प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा - एजेंडे के साथ किसानों के बीच जाएं भाजपा पदाधिकारी

कुछ राजनीतिक दल किसानों के नाम पर चुनावी माहौल बनाने का प्रयास कर रहे हैं। सोमवार को भारत बंद हुआ मगर इसमें किसान नहीं बल्कि राजनीतिक दल के लोग शामिल थे। इस पर भाजपा किसान मोर्चा को विचार करना हाेगा।

Prashant MishraTue, 28 Sep 2021 03:20 PM (IST)
किसान के नाम पर आंदोलन करने वाले तथाकथित लोग बेनकाब भी होंगे।

जागरण संवाददाता, रुद्रपुर : भाजपा किसान मोर्चा की कार्यसमिति की बैठक में एजेंडा तैयार करें। जिसे पदाधिकारी घर घर जाकर किसानों को कृषि कानूनों की असलियत को बताएं कि कानून से किसानों को क्या क्या फायदे होंगे। साथ ही यह भी बताए कि केंद्र व राज्य सरकार किसानों की भलाई के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। इससे किसान के नाम पर आंदोलन करने वाले तथाकथित लोग बेनकाब भी होंगे। इसके लिए मजबूती के साथ किसानों के बीच जाना होगा। 

यह बात भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने नैनीताल हाईवे स्थित रिसार्ट में मंगलवार को आयोजित दो दिवसीय भाजपा किसान मोर्चा की प्रदेश कार्य समिति की बैठक में दूसरे दिन बतौर मुख्य अतिथि कही। इस दौरान उन्होंने कहा कि भाजपा ने पिछले दिनों बैठक कर 40 कार्यक्रम तय किए गए हैं। राज्य में सात लाख किसान पंजीकृत हैं। साजिश के तहत आंदोलन के नाम पर माहौल बनाया जा रहा है। बार्डर पर आंदोलन करने वाले कौन लोग है, फंड कहां से आ रहा है। आंदोलन के पीछे कौन लोग है, फाइव स्टार की तरह बार्डर पर सुविधाएं हैं। किसान के नाम पर लाल किले पर तिरंगे का अपमान किया गया, टूल किट के नाम पर प्रधानमंत्री व देश को कमजोर करने की कोशिश की गई।

कुछ राजनीतिक दल किसानों के नाम पर चुनावी माहौल बनाने का प्रयास कर रहे हैं। सोमवार को भारत बंद हुआ, मगर इसमें किसान नहीं, बल्कि राजनीतिक दल के लोग शामिल थे। इस पर भाजपा किसान मोर्चा को विचार करना हाेगा। भाजपा के अनुरुप मोर्चा को बचे अगले साढ़े तीन माह में किसानों के घर टोली बनाकर जाना होगा। विपक्षी दलों की गतिविधियों को उजागर करना होगा कि कांग्रेस शासन में कुछ नहीं किया गया था। एक बार किसानों का ऋण माफ किया गया तो वह भी भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया था।

अबकी बार 60 पार

प्रदेश अध्यक्ष कौशिक ने कहा कि एक न्यूज चैनल ने सर्वे किया तो राज्य में भाजपाको 48 सीटें मिलने की बात कही गई। इस पर लक्ष्य 60 सीट से अधिक जितने का लेकर मजबूती व संगठनात्मक के साथ कार्य करना होगा। पीछले तीन माह में राज्य में चुनावी माहौल बना है। इसमें भाजपा अन्य राजनीतिक दलों की अपेक्षा काफी आगे हैं।

नेहरु की जिद पर देश दो टुकड़ों में बंटा

भाजपा प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार ने कहा कि कृषि कानून के विरोध में आंदोलन करने वालों से पूछा जाता है तो वह कहते हैं कि सीएए व एनसीआर लागू नहीं होने देंगे, वह किसान के संबंध में बात नहीं करते हैं। कहा कि बार्डर पर आंदोलन करने वाले हल वाले किसान नहीं है।हल वाले किसान भाजपा के साथ हैं, जिनकी संख्या देश में करीब 95 फीसद है। कृषि कानून के बारे में किसानों को बताने में हम फेल है। इसलिए कानून के बारे में किसानों को समझाना होगा। कहा कि सिखों का कत्लेआम करने वाले कांग्रेस शासन कर रही है। भाजपा ने सिख दंगे के आरोपितों को सजा दिलाई, उन आरोपितों को कुछ लोग मदद कर रहे हैं। जवाहर लाल नेहरु की जिद के आगे देश दो टुकड़ाें में बट गया। भाजपा ने देश की संस्कृति व संस्कारों को बचाकर रखा है। उन्होंने केंद्र की योजनाओं को गिनाते हुए कहा कि राज्य की जनता हरीश रावत को नकार दिया। पिछले विधानसभा चुनाव में दोनों सीटों पर हार गए थे।

ये लोग थे मौजूद

भाजपा किसान मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक का संचालन भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश महामंत्री महेंद्र सिंह नेगी ने किया। इस मौके पर संगठन मंत्री अजय कुमार, भाजपा किसान मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकेश मान, प्रदेश प्रभारी राजेंद्र सिंह बिष्ट, भाजपा महामंत्री राजेंद्र भंडारी, कुलदीप, भाजपा जिलाध्यक्ष शिव अरोरा, विधायक राजकुमार ठुकराल, भाजपा किसान मोर्चा के कुमाऊं सह संयोजक बलकार सिंह, मोर्चा के जिलाध्यक्ष गुरबख्श सिंह बग्गा, योगेश चौहान, सोबन सिंह, इंदरपाल मान, नरेश हुड़िया आदि मौजूद थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.