सैनिक स्कूल घोड़ाखाल पहुंची विजय मशाल, विद्यालय प्रबंधन ने किया भव्य स्वागत

सैनिक स्कूल घोड़ाखाल पहुंची विजय मशाल, विद्यालय प्रबंधन ने किया भव्य स्वागत

सैनिक स्कूल घोड़ाखाल को शुक्रवार को एक और उपलब्धि हासिल हुई है। शुक्रवार प्रधानमंत्री मोदी द्वारा जलाई गई 4 स्वर्णिम विजय मशालों में से एक मशाल सैनिक स्कूल घोड़ाखाल लाई गई। जिससे विद्यालय गर्वान्वित हो उठा।एनसीसी कैडेटों द्वारा विजय मशाल को मुख्य मंच तक ले जाकर स्थापित किया गया।

Publish Date:Fri, 15 Jan 2021 03:31 PM (IST) Author: Skand Shukla

भवाली, संवाद सहयोगी : सैनिक स्कूल घोड़ाखाल को शुक्रवार को एक और उपलब्धि हासिल हुई है। शुक्रवार प्रधानमंत्री मोदी द्वारा जलाई गई 4 स्वर्णिम विजय मशालों में से एक मशाल सैनिक स्कूल घोड़ाखाल लाई गई। जिससे विद्यालय गर्वान्वित हो उठा। विद्यालय के मुख्य गेट से चार एनसीसी कैडेटों द्वारा विजय मशाल को मुख्य मंच तक ले जाकर स्थापित किया गया। जहां मंच से विद्यालय के उप प्रधानाचार्य टी रमेश कुमार ने विजय मशाल को विद्यालय लाए जाने का कारण व विद्यालय की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला गया।

शुक्रवार को दोपहर करीब सैनिक स्कूल घोड़ाखाल पहुंचा। जहां विद्यालय के उप प्रधानाचार्य टी रमेश कुमार व विद्यालय के कैडेटों ने सलामी देकर स्वागत किया । जिसके बाद कैडेट सौरभ, राहुल, शालिनी व राखी ने विजय मशाल को हाथों में लेकर परेड करते हुए मुख्य मंच पर ले जाकर स्थापित किया। मंच से सम्बोधित करते हुए उप प्रधानाचार्य टी रमेश कुमार ने बताया कि 16 दिसम्बर 1971 को भारत पाकिस्तान के युद्ध में भारत ने पाकिस्तान को परास्त कर ऐतिहासिक विजय हासिल की थी। इस युद्ध मे पाकिस्तान के 93000 सैनिकों को आत्मसमर्पण करने के लिए मजबूर होना पड़ा था। पाकिस्तान के कमांडर, लेफ्टिनेंट जनरल एके नियाजी ने भारतीय सेना के सामने हथियार डाल दिए।

 

इसका असर यह हुआ कि युद्ध के 13 दिनों में ही पाकिस्तान को करारी हाल का सामना करना पड़ा। इस ऐतिहासिक विजय की दास्तान लोगों को सुनाने के लिए ही स्वर्णिम मशाल देश भर में घूर रही है। सैनिक स्कूल घोड़ाखाल देश को अनेक सैन्य अफसर दिए इसलिए विजय मशाल विद्यालय में भी लाई गई। ऐसा पल विद्यालय के इतिहास में पहली बार आया है। उप प्रधानाचार्य ने बताया कि जिन क्षेत्रों के वीर जवान युद्ध मे शहीद हुए हैं, वहाँ की मिट्टी वहीं एकत्रित कर के ले जाई जा रही है। विद्यालय में विजय मशाल का आना एक ऐतिहासिक पल है।

 

क्विज व पेंटिंग प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्र आज सम्मानित

विद्यालय के उपप्रधानाचार्य टी रमेश कुमार ने बताया 1971 वार के उपलक्ष्य में स्कूल की ओर से क्विज व पेंटिंग प्रतियोगिता आयोजित की गई। जिसमें विद्यालय के 300 छात्रों ने प्रतिभाग किया। क्विज में 25 प्रश्न पूछे गए। जिसमें 10वीं के छात्र विवेक जोशी ने 22 प्रश्नों के सही जवाब देकर सबको आश्चर्यचकित कर दिया। वहीं पेंटिंग प्रतियोगिता में विद्यालय के छात्र अनन्त सिंह ने कोयले से वीर जवान का स्कैच तैयार कर पहला स्थान हासिल किया। जिस पर दोनों छात्रों को शनिवार को नैनीताल डीएसए मैदान में होने वाले कार्यक्रम में सम्मानित किया जाएगा!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.