सरकारी भूमि पर कब्जा करने वालों पर दर्ज होगा केस

जागरण संवाददाता, किच्छा : सरकारी भूमि पर अतिक्रमण की फसल लहलहाने वाले 19 लोग चिन्हित कर लिए है। प्रशासन उनके खिलाफ एफआइआर करवाने की तैयारी में जुट गया है। अब मनमाने तरीके से सरकारी भूमि पर काबिज होने वालों की चलने वाली नहीं है। प्रशासन ने सख्ती से उनसे निपटने का खाका तैयार कर लिया है।

खुरपिया व प्राग में प्रशासन ने लगभग पैतीस सौ एकड़ भूमि पर सीलिग से निकलने के बाद कब्जा लिया था। लेकिन प्रशासन की नाक में अतिक्रमणकारियों ने दम कर रखा है। मनचाहे तरीके से वह जमीन पर कब्जा कर वहां पर फसल बो देते है। प्रशासन कई बार उनको बेदखल कर सरकारी भूमि को कब्जा मुक्त कर देता है। लेकिन जरा सी नजर बचते ही उनके द्वारा रातों रात फसल फिर बो दी जाती है। इतना ही नहीं प्राग फार्म में खड़ी पापुलर की फसल को भी अपना निशाना बना रहे है। खाली भूमि पर माफियाओं द्वारा लगातार फसल बोने की कार्रवाई उनकी नीयत का परिचय साफ दे रही है। उनकी नजर लगातार सरकारी भूमि पर लगी हुई है। ऐसे लोगों से परेशान प्रशासन ने अब स्थाई हल निकालने का मन बना लिया है। जिसके चलते गोपनीय रिपोर्ट के माध्यम से राजस्व उप निरीक्षकों के माध्यम से अतिक्रमण कर फसल बोने वालों को चिन्हित करने की कार्रवाई की गई। प्रशासन ने फसल बोने वालों को चिन्हित करने की कार्रवाई पूरी कर ली है। अब उनके खिलाफ एफआई की तैयारी शुरु कर दी है। बहुत जल्द उनके खिलाफ कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

इनसेट...

सिडकुल खुद करें अपनी भूमि की रक्षा

किच्छा : खुरपिया में एक हजार एकड़ भूमि सिडकुल को दिए जाने की कार्रवाई को तीन वर्ष का समय बीत जाने के बाद भी भूमि को खुर्द बुर्द होने से रोकने की कोई व्यवस्था नहीं की गई है। पिछले दो वर्ष से उनकी देहरादून से सिक्योरिटी तैनात करने की कार्रवाई ही पूरी नहीं हो पाई है। जिसके चलते वहां भी कब्जे के प्रयास शुरु हो गए है। दो वर्ष पूर्व प्रशासन ने कब्जा मुक्त करा सिडकुल के अधिकारियों को अपनी भूमि की सुरक्षा की भी हिदायद दी थी, लेकिन नतीजा ढाक के तीन पात है। फिलहाल प्रशासन अपने कब्जे वाली भूमि पर अवैध कब्जा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने जा रहा है। वर्जन

सरकारी भूमि पर अतिक्रमण करने वालों को बक्शा नहीं जाएगा। उनको चिन्हित कर लिया गया है, उनके खिलाफ जल्द एफआईआर करवाने की कार्रवाई की जा रही है। जिससे सरकारी भूमि पर अवैध रूप से कब्जा करने की परपंरा पर लगाम लगाई जा सके।

--------------------

विवेक प्रकाश, एसडीएम किच्छा :

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.