कबड्डी में रुद्रपुर स्पो‌र्ट्स स्टेडियम ने मारी बाजी

कबड्डी में रुद्रपुर स्पो‌र्ट्स स्टेडियम ने मारी बाजी

खेल महाकुंभ अंडर-21 बालिका वर्ग कबड्डी प्रतिस्पर्धा में रुद्रपुर स्पो‌र्ट्स स्टेडियम में खिलाड़ियों ने दमखम दिखाया।

JagranSun, 08 Dec 2019 11:40 PM (IST)

जासं, रुद्रपुर : खेल महाकुंभ अंडर-21 बालिका वर्ग कबड्डी प्रतिस्पर्धा में रुद्रपुर स्पो‌र्ट्स स्टेडियम ने राजकीय इंटर कॉलेज कनकपुर को सात अंकों से पिछाड़कर जीत अपने नाम कर लिया। वही लंबी कूद में राजकीय इंटर कॉलेज कनकपुर की छात्रा माया ने सबसे लंबी छलांग लगाकर पहला स्थान प्राप्त किया। सभी सफल खिलाड़ियों को प्रमाण-पत्र, नकदी पुरस्कार व मेडल पहनाकर सम्मानित किया गया। स्पो‌र्ट्स स्टेडियम में तीसरी खेल महाकुंभ प्रतिस्पर्धा चल रही है। रविवार को रुद्रपुर ब्लाक के अंडर-21 बालिका वर्ग के लिए कबड्डी वॉलीबॉल, फुटबॉल, एथलेटिक्स आदि प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। इसमें 100 मीटर दौड़ में आरती थापा ने, 400 मीटर दौड़ में श्री गुरुनानक बालिका इंटर कॉलेज की तृप्ति मंडल ने, 800 मीटर में भी तृतीय मंडल ने, 15 सौ मीटर दौड़ में सावित्री ने, तथा 3000 मीटर दौड़ में निर्मला शर्मा ने पहला स्थान प्राप्त किया। लंबी कूद में माया, गोला फेंक में साक्षी चौधरी, चक्का फेंक में शिवानी तथा भाला फेंक में दिव्या गोस्वामी ने पहला स्थान प्राप्त किया। फुटबॉल में एम्स स्पो‌र्ट्स एकेडमी जवाहर नगर ने पहला स्थान प्राप्त किया। वॉलीबॉल में श्री गुरु नानक बालिका इंटर कॉलेज ने सरदार भगत सिंह राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय की टीम को 2-1 से मात देकर जीत हासिल की। जबकि कबड्डी में स्पो‌र्ट्स स्टेडियम रुद्रपुर में राजकीय इंटर कॉलेज कनकपुर को 30-23 से हराकर मैच अपने नाम किया। एडीओ युवा कल्याण वजाहद खान ने बताया कि प्रतियोगिता के समापन के बाद 16 दिसंबर से जनपद स्तरीय प्रतियोगिताएं शुरू की जाएगी। इस मौके पर जिला खेल समन्वयक लक्ष्मण सिंह टाकुली, राजेंद्र सिंह भाकुनी, राकेश कुमार, विरेंद्र बिष्ट, गोविद बिष्ट, धीरज पांडे, कैलाश राजपूत, पूजा रौतेला, चंपा मटियानी आदि मौजूद थे।

--------------------------

मैदान में घुसे क्रिकेटर्स

रुद्रपुर : खेल महाकुंभ में रविवार को अंडर-21 बालिका वर्ग के लिए विभिन्न प्रतियोगिताएं होनी थी। ये सभी इवेंट्स स्पो‌र्ट्स स्टेडियम के मैदान में कराई जा रही है। रविवार को एथलेटिक्स वॉलीबॉल कबड्डी सहित अन्य प्रतियोगिताएं कराई जा रही थी। लेकिन मैदान में खेल रहे बाहरी लड़कों को हटाने की जहमत किसी ने नहीं उठाई। स्थिति यह थी कि उन्हें हटाने के लिए माइक से घोषणा भी की गई तब जाकर दौड़ने के लिए ट्रैक खाली हुआ। बावजूद इसके वे मैदान में निडर होकर खेलते रहे और दूसरी ओर ऑफिशियल प्रतियोगिताएं चलती रही ना तो इन्हें हटाने के लिए कोई आया ना ही यह खुद बाहर गए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.