मंगलसूत्र ठगने वाले बरेली के लिफाफा गैंग के दो सदस्य गिरफ्तार, लिफाफे में जेवर रखवाकर थमाते थे पत्थर

शनिवार को पुलिस टीम ने ठगी करने वाले लिफाफा गैंग के दो सदस्यों को हल्द्वानी क्षेत्र से पकड़ लिया। आरोपितों ने अपना नाम जिला बरेली थाना किला छिपीटोला निवासी मो. इसान व जिला बरेली थाना किला मोतीलाल बजरिया बताया।

Prashant MishraSat, 25 Sep 2021 05:41 PM (IST)
आरोपितों के कब्जे से पुलिस ने दो मंलगसूत्र बरामद किए हैं।

जागरण संवाददाता, हल्द्वानी: कार में लिफ्ट देकर दो महिलाओं से मंगलसूत्र ठगने वाले बरेली के लिफाफा गैंग के दो सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनके दो साथी फरार हैं। आरोपितों के कब्जे से पुलिस ने दो मंलगसूत्र बरामद किए हैं। 

शनिवार को पुलिस बहुउद्देशीय भवन में एसपी सिटी डा. जगदीश चंद्र ने बताया कि  तीन सितंबर को मोटाहल्दू लालकुआं निवासी भगवती पांडे अपनी रिश्तेदार कमला कबड़वाल के साथ सुयालबाड़ी जाने के लिए हल्द्वानी पहुंची थी। इसी बीच दो युवक कार से पहुंचे और सुयालबाड़ी जाने की बात कही। कार में बैठते ही युवकों ने दोनों महिलाओं को चेकिंग की बात कहकर उनके मंगलसूत्र को एक लिफाफे में डलवा दिया। मौका देखकर लिफाफों को बदल दिया। इसके बाद युवक फरार हो गए थे। दोनों महिलाएं ने सुयालबाड़ी पहुंचने पर लिफाका खोला तो उसके अंदर पत्थर भरे थे। ठगी का एहसास होने के बाद पीडि़ता भगवती पांडे के बेटे कमल पांडे ने कोतवाली में केस दर्ज करवाया था। एसपी सिटी ने बताया कि घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज व पूर्व में लिफाफा बदलने वालों की तलाश की गई। शनिवार को पुलिस टीम ने ठगी करने वाले लिफाफा गैंग के दो सदस्यों को हल्द्वानी क्षेत्र से पकड़ लिया। आरोपितों ने अपना नाम जिला बरेली, थाना किला, छिपीटोला निवासी मो. इसान व जिला बरेली, थाना किला, मोतीलाल बजरिया बताया। 

सरकारी कर्मचारी बनकर लेते थे विश्वास में

आरोपित मो. इसान व मो. नासिर ने बताया कि वह कार में लिफ्ट देने के लिए महिलाओं को टारगेट करते थे। प्राइवेट बस अड्डे व रोडवेज स्टेशन के आसपास खड़ी महिलाओं को वह पहाड़ जाने की बात कहते थे। विश्वास में लेने के लिए खुद को बैंक व सरकार विभाग का कर्मचारी बताते थे। बरेली के हल्द्वानी आकर उन्होंने इस वारदात को अंजाम दिया।

हरिद्वार से जा चुके हैं जेल

लिफाफा गैंग हल्द्वानी में अपने पैर पसारने की तैयारी कर रहा था। आरोपित हरिद्वार से इसी तरह की ठगी के मामले में जेल जा चुके हैं। उनकी कार को सीज कर दिया गया है। फरार दो आरोपित सावेज व इकरार की तलाश की जा रही है।

टीम में ये पुलिस कर्मी रहे शामिल

कोतवाल अरुण कुमार सैनी, एसआई रविंद्र राणा, कांस्टेबल इसरार अहमद, इसरार नवी, सुरेंद्र सिंह, दीवान सिंह कोरंगा व ममता कश्यप।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.