेत्र का हिस्सा है। यहां से 2016 में टीएमसी के हमीदुल रहमान ने माकपा के अक्रामुल हक को 16,860 वोटों से हराया था।

चोपड़ा व ग्वालपोखर में भाजपा ने उतारा है मुस्लिम उम्मीदवार

छठे चरण में चोपड़ा सीट से बीजेपी ने मोहम्मद शाहीन अख्तर, तृणमूल कांग्रेस ने हमीद उल रहमान और संयुक्त मोर्चा ने अनवारुल हक को चुनावी मैदान में उतारा है। इस्लामपुर से बीजेपी ने डॉ. सौम्य रूप मंडल, तृणमूल कांग्रेस ने अब्दुल करीम चौधरी और संयुक्त मोर्चा ने सदीकुल रहमान पर दाव खेला है। गोआलपोखर से बीजेपी ने गुलाम सरवर, टीएमसी ने मो. गुलाम रब्बानी और संयुक्त मोर्चा के काग्रेस ने मसूद नसीम एहसान को टिकट दिया है। चाकुलिया से बीजेपी ने डॉ. सचिन प्रसाद, तृणमूल कांग्रेस ने मिंहाज उल आफरीन आजाद और संयुक्त मोर्चा से फारवार्ड ब्लॉक ने अली इमरान रमीज को उम्मीदवार बनाया है। करनदीघी से भाजपा ने ने सुभाष सिन्हा, तृणमूल कांग्रेस ने गौतम पाल और संयुक्त मोर्चा से फारवार्ड ब्लॉक ने हफीज उल इकबाल को टिकट दिया है। हेमताबाद से भाजपा ने चंद्गिमा राय, टीएमसी ने सत्यजीत बर्मन और संयुक्त मोर्चा ने भूपेंद्रनाथ बर्मन को कैंडिडेट बनाया है। कालियागंज से भाजपा ने सौमेन राय, टीएमसी ने तपन देव सिंघा और संयुक्त मोर्चा के काग्रेस ने प्रभाष सरकार को चुनावी मैदान में उतारा है. रायगंज से भाजपा ने कृष्णा कल्याणी, टीएमसी ने कन्हैया लाल अग्रवाल और संयुक्त मोर्चा के काग्रेस ने मोहित सेनगुप्ता को टिकट दिया है और इटाहार से बीजेपी ने अमित कुमार कुण्डू, टीएमसी ने मुशर्रफ हुसैन और संयुक्त मोर्चा के लेफ्ट ने श्रीकुमार मुखर्जी पर दाव लगाया है।

मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र में भाजपा की अग्निपरीक्षा

चोपड़ा विधानसभा क्षेत्र में 67 फीसद से अधिक अल्पसंख्यक मतदाता हैं। यही कारण है कि हर पार्टी ने अल्पसंख्यक उम्मीदवार दिया है। भाजपा ने 2021 के विधानसभा चुनाव में11 मुसलमान उम्मीदवार देकर मुस्लिम पहुंचने का हौसला बनाया है। भाजपा पिछले कुछ वर्षो में जिस तरह से तृणमूल काग्रेस ने अल्पसंख्यकों के लिए काम किया है उसे अब तुष्टीकरण का जवाब देना मुश्किल पड़ रहा है।

क्या कहते है भाजपा नेता

दाíजलिंग के सासद व राष्ट्रीय प्रवक्ता राजू बिष्ट का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कहना है कि मुसलमानों के खिलाफ बंगाल में जो हुआ है, वह चिंता का विषय है। वे कटमनी, उत्पीड़न और यहा तक कि टीएमसी के शिकार भी रहे हैं। यह देखकर आश्चर्य होगा कि मुसलमानों का प्रतिशत बहुत अधिक होगा जो बीजेपी को वोट देंगे। हमें मुसलमानों का समर्थन मिलने का भरोसा है। चोपड़ा में भी टीएमसी और उनके उम्मीदवार की यातना क्षेत्र में हिंदू की हत्या के लिए जिम्मेदार रही है और टीएमसी की वजह से पूरे समुदाय पर अत्याचार हुआ है। हम लोगों को जय श्रीराम का जाप करने या न करने के लिए मजबूर नहीं करते हैं। यह हमारी संस्कृति है और हम इसका पालन करेंगे। लेकिन ममता बनर्जी नरेंद्र मोदी की तरह ही इसका पालन नहीं करतीं। हम लोगों को अपने धर्म पर एक स्टैंड लेने के लिए नहीं कहते हैं। हम उन्हें अपने धर्म का पालन करने की अनुमति देते हैं।

हिंसा रोकना चुनौती,सुरक्षा के व्यापक इंतजाम

यह पूरा क्षेत्र ही बांग्लादेश व बिहार सीमांत है। चुनाव में गड़बड़ी फैलाने का मंसूबा पाले अपराधियों की इस बार खैर नहीं है। अंतिम तीन चरणों के चुनाव में सीमा पार से कोई अराजक तत्व चुनाव में किसी प्रकार की गड़बड़ी ना फैला सके इसके लिए भारत-बाग्लादेश सीमा पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) पूरी तरह अलर्ट है। अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे अधिकतर संवेदनशील विधानसभा क्षेत्रों में छठे और सातवें चरण में ही मतदान है। उससे पहले बीएसएफ की सूचना पर सीमावर्ती क्षेत्र में सक्रिय 80 अपराधियों को पहले ही पकड़ लिया गया है।

बीएसएफ के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के प्रवक्ता व डीआइजी सुरजीत सिंह गुलेरिया ने बताया कि इन अपराधियों की सूची पहले ही पुलिस को सौंपी गई थी। इसके बाद पुलिस ने इन अपराधियों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया है। गौरतलब है कि इससे पहले हर चुनाव में कथित तौर पर सीमा पार से व सीमावर्ती क्षेत्र में सक्रिय अपराधी गड़बड़ी फैलाते रहे हैं। लेकिन इस बार बीएसएफ ने पहले ही उन पर नकेल कस कर रख दिया है। इसके साथ ही इस समय अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पेट्रोलिंग भी काफी बढ़ा दी गई है। बीएसएफ डीआइजी ने बताया कि चुनाव के मद्देनजर सीमा पर हम अतिरिक्त सतर्कता बरत रहे हैं। हमारे जवान दिन- रात 24 घटे कड़ी निगरानी रख रहे हैं। पुलिस के अधिकारियों का भी कहना है कि सभी प्रकार की तैयारी की गयी है। गड़बड़ी नहीं होने दी जाएगी।

क्या कहते है तृणमूल कांग्रेस उम्मीदवार

सिलीगुड़ी महकमा से सटे चोपड़ा विधानसभा क्षेत्र से तृणमूल काग्रेस के उम्मीदवार हमीदुल रहमान का कहना है कि हम हिन्दू और मुस्लिम में विश्वास नहीं करते। भाजपा जैसी पार्टी है जो एक मुस्लिम लड़के से प्यार करने वाली लड़कियों को मारकर ऐसी मुसीबतें खड़ी करना चाहती है। तृणमूल कांग्रेस नेताओं ने दिशा बदलने और क्षेत्र में शाति लाने के लिए अपने स्तर पर पूरी कोशिश की है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.