धारचूला में नाले में गिरकर युवक की मौत, थल-मुनस्यारी मार्ग सड़क टूटने से बंद

गुरुवार दिन में भी जिले भर में भारी बारिश हुई। धारचूला के गलाती में घटियागागल पुल से नाले में गिर कर एक ग्रामीण युवक की मौत हो गई है। थल-मुनस्यारी मार्ग में वनिक के पास सड़क टूटने से 24 घंटे से मार्ग बंद है।

Prashant MishraThu, 29 Jul 2021 05:00 PM (IST)
ग्रामीण ठेकेदार के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर तहसील कार्यालय के सम्मुख धरने पर बैठे हैं।

जाटी, पिथौरागढ़/ धारचूला/ मुनस्यारी : सीमांत जिले में मौसम का कहर बरकरार है। गुरुवार दिन में भी जिले भर में भारी बारिश हुई। धारचूला के गलाती में घटियागागल पुल से नाले में गिर कर एक ग्रामीण युवक की मौत हो गई है। थल-मुनस्यारी मार्ग में वनिक के पास सड़क टूटने से 24 घंटे से मार्ग बंद है। मुनस्यारी आने जाने वाले भारी वाहन फंसे हुए हैं। चीन सीमा को जोडऩे वाला व्यास मार्ग खुल चुका है परंतु दारमा मार्ग 43वें दिन भी बंद है। तीन दर्जन से अधिक गांव अभी भी अलग थलग पड़े हैं।

धारचूला से मिली जानकारी के अनुसार बुधवार की देर सायं मल्ला गलाती धामीगांव के तोक चिचिन्या निवासी गोपाल सिंह 36 वर्ष पुत्र लाल सिंह गलाती से अपने घर को जा रहा था। गलाती नदी में घटियागागल पुल से पार होते समय पैर फिसलने से नाले में गिर कर बह गया। ग्रामीण के नाले में गिरते ही ग्रामीण उसकी खोजबीन में जुट गए। भारी बारिश से गलाती नाले का जलस्तर इस समय काफी अधिक है। सूचना एसडीआरएफ को दी गई। सूचना मिलते ही एसडीआरएफ की टीम पहुंची। गुरु वार को युवक का शव पुल से दो किमी दूर नाले में मिला। एसडीआरएफ के जवानों ने रेस्क्यू कर शव को नाले से निकाला।

इस घटना के बाद ग्रामीणों में रोष व्याप्त है। ग्रामीणों ने इस घटना का कारण गलत ढंग से पुल निर्माण होना बताया है। ग्रामीणों का आरोप है कि विभाग द्वारा तैनात किया गया पुल जानलेवा बना है। मृतक परिजनों सहित ग्रामीण पुल निर्माण कराने वाले विभाग और पुल निर्माण करने वाले ठेकेदार के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर तहसील कार्यालय के सम्मुख धरने पर बैठे हैं। युवक की मौत का कारण पुल बताया जा रहा है।

मुनस्यारी से मिली जानकारी के अनुसार थल -मुनस्यारी मार्ग में वनिक के पास सड़क टूट चुकी है। बुधवार सायं से यहां पर वाहन फंसे हैं। मुनस्यारी को खाद्यान्न, गैस, सब्जी सहित अन्य सामान ले जा रहे बड़े वाहन फंसे हैं। इस स्थान पर बीते वर्ष भी सड़क क्षतिग्रस्त हुई थी।

लोनिवि द्वारा मरम्मत के नाम पर केवल खानापूर्ति की गई। बुधवार को वनिक के पास सड़क का हिस्सा टूट चुका है। जौलजीबी -मुनस्यारी मार्ग में भी मलबा आने से यातायात प्रभावित रहा। बेरीनाग तहसील क्षेत्र में बोराआगर गांव में भारी बरिश से ग्रामीणों के आंगन की दीवारें क्षतिग्रस्त हो चुकी हैं। गांव की पेयजल लाइन बह गई है। गांव में पेयजल संकट बना हुआ है। ग्रामीण गधेरों का पानी पीने को मजबूर हो चुके हैं। क्षेत्र में हो रही भारी बारिश से गांव को खतरा बना हुआ है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.