बाढ़ सुरक्षा कार्य न होने पर आंदोलन की चेतावनी

बाढ़ सुरक्षा कार्य न होने पर आंदोलन की चेतावनी
Publish Date:Wed, 30 Sep 2020 04:28 AM (IST) Author: Jagran

संस, रामनगर : स्वीकृति के बाद भी कोसी नदी में बाढ़ सुरक्षा कार्य नहीं होने पर भरतपुरी व कौशल्यापुरी मोहल्ले के लोगों ने आक्रोश जताया। उन्होंने सिंचाई विभाग कार्यालय पहुचकर नारेबाजी की। जल्द सुरक्षा कार्य नहीं होने पर उन्होंने कार्यालय में धरना देने की चेतावनी दी।

लोक कल्याण समिति के अध्यक्ष व भाजपा नेता गणेश रावत के नेतृत्व में सिंचाई विभाग पहुंचे लोगों ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा साढ़े चार करोड़ की बाढ़ सुरक्षा योजना मंजूर की गई थी। जिसमें दोनों इलाकों में करीब डेढ़ करोड़ का कार्य होना अभी बाकी है। बारिश में कोसी नदी जलस्तर बढ़ने पर लोगों में जान माल का भय बना रहता है। इस पर अधिशाषी अभियंता उनियाल ने आश्वासन दिया कि वन विभाग की स्वीकृति के बाद अक्टूबर प्रथम सप्ताह से कार्य शुरू कर दिया जाएगा। प्रदर्शन करने वालों में यशपाल रावत, पालिका सभासद कमला ढौढियाल, बृजेश भंडारी, ललित घुघत्याल, मोहिनी शर्मा, भगवती रावत, केएस नेगी, सावित्री फत्र्याल, पीतांबर पाडेय, कमल जोशी, पूरन राम, कैलाश देवी, पार्वती देवी, वीर सिंह, ईश्वरी दत्त, प्रकाश शर्मा मौजूद रहे।

इधर विकासखंड ओखलकांडा में स्याली पुल निर्माण की कवायद शुरू हो गई है। विभागीय अधिकारियों ने पुल निर्माण के लिए सिमलिया साननी मोटर मार्ग का स्थलीय निरीक्षण किया। बीडीसी मेंबर रवि गोस्वामी ने बताया एक माह पूर्व विधायक राम सिंह कैड़ा के क्षेत्र भ्रमण के दौरान रेखाकोट, सुई, टांडा, बड़ौन, बबियाड़ के ग्रामीणों ने पुल निर्माण की मांग की थी। बताया कि पुल निर्माण होने से लगभग एक हजार परिवारों को सीधा लाभ मिलेगा। विधायक के अधिकारियों के निर्देश के बाद लोक निर्माण विभाग के अपर सहायक अभियंता ने मौका मुआयना किया। इस दौरान बीडीसी मेंबर रवि गोस्वामी, हरेन्द्र चिलवाल, एमके गुसाई, मनोज तिवारी आदि मौजूद थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.