ऊधमसिंह नगर में शंटिंग के समय मालगाड़ी की चपेट में आया ट्रक, चालक घायल

ट्रक को नानकमत्ता निवासी रणजीत सिंह उम्र लगभग 60 वर्ष मक्का लोडिंग करने के लिए साइड में लगाने का प्रयास करने लगा। इसी बीच बगल में ही ट्रैक पर मालगाड़ी जो कि मक्का से लदी थी शंटिंग की जाने लगी। अचानक ट्रक मालगाड़ी की चपेट में आ गया

Prashant MishraTue, 30 Nov 2021 09:05 PM (IST)
करीब डेढ़ घंटे तक रेलवे मालगोदाम में अफरातफरी का माहौल बन गया। क्रेन मंगाकर ट्रक को निकाला गया।

जागरण संवाददाता, रुद्रपुर : माल गोदाम में मंगलवार को सिडकुल की कंपनी का मक्का लोड करने के लिए पहुंचे ट्रक को सही दिशा में लगाने के प्रयास में हादसा हो गया। शंटिंग की जा रही मालगाड़ी की चपेट में आकर 30 से 40 फुट तक ट्रक आगे जाकर मालगाड़ी से टकरा गया। इसमें बैठे चालक रणजीत सिंह के दोनों पैर बुरी तरह फंस गए। बाद में काफी जददोजहद के बाद उस को घायल अवस्था में बाहर निकाला गया और एंबुलेंस से जिला अस्पताल भेजा गया। करीब डेढ़ घंटे तक रेलवे मालगोदाम में अफरातफरी का माहौल बन गया। क्रेन मंगाकर ट्रक को निकाला गया।

मंगलवार को रेलवे माल गोदाम में ट्रक संख्या यूके 06सीए 2541 जो कि सिडकुल स्थित रिद्धि -सिद्धि कंपनी का मक्का लोड करने पहुंचा था। शाम करीब चार बजकर 10 मिनट पर मालगोदाम में दूसरी तरफ पासिंग ट्रैक पर सीमेंट अनलोड होने के बाद मालगाड़ी को रिप्लेसिंग दिए जाने के बाद मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा से मक्का लेकर पहुंची मालगाड़ी की शंटिंग की जा रही थी। मौके पर उक्त ट्रक को नानकमत्ता निवासी रणजीत सिंह उम्र लगभग 60 वर्ष मक्का लोडिंग करने के लिए साइड में लगाने का प्रयास करने लगा। इसी बीच बगल में ही ट्रैक पर मालगाड़ी जो कि मक्का से लदी थी, शंटिंग की जाने लगी। अचानक ट्रक मालगाड़ी की चपेट में आ गया और करीब 30 से 40 फुट तक घिसटता चला गया और मालगाड़ी से टकरा जाने के बाद ट्रक का केबिन क्षतिग्रस्त हो गया। जिससे चालक रणजीत सिंह बुरी तरह केबिन में फंस गया। सूचना पर मौके पर पहुंचे रेलवे गोदाम प्रभारी राजेंद्र सिंह तोमर व स्टेशन अधीक्षक ध्रुव कुमार मर्तोलिया ने क्रेन मंगाकर ट्रक हटाकर चालक को निकालने का प्रयस शुरू कराया। काफी जददोजहद के बाद चालक रणजीत सिंह को केबिन से निकाला जा सका। उसके दोनों पैरों में चोट आई है। अधिकारियों ने एंबुलेंस बुलाकर तत्काल चालक को जिला अस्पताल में इलाज के लिए भिजवाया।

ट्रासंपोर्टर ने लगाया रेलवे पर उत्पीड़न का आरोप

घटना की सूचना पर मौके पर पहुंचे ट्रक मालिक राकेश बब्बर ने बताया कि नियमों के अनुसार मालगोदाम साइड पर ट्रैक की चौड़ाई काफी कम है। इससे यहां पर माल उतारते समय पर्याप्त जगह ट्रकों को नहीं मिलती। रोजाना करीब 600 ट्रकों की लोडिंग व अनलोडिंग का काम होता है। रेलवे प्रति घंटा उनसे 24 हजार रुपये की रशि वसूलता है। आरोप लगाया कि हादसे के लिए रेलवे जिम्मेदार है। शंटिग की सूचना दिए बगैर ही मालगाड़ी बैक होने लगी। जबकि सभी को पता था कि मक्का अनलोड किया जाना है। उन्होंने आरोप गाया कि मामलेमें उचित कार्रवाई नहीं हुई तो वह न्यायालय का दरवाजा खटखटाएंगे। बीती 10 दिन पहले भी मालगाड़ी की टक्कर से छह ट्रकों के डाले क्षतिग्रस्त हो चुके हैं। इस मामले में अब तक अधिकारी चुप हैं।

स्टेशन अधीक्षक डीएस मर्तोलिया ने बताया कि रेलवे गोदाम की तरफ से अनलोडिंग करते समय हादसा हो गया। ट्रक चालक की तरफ से बैक करते समय ट्रक मालगाड़ी से टकरा गया। शंटिंग की सूचना दिए जाने का कोई नियम नहीं है। क्योंकि गाड़ी के बीच में यह हादसा हुआ है। इंजन बिलासपुर की तरफ था, बीच में कौन क्या कर रहा है इसकी जानकारी चालक को नहीं होती है। घटना की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियोंको दी गई है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.