रुद्रपुर में अंडरपास बनाने को लेकर रेलवे अधिकारी और ग्रामीण आमने-सामने

रुद्रपुर में अंडरपास बनाने को लेकर रेलवे अधिकारी और ग्रामीण आमने-सामने

रुद्रपुर से बाहर ओमेक्स कॉलोनी के पास रेलवे क्रॉसिंग पर अंडरपास बनवाने को लेकर रेलवे अधिकारियों व ग्रामीणों के बीच जमकर नोकझोंक हुई। मामला अधिकारियों तक पहुंच तो और तूल पकड़ लिया। जिसके बाद रेलवे के अधिकारी वापस लौट गए।

Skand ShuklaWed, 03 Mar 2021 02:15 PM (IST)

रुद्रपुर, जागरण संवाददाता : रुद्रपुर से बाहर ओमेक्स कॉलोनी के पास रेलवे क्रॉसिंग पर अंडरपास बनवाने को लेकर रेलवे अधिकारियों व ग्रामीणों के बीच जमकर नोकझोंक हुई। मामला अधिकारियों तक पहुंच तो और तूल पकड़ लिया। जिसके बाद रेलवे के अधिकारी वापस लौट गए।

रुद्रपुर में छत्तरपुर मार्ग व ओमेक्स कालोनी के बीच रेलवे लाइन का है। जहां ओमेक्स की ओर से आ रहे रास्ते से मटकोटा मार्ग पर रेल मार्ग पड़ता है। बीते कुछ समय में यह स्‍थान हादसों का सेंटर बन गया है। जिसको देखते हुए कुछ समय पहले रेलवे के अधिकारी, एसडीएम, तहसीलदार व शहर के विधायक की मौजूदगी में रेलवे द्वारा मार्ग पर छह फीट का अंडरपास बनाने का निर्णय लिया गया।

गुरुवार को रेलवे के अधिकारी व कर्मचारी जेसीबी लेकर रास्‍ता बंद करने पहुंच गए। जबकि पूर्व में विधायक राजकुमार ठुकराल की मौजूदगी में अंडर पास बनाने का निर्णय लिया गया था। रास्‍ता बंद करने की सूचना पर पहुंचे ग्रामीणों ने नारेबाजी करने के साथ ही रेलवे अधिकारियों का विरोध किया। ग्रामीणों ने मामले से जिलाधिकारी समेत एसडीएम व तहसीलदार को अवगत कराया।

जिसके एसडीएम के निर्देश पर तहसीलदार ने रेलवे के अधिकारियों से बात की। तहसीलदार डॉ अमृता शर्मा ने फोन पर ही रेलवे के अधिकारियों से बात की। जिसके बाद अधिकारी आगे कोई कार्रवाई न करने से पीछे हट गए और चले गए। इधर ग्रामीणों के समर्थन में भाजपा नेता संजय ठुकराल, भारतभूषण समेत कई लोग मौके पर पहुंच गए। मौके पर काफी देर तक हलचल मची रही।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.