top menutop menutop menu

लॉकडाउन में लोगों को डोर टू डोर मिलेगा जरूरी सामान

जागरण संवाददाता, काशीपुर : लॉकडाउन के चलते काशीपुर की सड़कों पर फिर सन्नाटा छा गया और गलियारे सूने हो गए हैं। कोरोना संक्रमण के प्रति लोगों की लापरवाही और सचेत न रहने की वजह से यहां प्रशासन को फिर लॉकडाउन लगाना पड़ा। तेजी से बढ़ते मरीजों की संख्या पर काबू न होने की वजह से यहां 14 जुलाई तक लॉकडाउन लग चुका है। अब यहां लोगों को जरूरी सामान मुहैया कराने के लिए डोर-टू-डोर ठेलियां भेजने के प्रबंध किए जा रहे हैं।

रविवार को लॉकडाउन की दूसरी सुबह का नजारा देख सभी के समझ आ चुका है कि यहां फिर से लॉकडाउन लगा दिया गया है। अधिकांश लोग अब यह भी समझने लगे हैं कि पिछले लॉकडाउन में जहां लोगों ने सतर्कता और प्रशासन का साथ दिया था बिल्कुल उसी तरह साथ देना है। इस बार अगर चूक होती है तो कोरोना वायरस का संक्रमण किसी भी हद तक जा सकता है। हालांकि स्वास्थ्य परीक्षण के लिए टीम को लगा दिया गया है। टीमें कंटेनमेंट जोन में जाकर रैपिड किट के जरिए चेकअप कर रही हैं। मगर सुरक्षा के लिहाज से चेतावनी जारी की गई है कि कोई भी व्यक्ति अनावश्यक सड़कों पर घूमता न दिखाई दे। लोगों को एकबार फिर डोर टू डोर ही सामान खरीदना होगा। सब कुछ पिछले लॉकडाउन की तरह ही है। किसी भी प्रकार की छूट नहीं दी जाएगी।

इधर सड़कों पर अनावश्यक आवाजाही रोकने के लिए सीपीयू लगा दी गई है। अब अगर कोई सड़कों पर दिखाई देता है तो उसका तुरंत चालान कर दिया जाएगा। इससे पहले भी अनलॉक में प्रशासन ने चेतावनी दी थी, लेकिन लोगों ने अनसुना कर दिया। जिसका नतीजा सभी के सामने है। खास बात यह है कि अभी भी कई लोग भ्रम में हैं। वह बाहर निकलकर सब्जी और फल खरीद रहे हैं। अब पिछले लॉकडाउन की तरह दोबारा डोर टू डोर सामान ही खरीदना होगा। किसी को भी कोई मोहलत नहीं दी जा रही है। सब्जी और फलों की ठेलियां दरवाजों पर आएगी और वहीं से सामान लेना है। फिजिकल डिस्टेंसिंग का सभी को पूरी तरह पालन करना है।

----------

दूसरे दिन नहीं दिखाई दिया कोई ई-रिक्शा

शनिवार को काफी देर में लॉकडाउन का पता चलने की वजह से ई-रिक्शा वाले भी अनभिज्ञ थे। मगर दूसरे दिन हर किसी को पता चल गया कि लॉकडाउन हो चुका है। इसलिए सड़कों पर सन्नाटा छाया रहा। कोई भी ई-रिक्शा सड़कों पर नहीं दिखाई दिया।

-----------

पुलिस ने भी दिखाई मुस्तैदी

लॉकडाउन के दूसरे दिन जब कुछ लोग सड़को पर दिखे तो सीपीयू अलर्ट हो गई और जो भी फर्राटा भरता दिखाई दिया उसका सीधे चालान कर दिया। इस बीच पुलिस भी घनी आबादी वाले इलाकों में जाकर लोगों को चेता रही है कि बाहर नहीं निकलना है। पुलिस ने मुआयना किया और यह भी देखा कि गलियों में जमघट तो नहीं लगाया जा रहा है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.