जल्द ही बासा टू का लुत्फ भी उठा सकेंगे पर्यटक

जल्द ही बासा टू का लुत्फ भी उठा सकेंगे पर्यटक

राज्य में पहाड़ी शैली और पत्थरों पर बेहतर नक्काशी को लेकर सुर्खियां बटोरने के बाद अब बासा टू बारी है।

JagranFri, 23 Apr 2021 03:00 AM (IST)

गुरुवेंद्र नेगी, पौड़ी: राज्य में पहाड़ी शैली और पत्थरों पर बेहतर नक्काशी को लेकर सुर्खियां में आए पर्यटन स्थल खिर्सू में बासा होम स्टे के संचालन के बाद जल्द ही यहां बासा टू होम स्टे की सौगात मिलने वाली है। होम स्टे की खास बात यह है कि इसमें पहाड़ी शैली में बनी तिबारी सभी का आकर्षण रहेगी। ऐसे में उम्मीदें रंग लाई तो यह पर्यटन स्थल का दूसरा होम स्टे होगा, जो पूरी तरह पहाड़ी शैली में देखने को मिलेगा।

जनपद के खिर्सू में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं, लेकिन राज्य बनने के बाद इस दिशा में ठीक से होम वर्क न होने के कारण धरातल पर कुछ खास देखने को नहीं मिला। हश्र यह हुआ की यहां हरे भरे जंगल और खुशनुमा मौसम के बीच जिस तादाद में पर्यटक आने चाहिए थे, उस दिशा में इजाफा देखने को नहीं मिला। बीते वर्ष तत्कालीन जिलाधिकारी धीराज सिंह गब्र्याल की पहल पर यहां पहाड़ी शैली में पहला बासा होम स्टे बनकर तैयार हुआ तो उम्मीदों को पंख लगे। अब यहां पहाड़ी शैली में ही दूसरा होम स्टे बासा टू का निर्माण कराया जा रहा है। जिला योजना से निर्मित होम स्टे बासा टू का निर्माण पत्थरों पर नक्काशी कर बनाया गया है। जबकि कमरों में मिट्टी का लेपन पहाड़ी शैली में किया गया है। प्रशासन की मानें तो दो माह के भीतर बासा टू का संचालन शुरू कर दिया जाएगा। महिलाएं कर रही हैं बासा एक को संचालित

खिर्सू में बासा एक होम स्टे का लोकार्पण 25 जनवरी 2020 को तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने किया। सामुदायिक सहभागिता पर आधारित पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए बासा होम स्टे एक को संचालित करने का जिम्मा जिला प्रशासन की ओर से स्थानीय गांवों के महिला समूह की महिलाओं को दिया गया, जिसमें मौजूदा समय में नौ महिलाएं कार्य कर रही हैं। इसमें पर्यटकों को पहाड़ी व्यंजन मुहैया कराए जाते हैं।

पहाड़ी गांवों से विलुप्त सी होने लगी तिबारी

कभी पहाड़ी क्षेत्रों में घरों में बनी तिबारी घरों की शान हुआ करती थी। एक वक्त तय होता था, जब गांव के बुजुर्ग शाम को इन्हीं तिबारी में एकत्रित होकर आपस में मेल मिलाप करते थे। कहीं आना-जाना होता तो यहीं पर बैठकर आपस में विचार साझा कर योजना बनाते। तब आपस में बड़ा मेल मिलाप हुआ करता। समय बदला पहाड़ी गांवों से मकानों पर तिबारी बननी भी दूर हो गई। लेकिन जिला प्रशासन ने इसे संजीदा रखने का प्रयास किया तो वर्ष 2020 में तत्कालीन जिलाधिकारी धीराज सिंह गब्र्याल की पहल पर यहां पहाड़ी शैली में बासा होम स्टे का निर्माण हुआ।

पर्यटन स्थल खिर्सू में बासा टू होम स्टे का निर्माण कार्य करीब-करीब पूरा हो गया है। जो कार्य अवशेष रह गए हैं, उन्हें जल्द पूरा करवा लिया जाएगा। कोशिश रहेगी कि दो माह के भीतर इसका संचालन भी शुरू कर दिया जाएगा। आने वाले दिनों में यह पर्यटकों की आमद बढ़ाने में काफी मददगार साबित होगा।

डॉ. विजय कुमार जोगदंडे, जिलाधिकारी पौड़ी गढ़वाल।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.