top menutop menutop menu

West Bengal: भारी मात्रा में शराब बरामद, चालक गिरफ्तार

संवाद सूत्र, जयगांव, (अलीपुरद्वार)। Arrested With Alcohol. बिहार में शराबबंदी के बाद से ही शराब तस्कर विभिन्न तरह से पड़ोसी राज्य के रास्ते बिहार की विभिन्न जगहों में शराब भेजने के तरीके खोजते रहते हैं। इसी क्रम में अरुणाचल प्रदेश से पश्चिम बंगाल के रास्ते होते हुए एक कंटेनर में छुपा कर गैर कानूनी तरीके से शराब को बिहार ले जाने की तस्करों की योजना को जयगांव थाना के हासीमारा आउट पोस्ट की पुलिस ने असफल कर दिया।

जानकारी के मुताबिक, होली के अवसर पर हासीमारा पुलिस के द्वारा चलाए जा रहे शराब तस्‍करी के खिलाफ अभियान में पुलिस को एक बड़ी सफलता मिली। अरुणाचल प्रदेश से एक कंटेनर में छिपाकर गैरकानूनी ढंग से शराब की बड़ी खेप बिहार ले जाई जा रही थी। उसे हसीमारा पुलिस ने पकड़ा।

शराब की बड़ी खेप पकड़ जाने के बाद हासीमारा थाना में पुलिस की ओर से प्रेस कांफ्रेंस आयोजित की गई, जिसमें पत्रकारों से बातचीत करते हुए जयगांव पुलिस के एएसपी कुंतल बनर्जी ने बताया कि पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर शुक्रवार को हासीमारा काली बारी के पास नेशनल हाईवे 31 पर एक कंटेनर को पकड़ा है। इस दौरान पकड़े गए इस 10 चक्का कंटेनर ट्रक में छुपाकर गैरकानूनी तरीके से ले जाए जा रही 500 कार्टून शराब को जब्त किया। इस शराब का बाजार मूल्य करीब सात लाख रुपये आंका गया है। उन्होंने बताया कि इस दौरान ट्रक चालक को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। अदालत में पेश कर रिमांड में लेकर उससे पूछताछ की जाएगी।

गौरतलब है कि इससे पहले 10 फर्जी कंपनियां खोलकर जीएसटी से नकली बिलों के जरिए 80 करोड़ रुपये से अधिक की धोखाधड़ी करने के मामले में डायरेक्टर जनरल ऑफ जीएसटी इंटेलिजेंस की कोलकाता जोनल यूनिट ने दो लोगों को गिरफ्तार किया था। पता चला है कि नकली बिलों के जरिए उन लोगों ने इनपुट टैक्स क्रेडिट के नाम पर सरकार से करोड़ों का रिटर्न लिया था। इस रैकेट के तार कोलकाता समेत देश के कई शहरों से जुड़े होने की आशंका है। गिरफ्तार दोनों को सियालदह कोर्ट में पेश करने पर 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। इस रैकेट में और कौन-कौन शामिल हैं, इस बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।

बंगाल की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.