सितारगंज में युवक ने लगाई फांसी लगाकर दी जान, पांच दिनों बाद बड़े भाई की थी शादी

सुबह बड़े बेटे की पत्नी ने मुकेश को जगाने के लिए उसके कमरे का दरवाजा खोला तो होश उड़ गए।

मुकेश कनौजिया पुत्र प्रेम कनौजिया 22 ने अज्ञात कारणों की वजह से अपने कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक के पिता नगर स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाचार्य हैं। चौकी प्रभारी ललित बिष्ट ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत के कारणों का पता चल पाएगा।

Prashant MishraSat, 15 May 2021 05:43 PM (IST)

जागरण संवाददाता, सितारगंज : नगर स्थित चिंतिमजीरा में अज्ञात कारणों की वजह से एक युवक ने फांसी लगाकर जान दे दी। वहीं पुलिस ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

चिंतिमजीरा वार्ड संख्या एक निवासी मुकेश कनौजिया पुत्र प्रेम कनौजिया 22 ने अज्ञात कारणों की वजह से अपने कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक के पिता नगर स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय द्वितीय में प्रधानाचार्य हैं। उन्होंने बताया कि 20 मई को मझले बेटे धर्मवीर की शादी की वजह से घर में काफी कामकाज थे। जिसके लिए सुबह करीब छह बजे जब बड़े बेटे की पत्नी ने मुकेश को जगाने के लिए उसके कमरे का दरवाजा खोला तो उनके होश उड़ गए। कमरे में मौजूद पंखे से मुकेश का शव लटका हुआ था। जिसे देख शादी की खुशियों से चहक रहे घर में गम का मातम छा गया।

मुकेश तीन भाइयों में सबसे छोटा था। उसने 12वीं पास कर किच्छा स्थित सूरजमल पॉलिटेक्निक कॉलेज कोर्स कर रखा था। वही प्रधानाचार्य के घर पर हुई घटना की सूचना मिलते ही चेयरमैन हरीश दुबे, खंड शिक्षा अधिकारी सुषमा गौरव व आदि लोगों ने पहुंचकर उन्हें  सांत्वना दी। सरखड़ा चौकी प्रभारी ललित बिष्ट ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता चल पाएगा।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.