राइस मिलर्स ने डीएम से कहा, पहले बकाए का कराएं भुगतान, फिर होगी धान की खरीद

राइस मिलर्स ने कहा कि तीन साल का 4.32 करोड़ रुपये बकाया है। कहा कि जब तक पुराना बकाया भुगतान नहीं किया जाता है धान नहीं खरीदा जाएगा। इससे अधिकारियों में बेचैनी हो गई। कहा कि भुगतान के बाद जब खरीद की नई नीति आएगी तो विचार किया जाएगा।

Prashant MishraMon, 20 Sep 2021 06:01 PM (IST)
उन्होंने किसानों व मिलर्स के पदाधिकारियों को भरोसा दिलाया कि जो भी समस्या रखी गई है, उन्हें दूर किया जाएगा।

जागरण संवाददाता, रुद्रपुर : कलक्ट्रेट सभागार में किसानों, राइस मिलर्स व अधिकारियों के बीच धान खरीद पर चर्चा की गई। इस दौरान राइस मिलर्स ने कहा कि तीन साल का 4.32 करोड़ रुपये बकाया है। कहा कि जब तक पुराना बकाया भुगतान नहीं किया जाता है, धान नहीं खरीदा जाएगा। इससे अधिकारियों में बेचैनी हो गई। कहा कि भुगतान के बाद जब धान की खरीद की नई नीति आएगी तो खरीद पर विचार किया जाएगा।

जिलाधिकारी रंजना राजगुरु ने सोमवार को कलक्ट्रेट सभागार में हुई बैठक में धान खरीद सत्र 2021-22 की समीक्षा की। इस दौरान किसानों व राईस मिलर्स के बीच पिछले सत्र में मानकों के आधार पर ही इस बार भी धान क्रय करने की सहमति बनी। किसान विकास क्लब के प्रदेश अध्यक्ष अरुण शर्मा, किसान टीका सिंह सैनी ने कहा कि सरकारी क्रय केंद्रों पर रोजाना 500 क्विंटल व कच्चे आढ़तियों को 700 क्विंटल धान क्रय करने का नियम है। इस नियम को खत्म किया जाए या खरीद को और बढ़ाया जाए। जिलाधिकारी ने आरएफसी, खाद्य विभाग व मंडी सचिव को धान खरीद से पूर्व सभी धान क्रय केंद्रों पर व्यवस्था पूर्ण करने को कहा। धान क्रय के दौरान किसानों को किसी भी प्रकार की समस्या उत्पन्न न हो। उन्होंने किसानों व मिलर्स के पदाधिकारियों को भरोसा दिलाया कि जो भी समस्या रखी गई है, उन्हें दूर किया जाएगा। इस मामले में शासन को अवगत कराया जाएगा।

डीएम ने अधिकारियों को सभी केंद्रों पर बारदाना, नमी मापक यंत्र, कांटों आदि की उचित व्यवस्था कराने को कहा। किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अधिकारी धान क्रय के कार्यों में पारदर्शिता बरतें। आरएफसी हरवीर सिंह ने कहा कि यूएस नगर में 188 धान क्रय केंद्र बनाए जाएंगे।जिसमें सहकारिता विभाग के 130, खाद्य विभाग के 25, नेफेड के 27, एनसीसीएफ के दो एवं पीसीयू के चार धान क्रय केंद्र स्थापित किए गए हैं। खटीमा, बाजपुर, किच्छा एवं सितारगंज में कृषकों का पंजीकरण पोर्टल प्रारंभ हो गया है व धान/कस्टम मिल्ड चावल के परिवहन हेतु ठेकेदारों की नियुक्ति कर दी गई है।

इस मौके पर उपाध्यक्ष किसान आयोग राजपाल सिंह, उप जिलाधिकारी प्रत्यूष सिंह, जिलापूर्ति अधिकारी तेजबल सिंह, संयुक्त किसान मोर्चा से जगदीश सिंह, कर्म सिंह, बलजीत सिंह, प्रेम सिंह महतो, दर्शन सिंह, मनप्रीत सिंह, राजेंद्र सिंह, बलजिंदर सिंह, कुलदीप सिंह राईस मिलर्स के अध्यक्ष सचिन गोयल, कार्यकारी अध्यक्ष देवी शंकर अग्रवाल, पुरुषोत्तम दास अग्रवाल मंदीप सिंह, अनिल नारंग, जसवंत सिंह, आरएन सिंह आदि मौजूद थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.