अल्मोड़ा में बाबा साहेब के बताए मार्ग पर चलने का लिया संकल्प, मनाया परिनिर्वाण दिवस

उन्होंने समाज के शोषित वंचित वर्ग को जागृत कर संगठित व शिक्षित बनने का आह्वान किया। जिसका परिणाम यह रहा किस समाज से भेदभाव व छुआछूत का प्रभाव कम होने लगा। भारत में समतामूलक समाज की स्थापना में आंबेडकर जी का महत्वपूर्ण स्थान है।

Prashant MishraPublish:Mon, 06 Dec 2021 05:10 PM (IST) Updated:Mon, 06 Dec 2021 05:10 PM (IST)
अल्मोड़ा में बाबा साहेब के बताए मार्ग पर चलने का लिया संकल्प, मनाया परिनिर्वाण दिवस
अल्मोड़ा में बाबा साहेब के बताए मार्ग पर चलने का लिया संकल्प, मनाया परिनिर्वाण दिवस

जागरण संवाददाता, अल्मोड़ा : भाजपा, बसपा सहित कई संगठनों ने बाबा साहेब भीम राव अांबेडकर के परिनिर्वाण दिवस के अवसर पर की उनकी मूर्ति पर माल्यार्पण व श्रद्धा सुमन अर्पित किए गए। मौके पर उनके बताए मार्ग पर चलने का संकल्प लिया गया। 

चौघाटनपाटा पार्क में भाजपा कार्यकर्ताओं ने कहा कि बाबा साहेब आंबेडकर भारतीय इतिहास में एक महान समाज सुधारक रहे हैं। उन्होंने समाज के शोषित वंचित वर्ग को जागृत कर संगठित व शिक्षित बनने का आह्वान किया। जिसका परिणाम यह रहा किस समाज से भेदभाव व छुआछूत का प्रभाव कम होने लगा। भारत में समतामूलक समाज की स्थापना में आंबेडकर जी का महत्वपूर्ण स्थान है। संविधान के निर्माण में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही। जिसके कारण समाज के अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति को कैसे विकास की मुख्यधारा में लाया जाए इसके लिए व्यापक प्रावधान संविधान में किए गए।

तत्कालीन विषम परिस्थितियों में उच्च शिक्षा हासिल कर डॉक्टर भीमराव ने समाज को एक नई दिशा प्रधान की जिसका सुखद परिणाम आज देखने को मिल रहा है। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष रवि रौतेला, गोविंद सिंह पिलख्वाल, कैलाश गुरुरानी, अजय वर्मा, धर्मवीर आर्य, मनोज जोशी, पूनम पालीवाल,हेमा सुप्याल, प्रेमा मेर, कृष्ण बहादुर सिंह, दीपक पांडे, मुकुल कुमार, पीयूष कुमार, रवि कुमार, निखिल टम्टा, चंदन लाल टम्टा आदि कार्यकर्ता मौजूद थे। 

इधर, बसपा प्रदेश महासचिव बीआर धौनी, हीरा लाल, अशोक कुमार, जगदीश चंद्र, लल्लू लाल, दया आगरी, गोविंद राम, नारायण राम, महीप प्रसाद आदि मौजूद थे। कांग्रेस अनुसूचित विभाग के उपाध्यक्ष सज्जन लाल टम्टा ने कहा कि बाबा साहेब के कारण ही दबे, कुचलों, वंचितों, शोषितों को सम्मान से जीने का अधिकार मिला। प्रकाश भारतीय, राजेंद्र बाराकोटी, महेश कुमार, महेश प्रसाद टम्टा, मनोहर लाल सहित कई कार्यकर्ता मौजूद थे।