दहेज के लिए मारापीटा, दो बार गर्भपात भी कराया, मायके गई तो फोन पर दे दिया तलाक

रामनगर में एक व्यक्ति ने पत्‍‌नी को बुरी तरह से पीटा।
Publish Date:Wed, 30 Sep 2020 05:21 AM (IST) Author:

रामनगर, जेएनएन : रामनगर में एक व्यक्ति ने पत्‍‌नी को बुरी तरह से पीटा। मारपीट से तंग आकर वह मायके चली गई तो फोन पर ही तलाक दे दिया। मदद की गुहार लेकर पीड़िता मंगलवार को राज्य महिला आयोग की पूर्व उपाध्यक्ष अमिता लोहनी के पास पहुची। ग्राम आदर्शनगर पुछड़ी निवासी गुलिस्तां ने शिकायती पत्र में लोहनी को बताया कि उसकी शादी तीन साल पूर्व मोहल्ले के ही युवक से हुई थी। उसका दो साल का बच्चा है। वह पाच माह की गर्भवती भी है। आरोप है कि उसका पति उसे छोड़ना चाहता है। इसलिए वह उसके साथ आये दिन गालीगलौज व मारपीट करता है। घर चलाने को वह उसे खर्चा भी नहीं देता है। उसका पति मां के इशारे पर मायके से पैसे लाने व उस पर दबाव बनाने के लिए मारपीट करता है। 

आरोप लगाया कि वह दो बार उसका गर्भपात करा चुका है। इधर बीते रविवार रात को भी पति ने उसके साथ मारपीट की। वह रात में ही पति से बचकर मायके आ गई। उसके पति ने फोन पर उसे तलाक देने की बात कह अब दोबारा घर नहीं लौटने की धमकी दी है। इधर अमिता लोहनी ने बताया कि पीड़िता को कोतवाली ले जाकर पुलिस को घटनाक्रम से अवगत कराते हुए शिकायत दी है। पुलिस ने महिला के पति को मामले की जाच के लिए कोतवाली बुलाया है। उधर एक अन्य महिला ने यहां पति समेत ससुरालियों के खिलाफ मारपीट व दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराया है। 

ग्राम चोरपानी निवासी सुनीता सती ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि एक साल पूर्व उसकी शादी देहरादून निवासी अमित गैरोला के साथ हुई। आरोप लगाया कि ससुराल पक्ष के लोग शादी के समय से ही दहेज नहीं लाने पर उसका उत्पीड़न करने लगे। ससुराल पक्ष के लोग कार, जेवर और पैसों की माग करते है। दहेज नहीं लाने में असमर्थता जताने पर वह गाली गलौज और मारपीट करते है। ससुरालियों द्वारा लगातार परेशान करने के बाद अब उसे घर से निकाल दिया गया है। कोतवाली के एसएसआइ जयपाल सिंह चौहान ने बताया कि पीड़िता की तहरीर पर आरोपित पति अमित गैरोला, सास-ससुर, जेठ और जेठानी के खिलाफ दहेज उत्पीड़न, मारपीट का मुकदमा दर्ज किया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.