जिले की 133 गांव में निर्माण कार्य पूरा

जिले के ग्रामीण अंचल खुले में शौचमुक्त घोषित होने के बाद स्वजल परियोजना की ओर से ठोस व तरल अपशिष्ट प्रबंधन के तहत निर्माण कार्य चल रहे हैं। इनमें 133 ग्राम पंचायतों में निर्माण कार्य पूरे हो गए है।

JagranFri, 01 Oct 2021 11:37 PM (IST)
जिले की 133 गांव में निर्माण कार्य पूरा

रविन्द्र कप्रवान, रुद्रप्रयाग: जिले के ग्रामीण अंचल खुले में शौचमुक्त घोषित होने के बाद स्वजल परियोजना की ओर से ठोस व तरल अपशिष्ट प्रबंधन के तहत निर्माण कार्य चल रहे हैं। इनमें 133 ग्राम पंचायतों में निर्माण कार्य पूरे हो गए है। जबकि 73 ग्राम पंचायतों में निर्माण कार्य गतिमान हैं। जनपद की 194 ग्राम पंचायतों में 14.12 करोड़ के कार्य ग्राम पेयजल स्वच्छता समिति के माध्यम से कराए जा रहे है।

जिले के अगस्त्यमुनि, जखोली, ऊखीमठ तीनों ब्लाकों में कुल 336 ग्राम पंचायतें अस्तित्व में है। जनपद जून 2017 में बेस लाइन सर्वे 2012 के तहत खुले में शौचमुक्त (ओडीएफ) घोषित हो चुका है। इसके बाद वर्ष 2017-18 से प्रदेश के सभी ग्राम पंचायतों में ठोस तरल एवं अपशिष्ट प्रबंधन के तहत निर्माण कार्य किए जा रहे है। स्वजल परियोजना की ओर तरल एवं ठोस प्रबंधन उपाय के तहत ग्राम पंचायतों में परिवार के अनुसार बजट देने का प्रावधान है। पहले 150 परिवारों वाले ग्राम पंचायत में 7 लाख, 150 से 300 परिवार में 12 लाख एवं 300 से 500 परिवार में 15 लाख खर्च करने का प्राविधान है, लेकिन सरकार की नई गाइड लाइन के अनुसार अब गांव के प्रति सदस्य 340 रूपए के तहत गांवों को बजट मिलेगा। जिले में कुल 194 ग्राम पंचायतों में समस्त औपचारिकताएं पूर्ण करने के बाद लगभग 14.12 करोड़ के ठोस व तरल एवं अपशिष्ट प्रबंधन के तहत कार्य किए जा रहे है। जिनमें से 133 ग्राम पंचायतों में निर्माण कार्य पूर्ण हो चुके है, जबकि शेष 61 गांवों में निर्माण कार्य गतिमान है। योजना के तहत तरल यानी गांवों का गंदा पानी एवं ठोस प्रबंधन यानी घरों का कूड़ा-करकट का निस्तारण करना है। योजना में सार्वजनिक जैविक व अजैविक कूड़ादान, कम्पोस्ट पिट, घरों की नालियां निर्माण, गोबर गडडा का निर्माण समेत कई कार्यों का निर्माण किया जा रहा है। यह निर्माण कार्य ग्राम पेयजल स्वच्छता समिति के माध्यम से करवाए जा रहे है। ------------------------

वर्ष के हिसाब से निर्माण कार्य-

वर्ष गांव बजट निर्माण कार्य पूरे गांव

2017-18 43 342 लाख 38

2018-19 128 923 लाख 82

2019-20 12 89.02 लाख 08

2020-21 10 57.58 लाख 05

==========================

जिले की ग्रामीण क्षेत्रों में ओडीएफ घोषित होने के बाद 194 ग्राम पंचायतों में 14.12 करोड़ से ठोस तरल अपशिष्ट प्रबंधन के कार्य करवाए जा रहे है। इनमें से 133 गांवों में निर्माण कार्य पूरे हो चुके है। जबकि शेष 61 गांवों में निर्माण कार्य चल रहा है। यह निर्माण कार्यों होने से गांव स्वच्छ नजर आएंगे।

मोहन सिंह नेगी

परियोजना अधिकारी, स्वजल परियोजना रुद्रप्रयाग

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.