उत्‍तरकाशी में मकान पर गिरा पुश्ता, परिवार के तीन सदस्यों ने खिड़की तोड़कर बचाई जान

Uttarkashi Weather Update जिले में बारिश के चलते भूस्खलन से काफी नुकसान हुआ है। भूस्खलन से चुंगी बड़ेथी में पुश्ता टूटने से एक मकान के ऊपर मलबा गिर गया। इसके बाद मकान के तीन सदस्य खिड़की तोड़कर बाहर निकले। वहीं मानसौड़ को जोड़ने वाला पैदल रास्ता भी ध्वस्त हो गया।

Raksha PanthriWed, 28 Jul 2021 09:28 AM (IST)
उत्तरकाशी में आफत की बारिश, गंगोत्री-यमुनोत्री हाईवे जगह-जगह बाधित।

जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी। Uttarkashi Weather Update जिले में लगातार जारी बारिश के चलते भूस्खलन के चलते काफी नुकसान हुआ है। भूस्खलन से चुंगी बड़ेथी में पुश्ता टूटने से एक मकान के ऊपर मलबा गिर गया। इसके बाद मकान के तीन सदस्य खिड़की तोड़कर बाहर निकले। वहीं मानसौड़ को जोड़ने वाला पैदल रास्ता भी ध्वस्त हो गया। उधर, बारिश के कारण गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पांच स्थानों पर भारी भूस्खलन से बाधित हो गया, जिसे दोपहर में खोल दिया गया। हालांकि दोपहर एक बजे बंदरकोट में भूस्खलन के चलते गंगोत्री हाईवे फिर से बंद हो गया। वहीं यमुनोत्री हाईवे छह घंटे तक बाधित रहा। जिले में अभी 52 संपर्क मार्ग बंद पड़े हैं।

गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग सुबह चिन्यालीसौड़, पीपलमंडी, पुराना धरासू बाजार, बंदरकोट और नेताला के पास बंद हो गया, जिसे दोपहर में खोल दिया गया। इसके बाद बंदरकोट में भूस्खलन होने से फिर से हाईवे बंद हो गया। वहीं यमुनोत्री हाईवे खरादी के पास छह घंटे बाधित रहा। इसके अलावा गंगोत्री हाईवे पर चुंगी बड़ेथी के पास एक पुश्ता ढह गया। इससे एक मकान की छत का एक हिस्सा क्षतिग्रस्त हुआ। साथ ही शौचालय और किचन भी क्षतिग्रस्त हो गया। जबकि, दुर्गा प्रसाद उनियाल के मकान का गेट क्षतिग्रस्त हो गया, उनके मकान को भी खतरा हो गया है।

पुस्ता ढहने का कारण अधिक बारिश और जल संस्थान की लाइन लीकेज होना बताया जा रहा है। पहले भी स्थानीय ग्रामीणों ने जल संस्थान की छह इंच और तीन इंच की पेयजल लाइन का लीकेज बंद करने के लिए प्रशासन से मांग की थी। बारिश के कारण चुंगी बड़ेथी के पास बिजली का पोल भी क्षतिग्रस्त हुआ है, इससे बड़ेथी क्षेत्र में बिजली आपूर्ति ठप है। वहीं चुंगी बड़ेथी में चंद्रमणि नौटियाल के मकान पर भूस्खलन हुआ, उस समय वो पत्नी और साले के साथ कमरे में बैठकर चाय पी रहे थे। भूस्खलन के बाद उन्होंने खिड़की तोड़कर स्वयं के साथ पत्नी और साले को बाहर निकाला। उधर, उप जिलाधिकारी आकाश जोशी ने टीम समेत प्रभावित गांव का निरीक्षण कर नुकसान का जायजा लिया। प्रभावित परिवार को दूसरी जगह शिफ्ट कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें- Uttarakhand Weather Uppdate: उत्तराखंड में भारी बारिश का दौर जारी, सड़कें जलमग्न; नदी-नाले उफान पर

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.