केदारनाथ आपदा में लापता चार यात्रियों के कंकाल मिले

केदारनाथ आपदा में लापता चार यात्रियों के कंकाल मिले

केदारनाथ आपदा में लापता यात्रियों की तलाश में चलाए गए सर्च अभियान के तहत पुलिस व राज्य आपदा प्रतिवादन बल (एसडीआरएफ) की टीम ने गौरीमाई खर्क के पास चार मानव कंकाल बरामद किए।

Publish Date:Sun, 20 Sep 2020 10:24 PM (IST) Author: Jagran

संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग: केदारनाथ आपदा में लापता यात्रियों की तलाश में चलाए गए सर्च अभियान के तहत पुलिस व राज्य आपदा प्रतिवादन बल (एसडीआरएफ) की टीम ने गौरीमाई खर्क के पास चार मानव कंकाल बरामद किए। इसके साथ ही आपदा के बाद से अब तक मिले मानव कंकालों की संख्या 703 हो गई है। अभी भी तीन हजार से अधिक यात्री लापता हैं। उधर, सर्च अभियान में मिले चारों मानव कंकालों का डीएनए सैंपल लेकर सोनप्रयाग संगम पर अंतिम संस्कार कर दिया गया।

नैनीताल हाईकोर्ट के आदेश पर पुलिस व एसडीआरएफ की टीम ने गत 16 सितंबर से सर्च अभियान शुरू किया था। कोर्ट के आदेश पर ही वर्ष 2017 व 2018 में भी सर्च अभियान चलाए जा चुके हैं। जबकि, वर्ष 2016 तक राज्य सरकार की ओर से भी कई सर्च अभियान चलाए गए। इस बार अभियान के लिए पुलिस अधीक्षक ने दस टीम गठित की थीं। जिन्होंने 20 सितंबर तक केदारनाथ जाने वाले अलग-अलग ट्रैक रूट पर मानव कंकालों की खोज की। हालांकि, इसमें से नौ टीम शनिवार को ही वापस लौट आई थीं, लेकिन त्रियुगीनारायण से सोनप्रयाग की ओर पहाड़ी पर गई टीम ने शनिवार देर शाम तक अपना अभियान जारी रखा। इस टीम को गोऊ मुखड़ा से नीचे गौरीमाई खर्क के आसपास के क्षेत्र में चार मानव कंकाल मिले।

रविवार को यह कंकाल बॉडी बैग में सोनप्रयाग लाए गए, जहां डीएनए सैंपल लेने के बाद उनका मंदाकिनी व सोन नदी के संगम पर अंतिम संस्कार किया गया। पुलिस अधीक्षक नवनीत सिंह भुल्लर ने बताया कि सर्च अभियान समाप्त कर दिया गया है। सर्च टीमों में कुल 60 सदस्य शामिल थे। इन टीमों ने समुद्रतल से 14 हजार फीट से अधिक की ऊंचाई पर अभियान चलाया।

------------------------

3183 यात्री अभी लापता

बीते सात वषरें के दौरान केदारनाथ आपदा में लापता हुए यात्रियों की तलाश में 12 सर्च अभियान चलाए जा चुके हैं। इनमें अभी 703 कंकाल बरामद हो चुके हैं। जबकि, 3183 यात्री अभी भी लापता हैं। सरकारी रिकॉर्ड के अनुसार केदारनाथ आपदा में कुल 3886 यात्री लापता हुए थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.