वैक्सीन की दोनों डोज, आरटीपीसीआर जांच या रैपिड जांच जरूरी: सीएमओएच

-ऑक्सीजन प्लाट का निर्माण बारिश की वजह से विलंबित 15 अगस्त तक पूर्ण हो जाएगा -वैक्सीन देने के

JagranFri, 30 Jul 2021 08:02 PM (IST)
वैक्सीन की दोनों डोज, आरटीपीसीआर जांच या रैपिड जांच जरूरी: सीएमओएच

-ऑक्सीजन प्लाट का निर्माण बारिश की वजह से विलंबित ,15 अगस्त तक पूर्ण हो जाएगा

-वैक्सीन देने के लिए डीएम के निर्देश पर प्लाट्स वर्कर्स को भी प्राथमिकता, दार्जिलिंग में सबको नहीं लगी है वैक्सीन

- नपा की ओर से बृहस्पतिवार को संपूर्ण बाजार बंद कर सैनिटाइज किया जा रहा

-शहरी क्षेत्र की बजाय बागान क्षेत्र से संक्रमित अधिक मिल रहे

-बागान क्षेत्र के लोग मास्क के प्रति लापरवाह

-दार्जिलिंग में डेल्टा वैरिएंट पीड़ित एक मरीज मिला

----------------

संवाद सूत्र, दार्जिलिंग: दार्जिलिंग पार्वत्य क्षेत्र पर्यटन स्थल है। यह बात सही है मगर बाहर से यहां आने वाले पर्यटकों अथवा अन्य लोगों के पास वैक्सीन की दोनों डोज, आरटीपीसीआर जांच या रैपिड जांच की रिपोर्ट होना अनिवार्य है। यह मंतव्य शुक्रवार को दाíजलिंग जिला अस्पताल के सुपरिटेंडेंट शुभाशीष चंद्र ने दी। डेल्टा प्लस व यूके वेरिएंट के दाíजलिंग जनपद में 5 मरीज मिले हैं जिनमें से एक मरीज पहाड़ का है।

विदित हो कि दाíजलिंग पर्यटन स्थल है यहा के बहुतायत लोग पर्यटन व्यवसाय पर आश्रित हैं इसकी वजह यहां बहुतायत में पर्यटक आते हैं। मगर कोविड-19 जैसी महामारी फैलने से पर्यटन व्यवसाय प्रभावित हुआ है साथ ही महामारी से बचाव के लिए बाहर से आने वाले लोगों के लिए तीन महत्वपूर्ण बिन्दु सुनिश्चित किए गए हैं। इनमें वैक्सीन की दोनों डोज, 72 घंटे के अंदर की आरटी पीसीआर जांच रिपोर्ट अथवा रैपिड टेस्ट 48 घटे के भीतर का इन तीनों जाच में से कोई एक होना अनिवार्य है। वरना महामारी थमने के बजाय फैलने का अंदेशा अधिक हो जाएगा। उन्होंने बताया कि बहुत से पर्यटक रैपिड जांच के लिए यहा आते हैं हमने कितनों की जांच की मगर हमारे पास सीमित मात्रा में रैपिड किट हैं जो स्थानीय लोगों की जरूरत पर इस्तेमाल की जा सकती है। यदि रैपिड जांच सिमुलबरी में हो तो बेहतर है। पिछले दिनों बहुत से पर्यटकों को जांच रिपोर्ट नहीं होने पर वापस भेजा गया। उन्होंने बताया कि अभी वैक्सीन की कमी है दाíजलिंग में सबको वैक्सीन नहीं लगी है। प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीनेशन का काम चल रहा है। उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर सर्वप्रथम

प्लाट्स वर्कर्स को भी प्राथमिकता दी जा रही है। उन्होंने बताया कि ऑक्सीजन प्लाट का निर्माण बारिश की वजह से विलंबित हो रहा फिर भी 15 अगस्त तक निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा उसके बाद प्लाट लाया जाएगा उन्होंने बताया यहा एक्स-रे मशीन एक ही होने के कारण सुबह 10:00 बजे से 2:00 बजे तक सामान्य मरीज का एक्सरे होता है और 2:00 बजे से 4:00 बजे तक कोरोना संक्रमित का एक्सरे हो रहा है उसके बाद पूरी तरह से सैनिटाइज किया जाता है। मगर अब पोर्टेबल एक्सरे मशीन आ गयी है उसे जल्द ही कोरोना वार्ड में लगाया जाएगा

उन्होंने बताया कि टाउन से अधिक केस कमान बस्ती से आ रहे हैं इसकी मुख्य वजह बाजार में तो 90 फीसद लोग मास्क लगाते हैं परंतु कमान बस्ती के लोग मास्क का प्रयोग बहुत कम करते हैं। पिछले दिनों कहा गया था कि तीसरी लहर नार्थ बंगाल से शुरू हो सकती है इसके मद्देनजर प्रशासन काफी सतर्क हो गया है जगह-जगह नाका प्वाइंट लगाकर जांच की जा रही है और नगर पालिका की ओर से बृहस्पतिवार को संपूर्ण बाजार बंद कर सैनिटाइज किया जा रहा है। लोगों में जागरूकता लाने के लिए प्रशासन द्वारा माइकिंग भी की जा रही है।

----------

(फोटो)

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.