नाराज नाचनीवासियों ने मुख्यालय पर किया प्रदर्शन

नाराज नाचनीवासियों ने मुख्यालय पर किया प्रदर्शन

आपदा के चार माह बाद भी क्षति आकलन न होने से नाराज नाचनी के लोगों ने पिथौरागढ़ मुख्यालय पर प्रदर्शन किया।

JagranWed, 18 Nov 2020 04:27 PM (IST)

संवाद सहयोगी, पिथौरागढ़: जुलाई माह में भीषण प्राकृतिक आपदा झेलने वाले नाचनी क्षेत्र के ग्रामीणों ने बुधवार को जिला मुख्यालय पहुंचकर प्रदर्शन किया। ग्रामीण अब तक क्षति आकलन का कार्य नहीं होने से खासे नाराज हैं। ग्रामीणों ने इस मामले में पहल नहीं होने पर तीन दिसंबर को नाचनी में चक्का जाम करने की चेतावनी दी है।

कलक्ट्रेट के सम्मुख प्रदर्शन करते हुए नाचनी के बांसबगड़ क्षेत्र के ग्रामीणों ने कहा कि 26 से 28 जुलाई तक आई प्राकृतिक आपदा में कई घर क्षतिग्रस्त हो गए। सार्वजनिक मार्ग ध्वस्त हुए और सैकड़ों नाली भूमि बरागाड़ नदी में समा गई। ग्रामीण आज भी आपदा की मार झेल रहे हैं। चार माह बीत जाने के बाद भी प्रशासन ने इस क्षेत्र में आई आपदा से हुई क्षति का आंकलन नहीं किया गया है। प्रभावितों का मुआवजा नहीं मिला है। क्षतिग्रस्त सार्वजनिक परिसंपत्तियां की कोई सुध नहीं ली गई है। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि क्षति आकलन के लिए कई बार गुहार लगाई जा चुकी है, लेकिन प्रशासन की ओर से कोई पहल नहीं हो रही है। प्रदर्शनकारियों ने बरागाड़ में शीघ्र सुरक्षात्मक कार्य शुरू कराए जाने की मांग करते हुए कहा कि शीघ्र क्षति आंकलन नहीं हुआ तो तीन दिसंबर को थल-मुनस्यारी मोटर मार्ग में पड़ने वाले नाचनी कस्बे में चक्का जाम कर दिया जाएगा। प्रदर्शन करने वालों में बीडीसी नारायण प्रसाद, प्रधान पुष्पा देवी, भावना देवी सहित तमाम पंचायत प्रतिनिधि शामिल थे। यूथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष ऋषेंद्र महर ने भी प्रदर्शन में शामिल होकर प्रभावित क्षेत्र में क्षति आंकलन का कार्य शुरू कराए जाने की मांग की। प्रदर्शन के बाद मांग से संबंधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा गया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.