काशीपुर में बहन और भंजे ने जमीन के लिए कर दी थी नासिर की हत्या, पुलिस ने मां-बेटे को किया गिरफ्तार

काशीपुर कोतवाली पुलिस ने नासिर हत्याकांड का पर्दाफाश कर दिया है। नासिर की बहन और भांजे ने ही जमीन के लालच में गलाघोट कर उसकी हत्या कर दी थी और घटना को आत्महत्या का रूप देने के लिए शव को फंदे पर लटका दिया था।

Skand ShuklaMon, 02 Aug 2021 02:37 PM (IST)
काशीपुर में बहन और भंजे ने जमीन के लिए कर दी थी नासिर की हत्या, मां-बेटे गिरफ्तार

जागरण संवाददाता, काशीपुर : काशीपुर कोतवाली पुलिस ने नासिर हत्याकांड का पर्दाफाश कर दिया है। नासिर की बहन और भांजे ने ही जमीन के लालच में गलाघोट कर उसकी हत्या कर दी थी और घटना को आत्महत्या का रूप देने के लिए शव को फंदे पर लटका दिया था। पुलिस पूछताछ में मां बेटे ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। हत्या में प्रयुक्त गमछा भी आरोपितों से बरामद कर लिया गया है।

23 अप्रैल को मोहल्ला खालसा निवासी शाकिर हुसैन पुत्र हबीब नूर ने कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया कि उसके 45 वर्षीय भाई नासिर की हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने अज्ञात आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया था। एसपी प्रमोद कुमार ने सोमवार को कोतवाली में घटना का पर्दाफाश किया। उन्होंने बताया कि जांच से प्रतीत हो रहा था कि हत्या के पीछे कोई घर का व्यक्ति हो सकता है।

पर्दाफाश के लिए लगभग डेढ़ सौ सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली गई। मृतक के सगे-संबंधियों से पूछताछ की गई। इस दौरान पता चला कि नासिर की बहन अख्तरी और उसका पुत्र मोनिस आमने-सामने रहते हैं। मृतक जिस स्थान पर रहता था उस स्थान पर इमामबाड़ा बनाना चाहता था। नासिर की अंतिम इच्छा थी कि उसकी कब्र भी उसी स्थान पर बने। इसके अतिरिक्त मृतक का जो कमरा बहन अख्तरी के बगल में था उसे वह अपने भाई की पत्नी को देना चाहता था। इस बात से अख्तरी और उसका बेटा बिल्कुल खुश नहीं थे।

अख्तरी के बेटे की शादी टूटने का कारण भी मृतक का अपनी जमीन पर इमामबाड़ा बनवाना था। घटना के दिन रमजान का महीना था, जिसमें आमतौर पर दो बजे से पहले सोना नहीं होता था। इसलिए शहरी के समय मुस्लिम परिवार जल्दी उठ जाता है। सुबह लगभग चार बजे पड़ोसी शानू नासिर से मिलने जा रहा था। उसे अख्तरी ने नासिर सो रहा है कहकर वापस भेज दिया था। कई अन्य गवाहों ने भी अख्तरी और मोनिस का सुबह उठने और दोनों के घरों के बीच का दरवाजा खुला होने को लेकर सवाल उठाए थे।

आरोपित पूछताछ के दौरान शुरुआत से ही अपने बयान बदलते रहे। उन्होंने लगातार भ्रामक बयान दिए। पुलिस को गुमराह करने की पूरी कोशिश की लेकिन वह कामयाब नहीं हो सके। आरोपित मां बेटे मृतक नासिर की पूरी जमीन पर अपना कब्जा चाहते थे इसलिए रात के समय दोनों ने मिलकर नासिर का गला घोट दिया। घटना को आत्महत्या का रूप देने के लिए उसका शव गमछे से लटका दिया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से गला घोटकर नासिर की हत्या किए जाने की पुष्टि हुई थी। साथ ही परिस्थितिजन्य सबूत भी दोनों आरोपितों को कातिल साबित कर रहे हैं।

पुलिस ने दोनों आरोपी मां बेटे से हिरासत में लेकर गहन पूछताछ की तो वह टूट गए और अपना जुर्म कबूल कर लिया। एसपी प्रमोद कुमार ने बताया कि नासिर की मौत से सिर्फ अख्तरी और उसके बेटे को ही फायदा होना था। पुलिस के पास पर्याप्त सबूत हैं कि हत्या को दोनों मां बेटे ने ही अंजाम दिया था। आरोपितों के निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त गमछा भी पुलिस ने बरामद कर लिया है। घटना का पर्दाफाश करने वालों में इंस्पेक्टर कोतवाली जीबी जोशी, एसएसआई देवेंद्र गौरव, एसआई ओमप्रकाश, एसआई रविंदर सिंह, कांस्टेबल दीवान बोरा, महेंद्र डंगवाल, सुरेंद्र सिंह और जगदीश फर्त्याल शामिल रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.