बना बैंड के लोग एक किमी दूर हैंडपंप से पानी ढोकर बुझा रहे हैं प्यास

बना बैंड के लोग एक किमी दूर हैंडपंप से पानी ढोकर बुझा रहे हैं प्यास

पेयजल संकट ग्रस्त बेरीनाग में पेयजल समस्या से निजात मिलती नजर नहीं आ रही है।

JagranSat, 17 Apr 2021 10:53 PM (IST)

संवाद सूत्र, बेरीनाग (पिथौरागढ़) : पेयजल संकट ग्रस्त बेरीनाग में पेयजल समस्या से निजात मिलती नजर नही आ रही है। मार्च माह तक योजना का पानी देने के दावे भी फेल हो चुके हैं। बना बैंड के ग्रामीण एक किमी दूर हैंड पंप से पानी लाकर प्यास बुझा रहे हैं तो ग्वीर गांव में पेयजल लेकर मारामारी की नौबत आ चुकी है।

बेरीनाग नगर सहित उसके आसपास के गांवों में पेयजल संकट है। इस समस्या से निपटने के लिए दो पंपिंग पेयजल योजनाएं बनी हैं, परंतु वितरण प्रणाली गलत होने तथा टेंडर लगने के बाद भी स्टैंड पोस्ट नहीं बनने से समस्या विकराल हो चुकी है। बीते माह जिलाधिकारी आनंद स्वरू प ने पेयजल समस्या को लेकर विकास खंड सभागार में बैठक की थी। बैठक में दो योजनाओं के बाद भी लोगों पानी नहीं मिलने पर सख्त नाराजगी जताते हुए संबंधित विभागों को हर हाल में तीन अप्रैल तक पानी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए थे। जल निगम और जल संस्थान ने डीएम के आदेश भी दरकिनार कर दिए हैं। अप्रैल माह का एक पखवाड़ा बीत चुका है, परंतु लोगों को पानी नहीं मिल रहा है। ========== दो पंपिंग योजनाओं का पानी नहीं बुझा रहा है प्यास बेरीनाग नगर सहित आसपास के गांवों के लिए गोरघटिया नदी से दो पंपिंग पेयजल योजना बनी हैं। असमान वितरण प्रणाली के तहत गांवों तक पानी नहीं पहुंच पा रहा है। एक तरफ विधायक मीना गंगोला बार- बार सभी क्षेत्रों तक पानी पहुंचाने की बात कहती हैं दूसरी तरफ विभाग स्टैंड पोस्ट और पाइप लाइन बिछाने का कार्य कछुआ गति से कर रहा है। ====== तीन माह में भी नहीं बिछ पाई पाइप लाइन पेयजल निगम निर्मित गोरघटिया पंपिंग योजना का अभी तक जल संस्थान को हस्तांतरण नहीं किया गया है। जिसके चलते वितरण प्रणाली तय नहीं हो पाई है जिसका खामियाजा जनता भुगत रही है। स्टैंड पोस्ट के लिए पेयजल निगम ने तीन माह पूर्व टेंडर लगाए थे। तीन माह बीतने के बाद भी पेयजल लाइन नहीं बिछ सकी है। जिसके चलते दो पेयजल योजनाओं का पानी आने के बाद भी नगर की जनता और ग्रामीणों केा पानी उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। पेयजल निगम ने मार्च माह में पेयजल लाइन निर्माण कर जल संस्थान को हस्तांतरण करने का दावा किया था जो झूठ साबित हुआ। हस्तांतरण नहीं होने के कारण वितरण प्रणाली नियमित नहीं हो पा रही है। ========= तमोली ग्वीर के ग्रामीणों ने दी आंदोलन की चेतावनी योजना से लाभान्वित होने वाले तमोली ग्वीर तक पानी की एक बूंद नही पहुंच रही है। गांव में जलस्रोत तक नहीं होने से चार दर्जन परिवारों वाले इस गांव में पेयजल संकट गहरा चुका है। ग्रामीण नैन राम का कहना है कि पेयजल को लेकर ग्रामीण आक्रोशित हैं। यदि गांव तक जल्दी पानी नहीं पहुंचा तो ग्रामीण तहसील मुख्यालय में प्रदर्शन करेंगे।

======= पेयजल निगम प्रतिदिन दो घंटे जल संस्थान को पानी उपलब्ध करा रहा है। मई माह में पेयजल लाइन जल संस्थान को सौंप दी जाएगी। पेयजल निगम का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। क्षेत्र में जहां से मांग आ रही है वहां स्टैंड पोस्ट लगाए जा रहे हैं। स्टैंड पोस्ट लगाने का कार्य अप्रैल माह में पूरा हो जाएगा।

- इं. अनूप पांडेय, अधिशासी अभियंता, पेयजल निगम, बेरीनाग

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.