CBSE 12th Board Result 2021: टापर्स बोले- सिविल सेवा में जाकर लोगों की सेवा करने का है लक्ष्य

CBSE 12th Board Result 2021नैनीताल जिले में करीब पांच हजार बच्चे पंजीकृत हुए थे। तकनीकि दिक्कत के चलते बोर्ड ने कुछ स्कूलों के परिणाम जारी नहीं किए हैं। स्कूल ने प्रतिशत के आधार पर अपने स्कूल के टापर्स घोषित किए हैं।

Prashant MishraFri, 30 Jul 2021 07:36 PM (IST)
जागरण की बातचीत में टापर्स ने साझा किए अपने भविष्य के सपने...

जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : CBSE 12th Board Result 2021: शुक्रवार दोपहर सीबीएसई 12वीं रिजल्ट जारी हुआ। नैनीताल जिले में करीब पांच हजार बच्चे पंजीकृत हुए थे। तकनीकि दिक्कत के चलते बोर्ड ने कुछ स्कूलों के परिणाम जारी नहीं किए हैं। इस बार परीक्षा परिणाम रोल नंबर व टापर्स की सूची के साथ नहीं जारी हुए हैं। स्कूल ने प्रतिशत के आधार पर अपने स्कूल के टापर्स घोषित किए हैं। जागरण की बातचीत में टापर्स ने साझा किए अपने भविष्य के सपने...

सिविल सेवा में जाना चाहेंगी अनन्या

माधव पार्क में रहने वाली बिड़ला इंस्टीट्यूट की अनन्या प्रदीप ने आट्र्स स्ट्रीम से 99 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं। इकोनामिक्स में ऑनर्स के बाद एमबीए करने की चाहत रखने वाली अनन्या ने बताया कि उनके पिता प्रदीप व मां हिमानी पांडे एयरफोर्स से रिटायर्ड हैं। पिता एयरफोर्स में रहते हुए लड़ाकू विमान चलाते थे अब बेंगलूरु में किसी कंपनी में ऑफिसर हैं। मां हल्द्वानी में डिफेंस एकेडमी चलाती हैं। अनन्या की प्राथमिकता सिविल सेवा है।

रिजल्ट से पहले ही विदेश से मिला ऑफर

बिड़ला कॉलेज के निर्विक साहू ने साइंस स्ट्रीम से 99.6 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं। रिजल्ट आने से पहले ही निर्विक को विदेश से बीटेक की पढ़ाई के आफर आने लगे थे। निर्विक ने बताया वह सिंगापुर जाकर आगे की पढ़ाई करेंगे। वह अपने प्रदर्शन से वह खुश हैं। उत्साहित निर्विक ने बताया कि लिखित परीक्षा होने के बाद भी वह अपना यही प्रदर्शन जारी रखते। निर्विक के पिता डा. नंदगोपाल साहू कुमाऊं विश्वविद्यालय में प्रोफेसर व मां कोली गृहिणी हैं।

शिक्षक परिवार के गर्वित का लक्ष्य सिविल सेवा

सिंथिया स्कूल के गर्वित पांडे ने 98.4 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं। गर्वित के पिता मनोज कुमार पांडे सरकारी स्कूल में शिक्षक व मां शशिकला गृहिणी हैं। पीलीकोठी निवासी गर्वित के दादा आर्मी के बाद शिक्षक पद व दादी प्रधानाचार्य पद से रिटायर्ड हैं। चाचा-चाची भी शिक्षक हैं। गर्वित इंजीनियङ्क्षरग करेंगे। भविष्य में उनका सपना सिविल सेवा में जाना है। मूल्यांकन बेशक पुराने प्रदर्शन के आधार पर हुआ है, लेकिन गर्वित का कहना है कि परिवार के मार्गदर्शन ने पढ़ाई में काफी मदद की।

मैत्रेयी बोलीं चुनौतीपूर्ण थी ऑनलाइन पढ़ाई

सिंथिया की मैत्रेयी तिवारी ने 97.2 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं। पिता ललित मोहन तिवारी प्राइवेट व मां पुष्पा तिवारी सरकारी स्कूल में शिक्षक हैं। मैत्रेयी इंजीनियङ्क्षरग करना चाहती हैं। मैत्रेयी ने बताया कि वह अपने प्रदर्शन से खुश हैं। कोरोना काल में ऑनलाइन पढ़ाई के दौरान कई बार नेटवर्क मुसीबत बना, लेकिन शिक्षकों ने मार्गदर्शन में किसी तरह की कमी नहीं छोड़ी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.