मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत डीएम ने 1.69 करोड़ रुपये के आवेदन किए स्वीकृत

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत डीएम ने 1.69 करोड़ रुपये के आवेदन किए स्वीकृत

मुख्यमंत्री रोजगार स्वरोजगार योजना के तहत डीएम ने करोड़ों के आवेदन स्वीकृत किए।

JagranThu, 04 Mar 2021 10:56 PM (IST)

संवाद सहयोगी, पिथौरागढ़: कोरोना संकट के चलते वापस लौटे प्रवासियों को रोजगार देने के लिए शुरू की गई मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के साक्षात्कार गुरुवार को संपन्न हुए। जिलाधिकारी 1.69 करोड़ के आवेदनों को स्वीकृति दी।

कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित साक्षात्कार में 62 आवेदनों पर विचार हुआ। इनमें से 12 आवेदक अनुपस्थित रहे। जिलाधिकारी ने साक्षात्कार लेते हुए तीन आवेदन निरस्त करते हुए 50 आवेदनों को स्वीकृति दे दी। इन आवेदनों पर विभिन्न बैंकों के माध्यम से 1.69 करोड़ के ऋण दिए जायेंगे। आवेदकों ने पशुपालन, पोल्ट्री, बकरी, दुग्ध उत्पादन, रेडीमेट, जनरल स्टोर, रेस्टोरेंट आदि व्यवसाय के लिए आवेदन किया है। जिलाधिकारी ने कहा के उद्यमी अपने साथ साथ अन्य लोगों के लिए भी रोजगार के अवसर पैदा करें। उन्होंने कहा कि जिस उद्यम के लिए ऋण लिया जा रहा है धनराशि उसी उद्यम में खर्च की जाए। उन्होंने उद्योग विभाग को संबंधित यूनिटों का निरीक्षण करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने बैंकर्स से कहा है कि वे स्वीकृ त आवेदनों पर ऋण देने की प्रक्रिया को जल्द से जल्द निस्तारित करें। साक्षात्कार में महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र कविता भगत, लीड बैंक प्रबंधक अमर ग्वाल, खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के एनके आर्या, आइटीआइ के केसी जोशी आदि मौजूद रहे। ========== वन स्टॉप सेंटर में पीड़ित महिलाओं को मिलेगी चिकित्सा, पुलिस और कानूनी सुविधाएं

पिथौरागढ़: पीड़ित महिलाओं के लिए जिला मुख्यालय में वन स्टॉप सेंटर बनकर तैयार हो गया है। सेंटर में महिलाओं को कानूनी, स्वास्थ, पुलिस सहायता और सुविधा एक छत के नीचे मिल सकेगी।

गुरुवार को मुख्य विकास अधिकारी अनुराधा पाल ने विण विकास खंड परिसर में निर्मित वन स्टॉप सेंटर का निरीक्षण किया। उन्होंने भवन निर्माण कार्य पर संतोष जताया। उन्होंने कहा कि वन स्टॉप सेंटर बेहद महत्वपूर्ण है। जिले में किसी भी घटना की पीड़ित महिला को वन स्टॉप सेंटर में रखा जाएगा और सेंटर में संबंधित महिला को स्वास्थ, कानूनी और पुलिस सहायता और सुविधा एक ही स्थान पर मिल जाएगी। पीड़ित महिलाओं को इधर उधर चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। उन्होंने सेंटर को अविलंब बाल विकास विभाग को हस्तांतरित करने के निर्देश दिए। इसके बाद उन्होंने परिसर में कर्मचारियों के लिए निर्माणाधीन आवासीय परिसर का निरीक्षण किया और भवनों का कार्य जल्द पूरा करने के निर्देश संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिए।

इससे पूर्व मुख्य विकास अधिकारी ने बड़ालू उद्यान फार्म में प्रस्तावित ग्रोथ सेंटर का निरीक्षण किया और ग्रोथ सेंटर में बनने वाले वाटर स्पो‌र्ट्स जोन, मार्केटिंग जोन को जल्द धरातल पर उतारने के निर्देश दिए। निरीक्षण में ग्रामीण निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता एलसी पांडेय, जिला उद्यान अधिकारी आरएस बर्मा, जिला पर्यटन अधिकारी अमित लोहनी मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.