संस्कृति को संजीदा रखने में मेले की भूमिका अहम

संवाद सहयोगी, पौड़ी: विकासखंड कोट के घुसगलीखाल में आयोजित मकरैंण मेले का समापन हो गया। छह जनवरी से शुरू हुए मेले में जहां पाठ-पूजा, खेलकूद प्रतियोगिताएं आकर्षण का केंद्र रही, वहीं दूसरी ओर महिला मंगल दलों व स्कूली बच्चों की रंगारंग प्रस्तुतियों ने कार्यक्रम को यादगार बना दिया।

घुसगलीखाल में आयोजित मेले के समापन पर भाजपा के राष्ट्रीय सचिव तीरथ ¨सह रावत बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने कहा कि मेले की पहाड़ी राज्य की सांस्कृतिक विरासत रही है और जिस प्रकार ग्रामीण परिवेश वाले क्षेत्र में ऐसे आयोजन हो रहे हैं, संस्कृति को संजीदा रखने में उनकी अहम भूमिका रही है। आयोजन के समापन पर अवसर पर कीर्तन- भजन प्रतियोगिता में ग्रामसभा गहड़ प्रथम, चमल्खाल द्वितीय व बणगांव तल्ला तृतीय स्थान पर रही। जबकि क्रिकेट फाइनल मुकाबला अद्ववाणी इलेवन व वणगाव मल्ला के बीच खेला गया। इसमें अद्ववाणी इलेवन विजेता रहा। वॉलीबाल प्रतियोगिता ल्वाली व कल्जीखाल के बीच खेला गया। जिसमें ल्वाली ने कल्जीखाल को हराकर वॉलीबाल का फाइनल मुकाबला अपने नाम किया। इसके अलावा रस्सा कस्सी महिला वर्ग में ग्राम सभा गुमाई प्रथम व पुरुष वर्ग में तमलाग प्रथम रहा। विजेता प्रतिभागियों को मुख्य अतिथि द्वारा सम्मानित किया गया। इस मौके पर विशिष्ट अतिथि बार एसोशिएसन के अध्यक्ष आशीष जदली, बीरेंद्र जुयाल, सामाजिक कार्यकर्ता जगमोहन डांगी, मंदिर समिति के संयोजक अनुसूया प्रसाद सुंदरियाल, समिति के अध्यक्ष मकान ¨सह रावत, सचिव कमल रावत, हुकुम ¨सह बिष्ट, नेत्र ¨सह बिष्ट, कैलाश सुंदरियाल, संजय पटवाल, बलेश्वर पटवाल, सुमन नेगी आदि मौजूद थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.