कालाढूंगी की बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं पर भड़के वार्ड सभासद

कालाढूंगी की बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं पर भड़के वार्ड सभासद
Publish Date:Wed, 30 Sep 2020 04:44 AM (IST) Author: Jagran

संस, कालाढूंगी : नगर के सभासदों ने यहां सीएचसी की बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने सीएचसी की व्यवस्थाओं में सुधार की मांग को लेकर जिलाधिकारी को ज्ञापन भेजा है और मामले में शीघ्र सार्थक कार्रवाई न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

सभासदों ने कहा सीएचसी में डिजिटल एक्स-रे व अल्ट्रासाउंड मशीन नहीं है। इसके अलावा पर्याप्त मात्र में डॉक्टरों की भी तैनाती नहीं की जा रही है। मंगलवार को सीएचसी पहुंचकर सभासदों ने बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं पर आक्रोश जताया। सभासदों ने कहा कि सीएचसी मात्र रेफरल सेंटर बन कर रह गया है। यहां मरीजों को प्राथमिक उपचार के बाद हल्द्वानी रेफर कर दिया जाता है। सभासदों ने कहा की बीस हजार की आबादी वाले क्षेत्र में मात्र एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर निर्भर है। मरीजों को इलाज के लिए हल्द्वानी में इधर-उधर भटकना पड़ता है। इस दौरान सभासदों ने कहा कि पन्द्रह दिन में डिजीटल एक्स-रे,अल्ट्रासाउंड मशीन, आइसीयू रूम व डाक्टरों की तैनाती नही हुयी तो वह आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।

सभासदों ने सीएचसी की प्रशासनिक अधिकारी आशा गेलाकोटी को जिलाधिकारी को संबोधित ज्ञापन सौंपा। इस दौरान सभासद हरीश मेहरा, दीनू सती, मो. दानिश, कविता वालिया, पूरन जोशी, मुराद अंसारी व मुदस्सर फारूकी मौजूद रहे।

उधर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गरमपानी में विशेषज्ञ चिकित्सकों की तैनाती की मांग कर रहे आदोलनकारियों ने मंगलवार को धरनास्थल पर जागर लगाकर सरकार व स्वास्थ्य विभाग को कोसा। चेतावनी भी दी कि यदि ग्रामीण क्षेत्रों की उपेक्षा की गई तो आदोलन और तेज किया जाएगा। मंगलवार को बसंती आर्य व भावना नेगी क्रमिक अनशन पर बैठीं।

सोमवार को सीएमओ डा. भागीरथी जोशी से वार्ता विफल होने के बाद आदोलनकारी पाचवें दिन भी क्रमिक अनशन पर डटे रहे। धरनास्थल पर राज्य सरकार व स्वास्थ्य विभाग को जगाने के लिए अस्पताल परिसर से मुख्य बाजार तक जागर लगाया। धरनास्थल पर पहुंचीं नायब तहसीलदार शिवागिनी को भी मागों से अवगत कराया। चेताया कि यदि जल्द मागें पूरी नहीं हुई तो दो अक्टूबर से बेमियादी अनशन शुरू कर दिया जाएगा। इस दौरान पूर्व क्षेत्र पंचायत सदस्य दलीप सिंह नेगी, ग्राम प्रधान मल्लाकोट भावना जलाल, प्रधान डोबा कमला देवी, प्रधान छड़ा खैरना प्रेमनाथ गोस्वामी, बीडीसी मेंबर तुलसी देवी, भावना पिनारी, ममता पनारी, तुलसी देवी, व्यापार मंडल प्रदेश उपाध्यक्ष मनीष तिवारी, सचिव महिपाल सिंह बिष्ट आदि मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.