कलक्ट्रेट में मास्क न पहनने वालों के चालान

कलक्ट्रेट में मास्क न पहनने वालों के चालान
Publish Date:Tue, 20 Oct 2020 04:32 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी: कोविड-19 से बचाव के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दिए मंत्र 'जब तक दवा नहीं तब तक ढिलाई नहीं' को लेकर सीमांत जनपद में प्रशासन आमजन को जागरूक कर रहा है। आमजन मास्क पहनें और जरूरी एहतियात का पालन करें, जिससे कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

कोरोना संक्रमण को फैलाने में सबसे बड़ी लापरवाही आमजन की है, जिसके कारण कोरोना संक्रमण शहर से लेकर गांव तक पहुंचा। कोरोना संक्रमण रोकने के लिए सभी मास्क पहने इसके लिए भी प्रशासन ने प्रयास किए। लेकिन, उसके बाद भी अधिकांश व्यक्ति बाजार में बिना मास्क के घूमते दिखे। यहां तक कि कलक्ट्रेट व अन्य विभागों में भी कर्मचारियों ने मास्क नहीं पहना था। जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने अनिवार्य रूप से मास्क पहनने के निर्देश सभी कर्मियों को दिए। साथ ही कलक्ट्रेट में मास्क न पहनने वालों के चालान भी किए। इसके अलावा पुलिस और स्वास्थ्य विभाग ने मिलकर बाजार में बिना मास्क पहनने वालों के चालान काटने शुरू कर दिए हैं। साथ ही उन व्यक्तियों के कोरोना जांच सैंपल भी लिए जा रहे हैं। इसके अलावा खाद्य आपूर्ति विभाग ने भी अपना आदेश जारी किया है कि जो मास्क पहनकर नहीं आएगा उसे गैस सिलेंडर नहीं दिया जाएगा।

50 हजार पहुंची सैंपलिग

जनपद में स्वास्थ्य विभाग की टीम लगातार सैंपलिग कर रही हैं। हर दिन चार सौ से लेकर पांच सौ के बीच सैंपलिग हो रही है। जनपद में मंगलवार तक 50 हजार से अधिक व्यक्तियों की सैंपलिग हो चुकी है। जिनमें 2508 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है और करीब 1494 नमूनों की रिपोर्ट आनी बाकी है। 2200 ठीक होकर उन्हें घर भेज दिया गया है और वर्तमान तक 233 कोरोना केस एक्टिव है। इनमें भी अधिकांश को होम आइसोलेसन में रखा गया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.