स्पेशल ट्रेन का तमगा हटा, लेकिन किराया वही

जागरण संवाददाता आसनसोल कोरोना महामारी में प्रथम लाकडाउन के बाद ट्रेन का परिचालन स्पेश्

JagranTue, 30 Nov 2021 11:10 PM (IST)
स्पेशल ट्रेन का तमगा हटा, लेकिन किराया वही

जागरण संवाददाता, आसनसोल :

कोरोना महामारी में प्रथम लाकडाउन के बाद ट्रेन का परिचालन स्पेशल ट्रेन के रूप में किया गया। मेल एक्सप्रेस एवं पैसेंजर ट्रेनों की नंबर के आगे स्पेशल ट्रेन का नंबर शून्य से हटाकर एक कर दिया गया। लेकिन अब स्पेशल ट्रेन का तमगा हटा दिया गया है। लेकिन अब भी स्पेशल ट्रेन की तरह वरिष्ठ नागरिकों, दिव्यांगों से किराया लिया जा रहा है। नौ दिन बाद भी किराया में इन उक्त यात्रियों को राहत नहीं मिली है।

मंगलवार को आसनसोल स्टेशन परिसर में उपस्थित दर्जनों वरिष्ठ नागरिकों, बुजुर्ग रेल यात्रियों ने बताया कि रेल प्रशासन के निर्देशानुसार वह लोग टिकट लेने के दौरान बुकिग काउंटर, आरक्षण काउंटर में कार्यरत कर्मियों से रियायत के लिए मांग करते है तो कर्मियों को कहते है कि सिस्टम में रियायत देने की पद्धति नहीं है। इस कारण रियायत नहीं मिलेगी। मजबूरन वे लोग पूरा राशि देकर टिकट लेने पर मजबूर है। कइयों ने कहा कि स्पेशल ट्रेन चलना बंद हो गई है, लेकिन आरक्षण टिकट के लिए भरे जानेवाली फार्म में अभी जिस जगह जाना है वहां का पूरा पता पिन कोड सहित मांगा जाता है। इससे विशेषकर मजदूर तबके के लोगों को दिक्कतें होती है। क्योंकि उनके लिए पता एवं पिन कोड नंबर देना संभव नहीं होता है एवं जो आरक्षण टिकट दो मिनट में हो जाता था, अब पांच मिनट लग जाता है। यात्रियों ने रेल प्रशासन से मांग की कि स्पेशल ट्रेनें बंद हो गई तो फिर गंतव्य स्थान का पता एवं पिन कोड नंबर लेना बंद होना चाहिए। इसके कारण यात्रियों को काफी परेशानियां हो रही है।

वर्तमान में दिव्यांग, विधार्थी एवं रोगियों को ही रेलवे में सफर करने के लिए रियायत मिलेगी : 21 नवंबर से स्पेशल ट्रेनों का परिचालन बंद कर पहले की तरह सभी ट्रेनों की परिचालन आरंभ किए जाने के साथ ही रेल मंत्रालय द्वारा यात्रियों को रियायत की घोषणा हुई। लेकिन यात्रियों को रियायत नहीं मिल रही है। इस संदर्भ में मंडल के वरिष्ठ वाणिज्य प्रबंधक शांतनु चक्रवर्ती ने कहा कि रेलवे बोर्ड से दिव्यांग, छात्र-छात्राओं एवं रोगियों को रियायत देने का निर्देश है। वर्तमान में वरिष्ठ नागरिकों एवं अन्य रियायत धारकों के लिए रियायत देने का निर्देश नहीं आया है। कोविड के दौरान जो यात्री जिस जगह जाएंगे वहां की पूरी जानकारी पता एवं पिन कोड नंबर के साथ देने को कहा गया था। वर्तमान में स्पेशल ट्रेन परिचालन बंद हो गया है, लेकिन रिजर्वेशन सिस्टम में उसे हटाया नहीं गया है। इस कारण पूरा विवरण देना पड़ रहा है। उन्होंने यात्रियों से आग्रह करते हुए कहा कि पहले की तरह ट्रेन चालू हो गई है, लेकिन कोविड खत्म नहीं हुआ है। सभी को निर्देशों का पालन करना चाहिए।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.