मुख्‍यमंत्री बनने के बाद पहली बार काशीपुर पहुंचे पुष्कर सिंह धामी, जनता को ढेरों उम्‍मीदें

मुख्‍यमंत्री पुष्कर सिंह धामी आज ऊधमसिंह नगर में है। कार्यक्रम के तहत वह काशीपुर पहुंच गए हैं। इसके बाद खटीमा में कार्यक्रमों में शामिल होने जाएंगे। वह हेलीपैड पर उतरने के बाद सीधे कार से उदयराज इंटर कालेज काशीपुर में पहुंचे।

Skand ShuklaSun, 05 Dec 2021 12:50 PM (IST)
मुख्‍यमंत्री बनने के बाद पहली बार काशीपुर पहुंचे पुष्कर सिंह धामी, जनता को ढेरों उम्‍मीदें

काशीपुर, जागरण संवाददाता : मुख्‍यमंत्री पुष्कर सिंह धामी आज ऊधमसिंह नगर में है। कार्यक्रम के तहत वह काशीपुर पहुंच गए हैं। इसके बाद खटीमा में कार्यक्रमों में शामिल होने जाएंगे। वह हेलीपैड पर उतरने के बाद सीधे कार से उदयराज इंटर कालेज काशीपुर में पहुंचे। जहां मंच से उन्‍होंने हाथ हिलाकर कार्यकर्ताओं का अभिवादन किया। इस दौरान वे विभिन्‍न विकास योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे। काशीपुर के बाद वह हेलीकाप्टर से एकलव्य विद्यालय मैदान खटीमा पहुंचेंगे। कार से थारू विकास भवन खटीमा में युवाओं से बात करने भी जाएंगे। इसके बाद शाम को विभागीय अधिकारियों के साथ मीटिंग करेंगे। खटीमा में रात्रि विश्राम के बाद अगले दिन सुबह साढ़े हेलीकॉप्टर से देहरादून के लिए प्रस्थान करेंगे।

काशीपुर की जनता को सौगात की उम्मीदें

मुख्यमंत्री बनने के बाद पुष्कर सिंह धामी का काशीपुर का यह पहला दौरा है। ऐसे में जनता को ढेरों उम्मीदें हैं। उम्मीद जताई जा रहा है कि पहली बार काशीपुर आ रहे मुख्यमंत्री कोई बड़ी घोषणा कर सकते हैं। काशीपुर के बुद्धिजीवियों की शिकायत है कि बीते दो दशक में काशीपुर का उतना विकास नहीं हुआ, जितना होना चाहिए था। कहा जाता है कि सत्ताधारी पार्टियों ने काशीपुर की ओर ध्यान नहीं दिया, जिसके चलते यहां का विकास नहीं हो सका। काशीपुर पिछड़ता जा रहा है। पुष्कर सिंह धामी मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार काशीपुर आ रहे हैं। वह तराई को लेकर काफी संजीदा बताए जाते हैं। काशीपुर उनकी ओर आत्मीयता से इसलिए भी देखता है क्योंकि धामी खटीमा विधानसभा से विधायक हैं।

लंबे समय से लटका ओवरब्रिज का निर्माण कार्य

काशीपुर में इस समय कई समस्याएं हैं। जिला न बनने से विकास प्रभावित हो रहा है। स्वास्थ्य सेवाओं की उचित व्यवस्था न होने के चलते एम्स की स्थापना की जरूरत समझी जा रही है। नगर में अभी भी कई सड़कें टूटी हैं, कई बदहाल पड़ी हैं। सभी सड़कों की स्थिति में सुधार किए जाने की जरूरत है। शिक्षा के क्षेत्र में काशीपुर को आगे बढ़ाने के लिए शिक्षण संस्थानों की यहां स्थापना होनी जरूरी है। ओवरब्रिज निर्माण समय से पूरा करने, धार्मिक स्थलों को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की मांग भी प्रमुख है। इसी तरह की तमाम अन्य मांगें भी हैं।

धार्मिक रूप से भी काफी समृद्ध है काशीपुर

काशीपुर के बुद्धिजीवियों का कहना है कि अगर काशीपुर को चारधाम यात्रा से जोड़ा जाए तो विकास की दिशा में यह महत्वपूर्ण कदम होगा। काशीपुर में सिखों का प्रसिद्ध ननकाना साहेब गुरुद्वारा है। गुरु नानक देव भी यहां आ चुके हैं। गौतम बुद्ध यहां एक साल रुके थे। चीनी यात्री व्हेगसांग ने अपने यात्रा वर्णन में काशीपुर का जिक्र किया है। गोविषाण टीले की खुदाई में छठी शताब्दी का मंदिर निकल चुका है। ऐतिहासिक और पौराणिक दृष्टि से काशीपुर बहुत समृद्ध है। ऐसे में इसे चारधाम यात्रा से जोड़ा जाना चाहिए। काशीपुर को जिला बनाए जाने की मांग लंबे समय से चल रही है। ओवरब्रिज का निर्माण का निर्माण अधूरा होने के बाद लोगों को समस्‍याओं से जूझना पड़ रहा है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.